ताज़ा खबर
 

ऑयली स्किन के भी होते हैं फायदे, नहीं दिखता बढ़ती उम्र का असर

त्वचा पर बड़े छिद्रों से जब वसायुक्त ग्रंथियों का अतिरिक्त तेल रिसने लगता है तब ऑयली स्किन की समस्या सामने आती है।
प्रतीकात्मक चित्र

तैलीय त्वचा को कील-मुहांसों का प्रमुख कारण माना जाता है। इससे चेहरे की खूबसूरती बुरी तरह से प्रभावित होती है तथा चेहरे की त्वचा चिपचिपी बनी रहती है। त्वचा पर बड़े छिद्रों से जब वसायुक्त ग्रंथियों का अतिरिक्त तेल रिसने लगता है तब ऑयली स्किन की समस्या सामने आती है। तमाम कमियों के बावजूद ऑयली स्किन के फायदे भी बहुत होते हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि इससे आपकी बढ़ती उम्र का असर आपके चेहरे पर नहीं पड़ता। इसके अलावा भी कई तरह के फायदे हैं जिनके बारे में आप आगे पढ़ सकते हैं।

बढ़ती उम्र का असर कम होता है – अगर आपकी स्किन तैलीय है तो इससे आपके चेहरे पर बढ़ती उम्र का असर कम दिखाई देता है। ऑयली स्किन पर झुर्रियां नहीं पड़ती हैं और यह आपकी त्वचा को नेचुरल शाइनिंग देती है।

नैचुरली शाइनिंग – बहुत से लोग चेहरे पर चमक लाने के लिए बाजार से कास्मेटिक्स आदि खरीदते हैं लेकिन ऑयली स्किन वाले लोगों के चेहरे की चमक कभी खराब नहीं होती। ऐसे लोगों की त्वचा में पाया जाने वाला तेल प्राकृतिक होता है जो त्वचा को हेल्दी और मुलायम बनाए रखने में मदद करता है।

पराबैगनी किरणों से बचाव – सूरज की पराबैगनी किरणें त्वचा को काफी नुकसान पहुंचाती हैं। ऑयली स्किन से निकलने वाला प्राकृतिक तेल त्वचा को पराबैगनी किरणों से जलने से बचाता है।

चेहरे पर नमी – ऑयली स्किन वाले लोगों के साथ सबसे अच्छी बात ये होती है कि इनके चेहरे पर हर मौसम में नमी बनी रहती है।

हेल्दी स्किन – स्किन ऑयल में विटामिन ई और कई तरह के एंटी-ऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं जो त्वचा के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। यह फ्री रेडिकल्स से त्वचा को डैमेज होने से बचाने का काम करते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.