ताज़ा खबर
 

बारिश के मौसम में ऐसे रखें अपनी त्वचा का ख्याल

इस मौसम में रोजाना स्नान करना चाहिए। मानसून के मौसम में बैक्टीरियल इंफेक्शन ज्यादा होती है। रोज स्नान करने से ये दूर हो जाते हैं।
बारिश में नहाती लड़की की सांकेतिक फोटो

मानसून ने दस्तक दे दी है। मानसून महीने के शुरुआत कुछ इलाकों में बारिश भी देखने को मिली है। बारिश की वजह से वातावरण में नमी बढ़ जाती है, जो आपकी त्वचा के लिए हानिकारक हो सकती है। यही कारण है कि इस मौसम में त्वचा की देखभाल जरूरी होती है। ध्यान न देने से इंफेक्शन, त्वचा रोग आदि हो सकते हैं। बारिश के मौसम में जलन, खुजली और लाल दाग जैसी समस्याएं हो सकती हैं। बारिश के मौसम में आखों में भी इंफेक्शन हो सकता है क्योंकि इस मौसम में वायरस और एलर्जी बहुत जल्दी फैलती है। इन सब समस्याओं से बचने के लिए हम आपके लिए लाए हैं कुछ खास उपाय-

-बारिश के मौसम में अक्सर देखा जाता है कि हम भीग जाते हैं। ज्यादा देर तक गीले रहने के कारण इंफेक्शन का खतरा हो सकता है। बारिश के मौसम में कोशिश करनी चाहिए कि ज्यादा देर तक गीला न रहा जाए।

-बारिश होने के बाद धूप निकलती है, जो बहुत तीखी होती है। बारिश के बाद की धूप हमारे शरीर के लिए हानिकारक होती है। इस धूप से निकलने वाली अल्ट्रा वायलेट किरणें शरीर को नुकसान पहुंचा सकती हैं। इसलिए बारिश के बाद धूप में निकलने से पहले शरीर पर सनस्क्रीन जरूर लगा लें।

-इस मौसम में आंखों का भी बहुत ख्याल रखने की सलाह दी जाती है। अगर इस मौसम में आंखों में इनफेक्शन हो जाए तो तुरंत दवाई लेनी चाहिए।

-अगर फंगल इंफेक्शन हो गया है तो भूलकर भी अस्ट्रॉयड क्रीम न लगाए। इन हालत में तुंरत डॉक्टर से संपर्क करें। क्योंकि अस्ट्रॉयड क्रीम फंगल को ठीक करने की बजाए और ज्यादा बढ़ाने का काम करती है।

-इस मौसम में रोजाना स्नान करना चाहिए। मानसून के मौसम में बैक्टीरियल इंफेक्शन ज्यादा होती है। रोज स्नान करने से ये दूर हो जाते हैं।

-बारिश के मौसम में कई जगहों पर पानी भर जाता है, जिसके कारण कई तरह की बीमारियां फैल जाती हैं। इसलिए जरूरी है कि अपने हाथ, पैर और चेहरे को समय-समय पर साफ कर लेने चाहिए। चेहरे को धोने के लिए किसी अच्छे फेस वॉश का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on July 17, 2017 1:29 pm

  1. No Comments.
सबरंग