ताज़ा खबर
 

आयकर चोरी मामले में फंसे कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी, अायकर विभाग ने ठोका 56 करोड़ का जुर्माना

इनकम टैक्स विभाग को भेजे जवाब में सिंघवी ने ये भी दलील दी कि 2012 के दिसंबर में उनके आय से जुड़े कागज दीमक खा गए।
Author नई दिल्ली | November 15, 2016 07:19 am
अभिषेक मनु सिंघवी ।

कांग्रेस नेता और मशहूर वकील अभिषेक मनु सिंघवी पर आयकर विभाग ने बड़ी कार्रवाई की है। आयकर विभाग के सैटलमेंट कमीशन (आइटीएससी) ने पिछले तीन सालों की उनकी प्रोफेशनल इनकम 91.95 करोड़ रुपए कम दिखाने के लिए 56.67 करोड़ का जुर्माना लगाया है। अपने ऊपर हुई इस कार्रवाई से अभिषेक ने सफाई देते हुए कहा है कि ये राजनीतिक फायदे के लिए आरोप लगाए जा रहे हैं। मामला कोर्ट में है इसलिए इसपर चर्चा उचित नहीं है। लेकिन बीजेपी ये अच्छा मौका हाथ से जाने के देती बीजेपी ने कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी पर निशाने साधा है। बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि सिंघवी कह रहे हैं कि उनके इनकम टैक्स के पुराने कागजात दीमक खा गए, दरअसल कांग्रेस ही दीमक है।

पूरा विवाद सिंघवी के 2012 की आयकर देनदारी को लेकर है। इनकम टैकेस विभाग को सिंघवी ने दलील दी कि अपने स्टाफ के लिए उन्होंने तीन साल में 5 करोड़ के लैपटॉप खरीदे हैं। इसे मानें तो तीन साल में करीब चालीस हजार के हिसाब से सिंघवी ने अपने 14 कर्मचारियों के लिए 1250 लैपटॉप खरीदे होंगे। सिंघवी आयकर भुगतान के लिए इन्हीं लैपटॉप की खरीद पर 30 फीसदी छूट मांग रहे थे। साथ ही इनकम टैक्स विभाग को भेजे जवाब में सिंघवी ने ये भी दलील दी कि 2012 के दिसंबर में उनके आय से जुड़े कागज दीमक खा गए। इसी कारण वो अपनी आय के मुताबिक जरूरी कागज जमा नहीं कर पाए है। आयकर विभाग ने सिंघवी की इस दलील को ना मानते हुए उनपर 56 करोड़ 67 लाख का जुर्माना ठोक दिया है।

इसके अलावा नोट बंदी पर भी सरकार की नजर लगी हुई है। देश के दूर दराज इलाकों में नए नोट की आपूर्ति के लिए एयरफोर्स की मदद ली जा रही है। आयकर विभाग जगह जगह छापा मार रहा है। कई जगहों से काला धन जब्त होने की भी खबर सामने आ रही हैं।

गाज़ीपुर: रैली में बोले पीएम मोदी- अरे पापियों, गंगा में नोट बहाकर भी आपका पाप धुलने वाला नहीं है

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग