ताज़ा खबर
 

सोने के साथ अपने ओलंपिक सफर का अंत चाहते हैं भारतीय पहलवान योगेश्वर दत्त

दिग्गज पहलवान योगेश्वर दत्त आगामी रियो खेलों में स्वर्ण पदक जीतकर अपनी ओलंपिक यात्रा का अंत करना चाहते हैं और उन्होंने कहा कि वह अपने इस आखिरी मुकाबले को ‘यादगार’ बनाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।
Author नई दिल्ली | July 5, 2016 03:23 am
भारतीय पहलवान योगेश्वर दत्त। (फाइल फोटो)

दिग्गज पहलवान योगेश्वर दत्त आगामी रियो खेलों में स्वर्ण पदक जीतकर अपनी ओलंपिक यात्रा का अंत करना चाहते हैं और उन्होंने कहा कि वह अपने इस आखिरी मुकाबले को ‘यादगार’ बनाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। अपने आखिरी ओलंपिक में भाग लेने की तैयारियों में जुटे लंदन ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता योगेश्वर रियो डि जनेरियो में 65 किग्रा भार वर्ग में भाग लेंगे। योगेश्वर ने भारतीय ओलंपियंस संघ (ओएआइ) के लांच के अवसर पर कहा कि यह मेरा चौथा और आखिरी ओलंपिक होगा और इसलिए मैं स्वर्ण पदक जीतने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा हूं। हरियाणा के गोहाना का रहने वाला यह 33 वर्षीय पहलवान जानता है कि लोगों ने उनसे क्या उम्मीद लगा रखी है। रियो जाने वाला भारतीय दल सोमवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिला जिन्होंने उन्हें शुभकामनाएं दी।

अगस्त में होने वाले खेल महाकुंभ से पहले प्रधानमंत्री से मुलाकात के बारे में योगेश्वर ने कहा कि प्रधानमंत्री से मुलाकात बहुत अच्छी रही। ऐसा पहले कभी नहीं हुआ, इसलिए हम सभी का इससे बहुत उत्साह बढ़ा है। दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार और रियो की तैयारियों में जुटे नरसिंह पंचम यादव के बाद 74 किग्रा में भागीदारी को लेकर चले विवाद पर योगेश्वर ने कहा कि यह सब देश से जुड़ा है हालांकि इससे ध्यान भंग हुआ।

एशियाई और राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता ने कहा कि मेरे अब तक पांच आपरेशन हो चुके हैं लेकिन जहां तक तैयारियों की बात है तो मैं अब भी अपना सर्वश्रेष्ठ करता हूं। हमसे काफी उम्मीद लगाई गई है और दबाव है। लेकिन हम इससे निपटने और दबाव में भी अच्छा प्रदर्शन करने में सक्षम हैं। योगेश्वर से पूछा गया कि क्या वह रियो के बाद संन्यास ले लेंगे तो उन्होंने 2018 तक खेलते रहने की संभावना से इनकार नहीं किया। उन्होंने कहा कि यह मेरी फिटनेस पर निर्भर करता है। यदि मैं फिट रहा तो 2018 तक खेलता रहूंगा। उन्होंने कहा कि संन्यास लेने के बाद उनकी योजना अपने गांव के करीब कुश्ती अकादमी खोलने की है।

एशियाई खेलों के स्वर्ण विजेता निशानेबाज जीतू राय ने कहा कि उन्होंने फिर से लय हासिल कर ली है। उन्होंने कहा कि आखिरी विश्व कप में पदक जीतना बहुत महत्त्वपूर्ण था। जहां तक कुछ चीजों की बात है तो मैंने कुछ लय खो दी थी लेकिन उस पदक से मैंने लय हासिल कर ली है। जीतू ने अजरबेजान की राजधानी बाकू में पिछले विश्व कप में एअर पिस्टल में रजत पदक जीता था।

विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता पीवी सिंधू ने कहा कि मैं अपने पहले ओलंपिक में भाग लेने को लेकर काफी उत्साहित हूं। हालांकि मैं जानती हूं कि इससे क्या जिम्मेदारी जुड़ी हुई है। लेकिन अतिरिक्त तनाव लेने का कोई मतलब नहीं बनता है। लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता एमसी मैरीकाम ने कहा कि मैं खिलाड़ियों का समर्थन करने के लिए विशेष तौर पर इस कार्यक्रम के लिए आई हूं। इस बार कम मुक्केबाज (रियो के लिए केवल तीन मुक्केबाज क्वालीफाई कर पाए) हैं लेकिन हम उन्हें पूरा समर्थन देंगे। मैरीकाम इस बार क्वालीफाई नहीं कर पाई हैं।

भारतीय एथलेटिक्स महासंघ के अध्यक्ष आदिल सुमरिवाला ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि भारत की पुरुष और महिला चार गुणा 400 मीटर रिले टीमें फाइनल्स तक पहुंचने में सफल रहेंगी। उन्होंने कहा कि हमें अब से शुरुआत करके एक महीने में अपने चरम पर पहुंचना होगा। हमें 19 अगस्त तक अपने चरम पर रहना चाहिए। 19 अगस्त को ही रिले का फाइनल है। यदि हम आज चरम पर हैं तो हम कुछ नहीं कर सकते। निर्मला श्योराण के बारे में उन्होंने कहा कि अगर उसने क्वालीफाई किया है तो वह जाएगी। सीमा पूनिया और उनके अभ्यास पर खर्चे के बारे में पूछे जाने पर सुमरिवाला ने कहा कि वह लगातर अच्छा प्रदर्शन कर रही है। करने वाली एथलीट है। वह पहली एथलीट थी जिसके अभ्यास के लिए 75 लाख रुपए मंजूर किए गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग
Indian Super League 2017 Points Table

Indian Super League 2017 Schedule