May 29, 2017

ताज़ा खबर

 

आईफोन से लेकर रेंज रोवर तक, ऐसी लग्जरी लाइफ जीते हैं पतंजलि के CEO आचार्य बालकृष्ण

हाल ही में बाबा रामदेव के करीबी बालकृष्ण को फोर्ब्स की 100 सबसे अमीर भारतीयों की लिस्ट में जगह दी गई थी।

फोर्ब्स के मुताबिक वह 25 हजार करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं।

योग गुरु बाबा रामदेव के करीबी सहयोगी आचार्य बालकृष्ण को हाल ही में फोर्ब्स की 100 सबसे अमीर भारतीयों की लिस्ट में जगह दी गई थी। फोर्ब्स के मुताबिक वह 25 हजार करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं। उनके कपड़ों और रहन सहन को देखकर शायद ही अंदाजा लग पाए कि वह किसी कंपनी के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर (CEO) भी हो सकते हैं।

पतंजलि ग्रुप की शुरुआत आयुर्वेदिक सामान बेचने वाली 1995 में हरिद्वार स्थित दिव्य फार्मेसी के नाम से हुई थी। कभी 50 करोड़ का लोन लेकर शुरु हुए पंतजलि कारोबार ने आने वाले साल के लिए 10 हजार करोड़ रुपए टर्नओवर तय किया है। आचार्य बालकृष्ण का कहना है कि वह पतंजलि के सीईओ होने के बाद भी सैलरी नहीं लेते। हालांकि बता दें कि पतंजलि में 97 फीसदी हिस्सेदारी उनके ही नाम है।

सर्जिकल स्ट्राइक: पहली बार एलओसी के प्रत्यक्षदर्शियों ने बताई आंखों देखी, तड़के ट्रकों में भर कर ले जाई गई थी लाशें

NDTV की खबर के मुताबिक, योग गुरु और आध्यात्मिक वक्ता बाबा रामदेव ने 2006 में पतंजलि का सहयोग किया और शैंपू से लेकर टूथपेस्ट तक सभी सामान के मैन्यूफैक्चरिंग में मदद की। हालांकि पतंजलि ब्रांड का मुख्य चेहरा होते हुए भी बाबा रामदेव की इसमें कोई हिस्सेदारी नहीं है। बता दें कि पतंजलि ने पिछले साल 5,000 करोड़ रुपए के कारोबार का आंकड़ा पार किया था।

Read Also: नवाज शरीफ बोले- जिन खेतों में बारूद बोया जाए, वहां खुशहाली के फूल नहीं खिलते

लग्जरी लाइफ के नाम पर बालकृष्ण के पास एक रेंज कार दिखती है। कार का इस्तेमाल हर रोज उन्हें घर से ऑफिस ले जाने और पतंजलि कॉन्पलेक्स के एक हिस्से से दूसरे हिस्से में जाने के लिए किया जाता है। हरिद्वार में बना पतंजलि कॉन्पलेक्स लगभग 150 एकड़ जमीन में फैला है। जब बाबा रामदेव से इतनी महंगी कार के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, “हमने यह कार महंगी देखते हुए नहीं ली, बस सेफ्टी के लिहाज से खरीदी है।” रामदेव ने एक सस्ता सा फोन निकालकर भी दिखाया, जिसकी कीमत मुश्किल से 2000 रुपए होगी। हालांकि बालकृष्ण ने बताया कि वह आईफोन का इस्तेमाल करते हैं। बाबा रामदेव और बालकृष्ण की मुलाकात तीन दशक पहले हरियाणा के एक स्कूल में हुई थी। दोनों वहां के गुरुकुल स्कूल में पढ़ते थे और उसी दौरान मित्रता हो गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 5, 2016 5:54 pm

  1. A
    Ankit Rathee
    Oct 7, 2016 at 3:34 am
    He is not corrupted...Whatever he has earned it is bcoz of them us call it as his business....Still people are having so many problems....Atleast he is not selling those banned medicines n all.....The another thing is ki there are 99 morr people are there in that list just mention the name of each n everyone n tell that how many of them has given money for all these things.....Plz yr to criticise is good but bina sir pair ka criticism don't waste time of others
    Reply
    1. L
      L Kumar Nirala
      Oct 8, 2016 at 12:29 pm
      Langot se lut hai kya sajjano...............?????????????????
      Reply
      1. S
        Sidheswar Misra
        Oct 6, 2016 at 9:22 am
        वेतन की क्या जरुरत सभी जरुरत पतंजलि पूरी कर रही है .भारत की जनता ढोरही है भूखे मर कर बाबाओं को
        Reply

        सबरंग