ताज़ा खबर
 

‘भारत में रहना किसी डरावने सपने जैसा है मुझे नहीं पता था’, ग्रेटर नोएडा में हो रहे हमलों पर अफ्रीकी शख्स ने बयां किया दर्द

नान कोफी यैली ने लिखा कि भारत आना उनका सपना था। क्योंकि उन्होंने ताज महल, बॉलीवुड की फिल्में और सुंदर अभिनेत्रियों के बारे में सुना हुआ था। नान कोफी यैली ने आगे लिखा, 'लेकिन मैं यह नहीं जानता था कि जिस देश को मैं इतना प्यार करता हूं वहां सच में रहना किसी डरावने सपने से कम नहीं है।
गौतम बुद्धनगर में पुलिस को अपनी आपबीती सुनाते अफ्रीकी नागरिक (Source-ANI)

ग्रेटर नोएडा में अफ्रीकी नागरिकों पर हो रहे हमलों की खबरें लगातार आ रही हैं। बुधवार (29 मार्च) को भी केन्या की एक महिला पर हमला हुआ। हमलों के बीच देश के अलग-अलग कोने में रह रहे अफ्रीकी नागरिक सोशल मीडिया के जरिए अपना दर्द बयां कर रहे हैं। उन लोगों की शिकायत है कि लड़के की मौत के आरोपी तो नाइजीरिया के लोग हैं लेकिन निशाना सबको बनाया जा रहा है। घाना के नान कोफी यैली नाम के शख्स ने फेसबुक पर एक पोस्ट करके ऐसी ही बात रखी। नान कोफी यैली बेंगलुरु की किसी कंपनी में पब्लिक रिलेशन ऑफिसर हैं।

नान कोफी यैली ने लिखा कि भारत आना उनका सपना था। क्योंकि उन्होंने ताज महल, बॉलीवुड की फिल्में और सुंदर अभिनेत्रियों के बारे में सुना हुआ था। नान कोफी यैली ने आगे लिखा, ‘लेकिन मैं यह नहीं जानता था कि जिस देश को मैं इतना प्यार करता हूं वहां सच में रहना किसी डरावने सपने से कम नहीं है। अगर जिन लोगों के साथ आप रह रहे हैं वे ही आपके दुश्मन हो जाएंगे तो परेशानी वाली बात है।’ नान कोफी ने लिखा कि उनको समझ नहीं आ रहा कि सभी अफ्रीकी लोगों के खिलाफ गुस्सा क्यों है।

अफ्रीकी लोग इस बात से भी नाराज हैं कि विदेश मंत्री इन हमलों को नस्लभेदी नहीं मान रहीं। इस बात का जिक्र करते हुए नान कोफी ने आगे लिखा, ‘लोग इसको नस्लभेदी नहीं मान रहे लेकिन हर उस शख्स पर हमला करने को तैयार हैं जो कि अफ्रीका के 54 द्वीप में से किसी का भी रहने वाला हो। क्या यह नस्लभेदी नहीं है ? हम लोग सब एक जैसे दिखते हैं तो इसका मतलब यह नहीं है कि सब एक ही जगह के हैं।’

क्यों शुरू हुए हमले: ग्रेटर नोएडा में रहने वाले एक 12वीं के छात्र की मौत के बाद हंगामा शुरू हुआ। लड़के के परिवार का आरोप है कि उनके बेटे को पास में रहने वाले नाइजीरिया के लोगों ने जबरन ड्रग्स देकर मार दिया। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन छात्र की मौत के बाद वहां विरोध प्रदर्शनों का दौर जारी है। लोकल लोग नाइजीरिया के लोगों को वहां से भगाने की मांग कर रहे हैं। दो-तीन हिंसक घटनाएं भी सामने आई हैं।

ग्रेटर नोएडा में हमले की दूसरी वारदात; नाइजीरियाई लड़की को ऑटो से उतारकर बुरी तरह पीटा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.