December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

महिलाओं की सेहत के लिए वरदान हैं ये घर के नुस्खे

पीरियड्स से पहले होने वाले दर्द से बचने के लिए तरल पदार्थों जैसे सूप, जूस, पानी को ज्यादा से ज्यादा पीएं। इस दौरान शराब और सिगरेट से दूर रहें। फास्ट फूड को नजरअंदाज करें। ठंडे पानी से नहाएं।

सही डाइट के इस्तेमाल से आप कई बीमारियों को रख सकते हैं खुद से दूर। Image Source: Shutterstock

मेन्सट्रूएशन, मेनोपॉज, मोटापे और अनियमित पीरियड्स, एक्ने, एनीमिया, पिंपल जैसी परिस्थितियों का सामना अमूमन हर महिला को करना पड़ता है। इसके लिए कई महिलाएं महंगे इलाज करवाती हैं। कई बार जिसके साइड-इफेक्ट का भी सामना करना पड़ता है। लेकिन क्या आपको पता है कि इनका सामना घरेलू नुस्खे से प्राकृतिक तौर पर किया जा सकता है। शायद नहीं तो कोई बात नहीं आज हम आपको बताते हैं उन नुस्खों के बारे में जिनके इस्तेमाल से ना केवल आप ठीक हो सकती है बल्कि मंहगे इलाज से भी बच सकती हैं।

पीरियड्स के समय अगर आपको उल्टी, कब्ज, नॉसिया जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ता है तो ऐसे में आप बाजार में उपलब्ध सुंदरी कल्प, अशोकारिष्ट को पी सकती हैं। इससे आपका खून साफ होने के साथ ही प्रजनन अंग (reproductive organs) को मजबूत बनाता है।

पीरियड्स से पहले होने वाले दर्द से बचने के लिए तरल पदार्थों जैसे सूप, जूस, पानी को ज्यादा से ज्यादा पीएं। इस दौरान शराब और सिगरेट से दूर रहें। फास्ट फूड को नजरअंदाज करें। ठंडे पानी से नहाएं।

Speed News: जानिए दिन भर की पांच बड़ी खबरें

बवासीर या अर्श रोग से पीड़ित होने की परिस्थिति में खूब पानी पीएं और एक्सरसाइज करें। रिच फाइबर डाइट से बचें।

आयुर्वेद के अनुसार गुस्सा, गर्म पानी से बाल धोना, जुखाम और साइनस की समस्याओं की वजह से बाल सफेद होते हैं। इसके लिए आप महाभृंगराज तेल या किसी आयुर्वेदिक दवा का इस्तेमाल कर सकती हैं। ज्यादा तनाव लेने से बचें। बालों को ठंडे पानी से धोएं और अपने जुखाम, साइनस को ठीक कर लें।

मेनोपॉस की स्थिति में कैल्शियम युक्त खाना खाएं। रोजाना एक्सरसाइज करें और बैलैंस डाइट लें। प्रणायाम और सर्वांगासन जैसे योगा करना भी लाभदायक होगा।

गुग्गूलू या कोमिफोरा मुकुल और पुनर्नवा या बोइरहाविया डिफूसा दो ऐसे पौधे हैं जो वजन कम करने में आपकी मदद करते हैं। लेकिन इसके साथ ही आपको एक्सरसाइज के साथ ही सही डाइट लेना भी जरूरी है।

मुंहासों से लड़ने में दालचीनी, चंदन, हल्दी, नीम और गिलोई आपकी मदद कर सकते हैं।

अर्थ प्लस एक आयुर्वेदिक दवाई है जिसके इस्तेमाल से आप क्रैम्प से निजात पा सकते हैं। रुमरहतो गोल्ड से आप क्रैम्प और घुटनों के दर्द से राहत पा सकती हैं। इसके अलावा ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं और ठीक तरह से नींद लें।

अमूमन हर महिला एनीमिया से पीड़ित होती है। आमला, एलो वेरा और पुनर्नवा के जरिए इसे बीमारी को दूर किया जा सकता है। इसके अलावा आयरन से भरपूर चीजों जैसे पालक, नट्स, शलगम, लाल मीट, सेब, आमला और बेर को अपने खाने में तरजीह दें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 5, 2016 11:37 am

सबरंग