April 25, 2017

ताज़ा खबर

 

धनतेरस 2016: जानिए धनतेरस पर क्यों करते हैं सोने, चांदी की खरीदारी

Dhanteras 2016: ऐसा माना जाता है कि इस दिन सोने और चांदी की चीजें खरीदने से घर में लक्ष्मी हमेशा निवास करती हैं और घर में सुख समृद्धि और धन की कमी नहीं होती।

Author नई दिल्ली | October 26, 2016 10:07 am
धनतेरस 2016: धनतेरस के दिन सोना, चांदी खरीदने की पुरानी परंपरा है।

धनतेरस त्योहार का हिंदू धर्म में खास महत्व है। यह दिवाली के दो दिन पहले मनाया जाता है। यह दिन खरीदारी के लिहाज से खास है। इस दिन लोग सोने और चांदी से बनी चीजें खरीदना पसंद करते हैं। धार्मिक मान्यताओं के हिसाब से इस दिन सोने और चांदी की चीजें खरीदना शुभ मानते हैं। ऐसा माना जाता है कि इस दिन सोने और चांदी की चीजें खरीदने से घर में लक्ष्मी हमेशा निवास करती हैं और घर में सुख समृद्धि और धन की कमी नहीं होती। इसलिये घर में इस दिन हमेशा कोई नई चीज लानी चाहिए।

कई चीज अपने साथ नई इस दिन घरों में रात भर दिए जलाकर रखे जाते हैं। माना जाता है कि इससे घर में बुराई निवास नहीं कर पाती। इस दिन घरों में देवी लक्ष्मी को खुश करने के लिए भजन भी गाए जाते हैं। इस दिन सोना और चांदी जैसी धातुओं को खरीदना अच्छा माना जाता है। इस मौके पर लोग धन की वर्षा के लिए नए बर्तन और आभूषण खरीदते हैं। ऐसी मान्यता है कि धातु नकारात्मक ऊर्जा को खत्म करती है। यहां तक कि धातु से आने वाली तरंगे भी थेराप्यूटिक प्रभाव पैदा करती है। इसलिए धनतेरस पर सोना और चांदी खरीदन परंपरा सदियों से चली आ रही है। हालांकि इस मौके पर सिर्फ सोने और चांदी की ही नहीं बल्कि कई अन्य सामान भी लोग खरीदते हैं। कई लोग इस मौके पर बाइक या कार लेना पसंद करते हैं।

वीडियो: दुर्गा पूजा के पंडाल में पीएम मोदी की प्रतिमा

तो कुछ लोग इलेक्ट्रॉनिक सामान जैसे टीवी, वॉशिंग मशीन आदि लेना पसंद करते हैं। इस मौके पर लोग मोबाइल फोन भी खरीदते हैं। फेस्टिव सीजन सोना और चांदी खरीदने के लिए सबसे बढ़िया मौका होता है। धनतेरस हो या फिर दिवाली। घर में मां लक्ष्मी को लाने की परंपरा के तहत लोग खूब खरीदारी करते हैं। नए जेवर, बर्तन और कपड़े के साथ अब लोग इलेक्ट्रॉनिक सामान भी खरीदने लगे हैं। ट्रेंड और समय के चलते इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद भी धनतेरस में बिकते हैं।

Read Also: सोना ₹30000 के पार, चांदी की चमक भी बढ़ी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 25, 2016 12:20 pm

  1. No Comments.

सबरंग