ताज़ा खबर
 

1993 मुंबई धमाका: सुप्रीम कोर्ट ने कायम रखी याकूब मेमन की मौत की सजा

उच्चतम न्यायालय ने आज याकूब अब्दुल रजाक मेमन की पुनर्विचार याचिका खारिज कर दी जिसमें उसने 1993 के मुंबई बम विस्फोटों के मामले में अपनी मौत की सजा की समीक्षा करने का आग्रह किया था। न्यायमूर्ति ए. आर. दवे की अध्यक्षता वाली तीन न्यायाधीशों की पीठ ने मेमन की पुनिर्वचार याचिका खारिज कर दी। वह […]
Author April 9, 2015 15:35 pm
शीर्ष अदालत ने 2 जून 2014 को मेमन की मौत की सजा के अनुपालन पर रोक लगा दी थी। (एक्सप्रेस आर्काइव)

उच्चतम न्यायालय ने आज याकूब अब्दुल रजाक मेमन की पुनर्विचार याचिका खारिज कर दी जिसमें उसने 1993 के मुंबई बम विस्फोटों के मामले में अपनी मौत की सजा की समीक्षा करने का आग्रह किया था।

न्यायमूर्ति ए. आर. दवे की अध्यक्षता वाली तीन न्यायाधीशों की पीठ ने मेमन की पुनिर्वचार याचिका खारिज कर दी। वह इस मामले में एकमात्र ऐसा दोषी है जिसे मौत की सजा सुनाई गई है। शीर्ष अदालत ने 2 जून 2014 को मेमन की मौत की सजा के अनुपालन पर रोक लगा दी थी।

इससे पहले, उच्चतम न्यायालय ने 21 मार्च 2013 को मेमन को सुनाई गई सजाए मौत की पुष्टि की थी। न्यायालय ने इस मामले में टाडा अदालत द्वारा 10 अन्य को सुनाई गई मौत की सजा को घटाकर उम्रकैद में तब्दील कर दिया था जिन्होंने मुंबई में विभिन्न स्थानों पर आरडीएक्स लदे वाहन खड़े किए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.