ताज़ा खबर
 

गुजरात दंगों पर किताब लिख रही महिला पत्रकार को नरोडा पाटिया के दोषी ने मारे घूंसे

पत्रकार रेवती लौल 2002 दंगों को लेकर किताब लिख रही हैं। इसके चलते एक साल से वह अहमदाबाद में रह रही है।
Author अहमदाबाद | January 22, 2016 13:09 pm
रेवती ने एक टीवी चैनल को बताया कि, जब मैं सुरेश के घर गई तो वह हिंस‍क हो गया। उसने मुझे घूंसे मारे।

अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने महिला पत्रकार रेवती लौल से मारपीट के आरोप में नरोडा पाटिया कांड में उम्र कैद की सजा काट रहे सुरेश लांगड़ू को गिरफ्तार किया है। महिला पत्रकार इंटरव्यू लेने के लिए सुरेश के घर गई थी। डिप्‍टी कमिश्‍नर दीपन भादराण ने बताया कि, लांगडू को उसके घर से गिरफ्तार किया गया। उससे पूछताछ की जा रही है।

पत्रकार रेवती लौल 2002 दंगों को लेकर किताब लिख रही हैं। इसके चलते एक साल से वह अहमदाबाद में रह रही है। उन्‍होंने वेजलपुर थाने में मामला दर्ज कराया था। इसे बाद में क्राइम ब्रांच का ट्रांसफर कर दिया गया। रेवती ने एक टीवी चैनल को बताया कि, जब मैं सुरेश के घर गई तो वह हिंस‍क हो गया। उसने मुझे घूंसे मारे।

सुरेश इस समय एक महीने की जमानत पर जेल से बाहर है। उसने अपनी गुमशुदा बेटी को ढूंढ़ने की वजह बताकर गुजरात हाईकोर्ट से जमानत ली थी। जमानत याचिका में उसने कहा था कि उसकी पत्‍नी उसे छोड़ गई है। सुरेश की पत्‍नी ने उस पर मेरिटल रेप का आरोप लगाया था। गौरतलब है कि नरोडा पाटिया केस में सुरेश व पूर्व मंत्री माया कोडनानी और पूर्व बजरंग दल नेता बाबू बजरंगी समेत 30 लोगों को सजा हुई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग