ताज़ा खबर
 

बिहार: 2008 अहमदाबाद सीरियल ब्‍लास्‍ट का आरोपी हिरासत में, साइबर कैफे से भेज रहे थे मंदिरों की तस्‍वीर

पुलिस के एक अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर राजेंद्र आश्रम मोहल्ला स्थित एक साइबर कैफे के पास से दो संदिग्ध युवकों को हिरासत में लिया गया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है।
Author नई दिल्ली | September 14, 2017 16:05 pm
सूत्रों का कहना है कि गुजरात एटीएस की एक टीम भी इन युवकों से पूछताछ के लिए गया पहुंचने वाली है। (फोटो स्रोत- एएनआई)

बिहार के गया जिले के सिविल लाइंस थाना क्षेत्र से पुलिस ने बुधवार की रात दो युवकों को हिरासत में लिया है। हिरासत में लिए गए एक युवक की पहचान तौसीफ अहमद खान के रूप में की गई है, जिसे अहमदाबाद में 2008 में हुए श्रृंखलाबद्ध बम धमाकों का आरोपी बताया जा रहा है। पुलिस के एक अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर राजेंद्र आश्रम मोहल्ला स्थित एक साइबर कैफे के पास से दो संदिग्ध युवकों को हिरासत में लिया गया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, गिरफ्तार युवक पिछले दो-तीन दिनों से साइबर कैफे से यहां के प्रमुख मंदिरों की तस्वीर कहीं भेजा रहे थे।

पुलिस सूत्रों के अनुसार, हिरासत में लिए गए एक युवक की पहचान तौसीफ अहमद खान के रूप में की गई है, जो अहमदाबाद में 2008 में हुए सीरियल बम धमाकों का आरोपी बताया जा रहा है। वर्तमान समय में वह गया के डोभी थाना क्षेत्र के करमैनी गांव में नाम बदलकर रह रहा था। दूसरे युवक की पहचान करमैनी गांव निवासी मोहम्मद साने खान के रूप में हुई है। पुलिस साने खान से भी पूछताछ कर रही है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि इन संदिग्धों से विशेष शाखा और बिहार पुलिस का टेक्निकल सेल पूछताछ में जुटा है। सूत्रों का कहना है कि गुजरात एटीएस की एक टीम भी इन युवकों से पूछताछ के लिए गया पहुंचने वाली है।

गौरतलब है कि इन दिनों गया में पितृपक्ष का मेला लगा हुआ है, जिसमें लाखों लोग शामिल हो रहे हैं, इसलिए पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंजताम किए हैं। प्रशासन यह नहीं चाहता है कि उसकी तरफ से किसी भी प्रकार में सुरक्षा में चूक हो। ध्यान रहे कि 26 जुलाई 2008 को गुजरात के अहमदाबाद में करीब 20 जगहों पर सीरियल ब्लास्ट हुए थे। इन धमाकों में 56 लोगों की जान गई थी और 200 से ज्यादा लोग घायल हुए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.