June 24, 2017

ताज़ा खबर
 

जरा संभलकर…इन नौकरियों में पेंशन मिले ना मिले, टेंशन जरूर मिलती है

ये नौकरियां हैं तो आकर्षक लेकिन ये अपने आकर्षण के साथ ही बहुत सी ऐसी चाजें भी दे देती हैं जो हमारे स्वास्थ्य पर धीरे धीरे नकरात्मक असर डालने लगती हैं।

आज अधिकतर लोग अपनी नौकरी बदलना चाहते हैं, जिसमें कई लोग पैसे की वजह से तो कुछ लोग बॉस या फिर किसी और दिक्कत से नौकरी बदलना चाहते हैं।

हम कोशिश करते हैं कि पढ़ाई पूरी होने को बाद हमें एक अच्छी नौकरी मिल जाए। लोगों की एक सोच बन गई है कि अगर एक अच्छी नौकरी मिल जाए तो पूरी लाइफ सेट हो जाएगी। लेकिन क्या आप जानते हैं कि कुछ नौकरियां सुकून की जगह बहुत ज्यादा तनाव दे देती हैं। आपको बता दें कि ये नौकरियां हैं तो आकर्षक लेकिन ये अपने आकर्षण के साथ ही बहुत सी ऐसी चाजें भी दे देती हैं जो हमारे स्वास्थ्य पर धीरे धीरे नकरात्मक असर डालने लगती हैं। जी हां, अगर इन नौकरियों में हमने अपने ऊपर ध्यान नहीं दिया तो हमें पछताना भी पड़ सकता है। इन तनावों से बचने के लिए हमें खुद ही सोचना पड़ेगा। अपनी दिनचर्या को इस तरह से ढालना होगा कि हमारा काम हमारी मानसिक परिस्थिति को किसी भी तरह के खतरे में ना डाल पाए। जानते हैं ऐसी ही 10 नौकरियों और उन नौकरियों में तनाव की वजहों को :

1. सैनिक: सामाजिक ताने-बाने से अलग रहना, जान जाने या घायल होने का जोखिम भी। घर परिवार से दूर बेहद मुश्किल हालात में काम करना।

2. दमकलकर्मी: बेहद जोखिम भरे माहौल में काम करना। आग बुझाने के अलावा सड़कों पर गिरा तेल हटाना, मुश्किल में फंसे लोगों और जानवरों को बचाना। किसी भी वक्त ड्यूटी की कॉल आना।

3. एयरलाइन पायलट: लगातार अलग अलग टाइम जोन्स में सफर करना। आधे समय घर से बाहर होटलों में रहना। कभी सुबह, कभी देर रात तो कभी तड़के ड्यूटी पर जाना। उड़ान से पहले बारीक से बारीक डिटेल चेक करना। गलती होने पर लाइसेंस छिनने का खतरा।

4. पुलिसकर्मी: ड्यूटी के दौरान कई बार बेहद पेचीदा माहौल में काम करना। खुद को हर वक्त नियंत्रण में रखना। जान का जोखिम।

5. इवेंट कॉर्डिनेटर: इवेंट की प्लानिंग के दौरान हर बारीकी पर ध्यान देना। मेहमानों की मान मनुहार करना और उनके नखरे बर्दाश्त करना। सफल आयोजन के लिए समझौते करना।

6. पब्लिक रिलेशन एक्जीक्यूटिव: कई बार क्लाइंट्स की काल्पनिक मांग को पूरा करना। विवादों के असर को कम से कम करते नकारात्मक महौल को सकारात्मक बनाना।

7. कॉरपोरेट एक्जीक्यूटिव: हर वक्त कंपनी की परफॉर्मेंस बेहतर करना। लगातार होड़ में आगे बनने रहने की कोशिश करना। खर्च घटाने से लेकर मुनाफा बढ़ाने तक की जिम्मेदारी। कंपनी बोर्ड को संतुष्ट रखना। कानूनी मसलों के लिए जिम्मेदारी।

8. ब्रॉडकास्टर: काम के दौरान खूब मेकअप कर तेज रोशनी में बैठे रहना। मूड खराब होने पर भी मुस्कुराते रहना। प्रोड्यूसर के निर्देश पर खबरों को लंबा खींचना।

9. पत्रकार: हमेशा बड़ी खबर की खोज करना। कोई घटना होने पर सब कुछ छोड़कर घटनास्थल के लिए निकल पड़ना। तयशुदा वक्त पर काम पूरा करना। जान का जोखिम।

10. टैक्सी ड्राइवर: आए दिन अलग अलग किस्म के लोगों से पाला पड़ना। दिन रात गाड़ी चलाना। सवारियों के दबाव में तेज गाड़ी चलाना। सवारी न मिलने पर घंटों इंतजार करना। मानसिक थकावट।

देशभर की अन्य बड़ी खबरों के लिए देखिए वीडियो:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on March 15, 2017 4:24 pm

  1. No Comments.
सबरंग