ताज़ा खबर
 

DCW मामले में एसीबी ने सिसोदिया से करीब तीन घंटे तक पूछताछ की

भ्रष्टाचार निरोधक शाखा ने उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से करीब तीन घंटे तक आज पूछताछ की। सिसोदिया से यह पूछताछ दिल्ली महिला आयोग में कथित भर्ती घोटाले की जांच के सिलसिले में की गई।
Author नई दिल्ली | October 15, 2016 04:11 am
उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ।

भ्रष्टाचार निरोधक शाखा ने उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से करीब तीन घंटे तक आज पूछताछ की। सिसोदिया से यह पूछताछ दिल्ली महिला आयोग में कथित भर्ती घोटाले की जांच के सिलसिले में की गई। सिसोदिया को एसीबी ने सात अक्तूबर को सम्मन भेजा था और उनसे पूछताछ के बारे में सूचित करने को कहा था। एसीबी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सिसोदिया पूर्वाह्न करीब 11 बजे एसीबी कार्यालय पहुंचे और उनसे लगभग तीन घंटे तक पूछताछ हुई।
एसीबी प्रमुख मुकेश कुमार मीणा ने कहा, ‘‘उनसे आज पूछताछ की गई। पूछताछ का विवरण साझा नहीं किया जा सकता क्योंकि मामले की जांच चल रही है।’ सिसोदिया से उनके कार्यालय से पत्र जारी किए जाने के बारे में पूछताछ की गई। उसमें डीसीडब्ल्यू को वित्तीय स्वायत्तता वाले निकाय के तौर पर अधिकृत किया गया था। उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान उनका रवैया टालमटोल वाला था।


बाद में सिसोदिया ने आरोप लगाया कि एसीबी का आप मंत्रियों को तलब करना उनके खिलाफ ‘राजनैतिक प्रतिशोध’ का हिस्सा है। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे नहीं पता कि उन्होंने मुझे क्यों तलब किया। जब से आप सरकार का गठन हुआ है, एसीबी ने विभिन्न मामलों में तीन मंत्रियों को तलब किया है।’

सिसोदिया ने कहा, ‘‘तीन घंटे की पूछताछ के दौरान एसीबी ने मुझसे डीसीडब्ल्यू की सदस्य सचिव की प्रशासनिक और वित्तीय शक्तियों पर तीन पैराग्राफ के स्पष्टीकरण के बारे में पूछताछ की। सरकार के वित्त विभाग ने डीसीडब्ल्यू को एक मार्च 2016 को यह स्पष्टीकरण भेजा था।’

उन्होंने कहा कि स्पष्टीकरण में इस बात का उल्लेख किया गया था कि महिला आयोग का गठन डीसीडब्ल्यू अधिनियम, 1994 के अनुसार किया गया था।
सिसोदिया ने कहा, ‘‘जब मैंने स्पष्टीकरण के बारे में पूछा तो एसीबी अधिकारियों के पास मेरे सवालों का जवाब नहीं था।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग