ताज़ा खबर
 

धनतेरस 2016: इस तरह पूजा करने पर मिलेगा डबल लाभ, पढ़ें कब है सबसे शुभ मुहूर्त

Dhanteras 2016 पूजा मुहूर्त: धनतेरस के दिन नई चीजें खरीदना पुरानी परंपरा है। इस परंपरा का हिंदू धर्म में खास महत्व है। इसके अलावा इस दिन लक्ष्मी-गणेश और धनवंतरी पूजन का भी विशेष महत्व है।
Author नई दिल्ली | October 26, 2016 11:34 am
धनतेरस 2016: इस बार पूजा के लिए मुहूर्त की अवधि 42 मिनट है।

धनतेरस के दिन नई चीजें खरीदना पुरानी परंपरा है। इस परंपरा का हिंदू धर्म में खास महत्व है। इसके अलावा इस दिन लक्ष्मी-गणेश और धनवंतरी पूजन का भी विशेष महत्व है। धनतरेस पर धनवंतरी और लक्ष्मी गणेश की पूजा करने के लिए-

सबसे पहले एक लकड़ी का पट्टा लें और उस पर स्वास्तिक का निशान बना लें।
इसके बाद इस पर एक तेल का दिया जला कर रख दें
दिये को किसी चीज से ढक दें
दिये के आस पास तीन बार गंगा जल छिड़कें
इसके बाद दीपक पर रोली का तिलक लगाएं और साथ चावल का भी तिलक लगाएं
इसके बाद दीपक में थोड़ी सी मिठाई डालकर मीठे का भोग लगाएं
फिर दीपक में 1 रुपया रखें। रुपए चढ़ाकर देवी लक्ष्मी और गणेश जी को अर्पण करें
इसके बाद दीपक को प्रणाम करें और आशीर्वाद लें और परिवार के लोगों से भी आशीर्वाद लेने को कहें।
इसके बाद यह दिया अपने घर के मुख्य द्वार पर रख दें, ध्यान रखे कि दिया दक्षिण दिशा की ओर रखा हो।

धनतेरस पूजा के लिए शुभ मुहूर्त
इस बार धनतेरस पूजा के लिए 28 अक्टूबर को शाम 5 बजकर 35 मिनट से 6 बजकर 20 मिनट तक मुहूर्त है। यह मुहूर्त 45 मिनट का है। वहीं इस दिन प्रदोष काल 5 बजकर 35 मिनट से 8 बजकर 11 मिनट तक हैं। त्रयोदशी तिथि की शुरुआत 27 अक्टूबर 2016 को शाम 4बजकर 15 मिनट से हो जाएगी। लक्ष्मी पूजन प्रदोष काल के दौरान होना चाहिए। प्रदोष काल की अवधि 2 घंटे 24 मिनट की है।

वीडियो: दुर्गा पूजा में शामिल हुआ पूरा बच्चन परिवार

इस पूजा के बाद धनवंतरी पूजन करना भी जरूरी है। इसके लिए अपने घर के पूजा गृह में जाकर ॐ धं धन्वन्तरये नमः मंत्र का 108 बार उच्चारण करें। ऐसा करने बाद स्वास्थ्य के भगवान धनवंतरी से अच्छी सेहत की कामना करें। इसके बाद लक्ष्मी गणेश की पूजा करना जरूर हैं। इसके लिए सबसे पहले गणेश जी को दिया अर्पित करें और धूपबत्ती चढ़ायें। इसके बाद गणेश जी के चरणों में फूल अर्पण करें और मिठाई चढ़ाएं। इसके बाद इसी तरह लक्ष्मी पूजन करें। इस तरह आप घर पर ही धनतेरस की पूजा कर सकते हैं।

Read Also: Dhanteras 2016: जानिए धनतेरस पर क्यों करते हैं सोने, चांदी की खरीदारी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. K
    kamlesh shah
    Oct 28, 2016 at 2:11 am
    Vary nice
    (0)(0)
    Reply
    1. V
      Vijay Singh
      Oct 27, 2016 at 10:00 pm
      Jaaniye Dhanteras 2016 K Baarein Mein -
      (0)(0)
      Reply
      1. V
        Vijay Singh
        Oct 27, 2016 at 9:59 pm
        o
        (0)(0)
        Reply
        1. V
          Vijay Singh
          Oct 27, 2016 at 10:00 pm
          s:goo.gl/iKqcZY
          (0)(0)
          Reply