December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

दीवाली 2016: इस तरह मनाएं अपनी दीवाली को डायबिटिक फ्रेंडली, घर में बनाएं ये रेसिपी

दीवाली 2016: इस तरह मनाएं अपनी दीवाली को डायबिटिक फ्रेंडली, घर में बनाएं ये रेसिपी दीवाली की खुशी तब तक अधूरी जब तक कि आप पारंपरिक मिठाई ना खा लें। बिना मिठाइयों के डिब्बों के ये त्योहार का सीजन अधूरा है। इस मौके पर आपको ढेर सारी मिठाईयां खाने को मिलती हैं। ज्यादातर लोग अपने […]

दीवाली पर बनाएं डायबिटिज फ्री लो-कैलोरी लड्डू।

दीवाली 2016: इस तरह मनाएं अपनी दीवाली को डायबिटिक फ्रेंडली, घर में बनाएं ये रेसिपी

दीवाली की खुशी तब तक अधूरी जब तक कि आप पारंपरिक मिठाई ना खा लें। बिना मिठाइयों के डिब्बों के ये त्योहार का सीजन अधूरा है। इस मौके पर आपको ढेर सारी मिठाईयां खाने को मिलती हैं। ज्यादातर लोग अपने करीबीयों को काजू बर्फी, गुलाब जामुन, रसगुल्ले भेंट करते हैं। मिठाई खाने का मन तो सभी का करता है लेकिन डायबिटिक होने की वजह से जितनी बार आप अपने हाथ को मिठाई से दूर करते हैं, उतनी बार आपको चाहने वालों की नजरें उसपर जाती हैं। अगर आपके घर में भी किसी शख्स को डायबिटीज है तो इस दीवाली उनके लिए घर में ये रेसिपी बनाएं और उन्हें भी त्योहार का आनंद उठाने का मौका दें। आप उनके लिए लो कैलोरी वाली इस मिठाई को बना सकते हैं जिनके बारे में बता रही हैं तारा मुरली। तारा पेशे से डायबिटाकेयर में चीफ न्यूट्रिशनिस्ट हैं। तो देर किस बात की आज ही इसे घर में बनाएं।

टूटे हुए गेहूं और अलसी के बीज के लड्डू

सामग्री

आधा कप टूटे हुए गेहूं
आधा कप छिलके सहित गेहूं का आटा
3 चम्मच अलसी के बीज
5 चम्मच घी
एक चौथाई कप गुड़ का चूरा
3 चम्मच बारीक कटे हुए बादाम और पिस्ता
एक चौथाई चम्मच इलायची पाउडर
एक चौथाई चम्मच जायफल पाउडर

तरीका

टूटे हुए गेंहू को अच्छी तरह से धोकर 4-5 घंटों के लिए भिगोकर रख दें।
जब तक कि आपको चटकने की आवाज ना आए या 5-6 मिनट तक अलसी के बीजों को धीमी आंच में पकने दें।
इसे ठंडा होने दें फिर इसे पीसकर पाउडर बना लें।
भिगे हुए टूटे गेहूं को 8-10 मिनट तक या सुनहरा होने तक बिना घी के रोस्ट करें। इसके बाद इसे अलग करके रख लें।
टूटे हुए गेहूं में बचे पानी को उससे हटा दें।
अब गहरी कड़ाही में 3 चमम्च घी डालें फिर उसमें टूटे हुए गेहूं डालकर हल्की आंच में पकने दें।
इसे चलाते रहें और मॉइश्चर को सूखने दें। इसे तब तक लगातार चलाते रहें जब तक कि ये हल्का भूरा ना हो जाए (इस प्रक्रिया में 20-25 मिनट लग सकते हैं)। जैसे ही ये हो जाए इसे दूसरे बर्तन में रख दें।
अब दूसरी कड़ाही में 2 चम्मच घी डालें और फिर गुड़ का चूरा मिला दें।
गुड़ को पिघलने दें, इसे धीमी आंच पर तब तक पकाएं जब तक कि ये सिरप जैसा ना बन जाए।
अब गुड़ के सिरप, अलसी के बीज और टूटे हुए गेहूं को साथ में मिलाएं। अब इसमें बारीक कटे हुए बादाम, पिस्ता, इलायची पाउडर और जायफल पाउडर मिलाएं।
अब इसमें 3 चौथाई छिलके वाले गेहूं का आटा लकड़ी की चम्मच से अच्छी तरह से मिलाएं।
अब एक-एक चम्मच मिश्रण को हथेली में लेकर उसकी बॉल्स बना लें। अगर ज्यादा गीला हो तो आप इसमें थोड़ा और आटा भी मिला सकते हैं।
इसी प्रकिया को अपनाते रहें।
इसे ठंडा होने दें और फिर एयरटाइट डिब्बे में स्टोर करके रख लें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 28, 2016 2:56 pm

सबरंग