December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

भाई दूज 2016: बहनें, भाइयों की लंबी उम्र के लिए पूजा करने से पहले ऐसे सजाएं थाली

Bhai Dooj 2016: 1 नंवबर को देश भर में धूमधाम से भाई दूज का त्योहार मनाया जा रहा है। इस दिन बहनें अपने भाइयों के माथे पर तिलक करके उनकी लंबी आयु की कामना करती है।

भाई दूज पर थाली को ऐसे सजाएं बहनें (Photo Source: Youtube)

1 नंवबर को देश भर में धूमधाम से भाई दूज का त्योहार मनाया जा रहा है। इस दिन बहनें अपने भाइयों के माथे पर तिलक करके उनकी लंबी आयु की कामना करती है। भाई दूज को प्यार और स्नेह का प्रतीक माना जाता है। भाई दूज पर बहनें टीका करने के लिए थाली सजाती हैं और भाई के लिए आरती करती हैं। आरती में बहन, भाई की लंबी उम्र के लिए प्रार्थना करती है। हम आपको बताने जा रहे हैं कि बहनें कैसे पूजन से पहले अपनी थाली को सजाकर उसे अटैक्टिव बना सकती है। थाली सजाना हिंदू पूजा में अहम रोल रखता है, बिना डेकोरेशन के पूजा पूरी नहीं होती है।

भाई दूज पर सजाई जाने वाली थाली में रोली, अक्षत और चावल को एक कटोरी में ले लें। साथ में नारियल भी लें। इसके बाद उन्हें अच्छे से सजा ले। इन सभी चीजों को थाली में रखने के बाद बहनें थाली में प्रसाद (मिठाई या बताशा) को रखें। थाली में फूल, रंगे हुए अनाज, पोस्टर पेन्टस, फूलों की पत्तियों से सजाया जा सकता है। फिर बहने भाई के माथे पर तिलक करके उनकी लंबी उम्र की कामना करें। इसके बदले में भाई, बहनों के साथ हर मुश्किले में साथ रहने का वादा करते हैं।

कैसे सजाएं पूजा की थाली
भाई दूज टीका थाली की सजावट भव्य होनी चाहिए, क्योंकि यह इस त्योहार का सबसे महत्वपूर्ण भाग है। टीका थाली को सजाने के लिए आपको इन चीजों की जरुरत होगी। सरसों का तेल, रंगोली कलर, कलरफुल टेप और कैंची। सबसे पहले आप एक कटोरे में तेल को लें और तेल से थाली पर डिजाइन बनाए। डिजाइन बनाते समय ध्यान रखे कि अगर कोई गलती हुई तो आपका पूरा डिजाइन खराब हो सकता है। हालांकि तेल ज्यादा होने पर आप उसे रूई से साफ कर सकते हैं। तेल से डिजाइन बनाने के बाद आप थाली में रंगोली कलर डाले। और तब तक वेट करे जब तक कलर पूरे डिजाइन को कवर न कर ले। इसके लिए आप अलग-अलग रंगों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके बाद रंग को थाली से हटा दे। आपकी कलरफुल थाली तैयार हो जाएगी। आप चाहे तो थाली के कोनों को भी सजा सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 1, 2016 11:16 am

सबरंग