ताज़ा खबर
 

अचानक वजन बढ़ने से बढ़ जाता है हार्ट अटैक का खतरा

वजन का तेजी से बढ़ना या घटना आपकी सहेत के लिए अच्छा संकेत नहीं है, ऐसे में आपको सावधान होने जरूरी है।
प्रतिकात्मक फोटो

अगर आपका वजन तेजी के बढ़ता-घटता तो आपको सावधान होने की जरूरत है। वजन का बार-बार बढ़ना-घटना सहेत के लिए अच्छा संकेत नहीं है। हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक अगर किसी शख्स का वजन बीते 4 सालों में कई बार बढ़ा या घटा है तो उस शख्स को हार्ट अटैक, स्ट्रोक से मृत्यु होने का खतरा ज्यादा बना रहता है। बीते कुछ रिसर्च में यह बात सामने आई हैं कि एक स्थित वजर होना सेहत के लिए बेहतर होता है, जबकि वजन का लगातार बढ़ना या घटना सेहत के लिए अच्चा नहीं होता और यह सीधा दिल पर असर करता है। अमूमन ज्यादातर एक्सपर्ट्स की सलाह यही होती है कि वजन को घटाना फायदेमंद होता है लेकिन उस वजन को स्थिर रखना जरूरी होता है। वहीं 5 अप्रैल को न्यू इंग्लैंड जॉर्नल ने एक नई स्टडी पब्लिश की है। इस नई स्टडी में 9500 मरीजों के वजन में हुए अचानक बदलावों का विश्लेषण किया गया है। स्टडी के मुताबिक यह बात सामने आई है कि एवरेज किसी एक शख्स के वजन में बीते 4 साल के अंतराल में लगभग 12 बार बदलाब देखे गए। इस दौरान कुछ मरीजों का वजन बढ़ा जबकि कुछ का वजन घट गया।

वहीं 9500 मरीजों में से 1900 के वजन में बड़े बदलाव देखे गए। इनमें से 37 फीसद को हार्ट अटैक या फिर स्ट्रोक जैसी गंभीर समस्या से जूझना पड़ा क्योंकि इनका वजन काफी बढ़
गया था। वहीं स्टडी के मुताबिक 22 फीसद लोगों के वजन में सबसे ज्यादा बदलाव देखे गए। इनमें से सबसे ज्यादा रिस्क पर वह मरीज रहे जिनका वजन 5 किलोग्राम से ज्यादा बढ़ा। वहीं सबसे कम रिस्क पर वह लोग थे जिनके वजन में सबसे कम बदलाव देखे गए। लो रिस्क ग्रुप में उन लोगों को शामिल किया गया जिनके वजन में महज 0.9 किलग्राम का बदलाव देखा गया। वहीं स्टडी में शामिल किए गए 500 मरीजों की मृत्यु हो गई, जिनमें ज्यादातर वह लोग थे जिनका वजन तेजी से बढ़ा था।

हालांकि रिसर्च में मरीजों के वजन में होने वाले बदलावों की वजह के बारे में कुछ खास जानकारी सामने नहीं आ पाई है। ऐसे में यह जरूरी है कि आप अपनी सेहत पर ध्यान दें और
वजन को स्थिर बनाए रखें। यदि आपके वजन में भी तेजी से किसी तरह का बदलाव होता है तो अपने डॉक्टर से सलाह लेने में देर न करें।

देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग