March 29, 2017

ताज़ा खबर

 

वियाग्रा जैसे फायदे के लिए खूब हर्बल कॉफी पी रहे अमेरिकी, पर बदले में मिल रहा दिल का रोग

इस कॉफी की जांच में सामने आया है कि इसमें ऐसे केमिकल मिले हैं, जो पुरुषों के दिल की धड़कन को कम कर देते हैं।

Author वाशिंगटन | October 6, 2016 19:02 pm
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है। (Photo-Thinkstock Images)

अमेरिका में आजकल कॉफी पीने वालों की संख्या में काफी इजाफा हो रहा है। इसके पीछे वजह है एक हर्बल कॉफी। अमेरिका के बाजार में इस हर्बल कॉफी ने काफी तहलका मचाया हुआ है। बताया जा रहा है कि इस कॉफी में वियाग्रा जैसे प्राकृतिक गुण हैं। अमेरिकी इसका इस्तेमाल अपनी अपनी सेक्स पावर बढ़ाने के लिए कर रहे हैं। डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक स्टिफ बुल नाम की इस कॉफी में टोंग्कत अली, माका जड़, गउराना पाया जैसे औषधि पाई जाती है। यह औषधि दक्षिण अमेरिका और एशिया में पाई जाती है। स्थानीय लोग इस सामग्री का इस्तेमाल प्राकृतिक उत्तेजक के रूप में काफी वर्षों से करते आ रहे हैं। मार्केट में पहले से उपलब्ध दवाइयां तुरंत असर दिखाती हैं, जबकि ये सामग्री पुरुष के हार्मोन्स में सहज तौर पर इजाफा करती है।

पेय पदार्थ बनाने वाली अमेरिका की कंपनी स्टिफ बुल ने कथित तौर पर दावा किया है कि यह कॉफी रिलेशनशिप बचाती है। साथ ही दावा किया गया है कि यह 100 फीसदी प्राकृतिक है। ब्रांड्स की वेबसाइट पर बताया गया है कि एशिया और दक्षिणी अमेरिका के लोग अपनी सेक्सुअल हेल्थ को सुधारने के लिए सदियों से इन सामग्री का कैसे इस्तेमाल करते आए हैं। लेकिन अमेरिका की फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन एजेंसी ने चेताया है कि इसकी जांच में सामने आया है कि इसमें ऐसे केमिकल मिले हैं, जो पुरुषों के दिल की धड़कन को कम कर देते हैं। ये केमिकल बहुत ही खतरनाक हैं।

वीडियो में देखें- पहले प्यार के लिए अक्षय क्या बोल रहे हैं?

एफडीए के मुताबिक इस कॉफी में डेसमिथेल कार्बोडेनाफिल पाया जाता है, जो कि संरचनात्मक रूप से सिल्डेनाफिल समान है। सिल्डेनाफिल वियाग्रा में पाया जाता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक एजेंसी ने साथ ही कहा कि इसमें कुछ ऐसे केमिकल भी पाए गए हैं, जो कि कई ड्रग्स में मिलते हैं। ऐसे में इस कॉफी को इस्तेमाल आप सोच-समझकर ही करें। यह कॉफी आपको स्वास्थ्य को नुकसान भी पहुंचा सकती है।

Read Also: तापमान के अनुसार कॉफी पीना सेहत के लिए रहेगा फायदेमंद

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 6, 2016 7:02 pm

  1. No Comments.

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग