ताज़ा खबर
 

विजेंदर की पेशेवर मुक्केबाजी में जीत की हैट्रिक

भारत के स्टार मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने पेशेवर सर्किट में अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए बुल्गारिया के सामेत हुसेइनोव को दो राउंड से भी कम में हराकर नाकआउट से जीत की हैट्रिक पूरी की..
Author मैनचेस्टर | December 21, 2015 01:12 am
मैनचेस्टर में हुए मुकाबले में अपने प्रतिद्वंद्वी बुल्गारिया के सामते हुसेइनोव पर मुक्के बरसाते विजेंदर। (पीटीआई फोटो)

भारत के स्टार मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने पेशेवर सर्किट में अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए बुल्गारिया के सामेत हुसेइनोव को दो राउंड से भी कम में हराकर नाकआउट से जीत की हैट्रिक पूरी की। पहली बार छह दौर के मुकाबले में हिस्सा ले रहे विजेंदर ने दूसरे दौर में 35 सेकेंड के भीतर ही हुसेइनोव पर मुक्कों की ऐसी बरसात की कि रैफरी को मुकाबला रोककर भारतीय मुक्केबाज को तकनीकी नाकआउट के जरिए विजेता घोषित करना पड़ा।

अक्तूबर में पदार्पण करने वाले ओलंपिक और विश्व चैंपियनशिप के पूर्व कांस्य पदक विजेता विजेंदर पेशेवर मुक्केबाजी में अब तक अजेय हैं। उन्होंने अपनी तीनों जीत नाकआउट के जरिए तीन राउंड के अंदर दर्ज की हैं। विजेंदर का मुकाबला देखने के लिए अच्छी संख्या में दर्शक मौजूद थे और उन्होंने ‘सिंह इज किंग’ की धुन पर स्टेडियम में प्रवेश किया। मुकाबले से पहले काफी बढ़-चढ़ कर बोलने वाले हुसेइनोव विजेंदर के रिंग में उतरते ही डरे हुए लगे। भारतीय ने रिंग में काफी सहज मूवमेंट की और बुल्गारिया के विरोधी को बैकफुट पर रखा। विजेंदर ने अपने दमदार जैब और अपरकट से हुसेइनोव को काफी परेशान किया।

पहले दौर में दबादबा बनाने वाले विजेंदर ने दूसरे दौर में हुसेइनोव पर मुक्कों की बारिश कर दी जिसके बाद रैफरी को बुल्गारिया के मुक्केबाज को बचाने के लिए बीच बचाव करना पड़ा। हुसेइनोव ने मुकाबले से पहले कहा था कि वह विजेंदर को ‘बुरी तरह पीटकर’ भारत भेज देंगे। विजेंदर ने इससे पहले अपने पिछले दो मुकाबलों में सोनी वाइटिंग और डीन गिलेन को हराया था।

ब्रेक के लिए भारत लौट रहे विजेंदर ने कहा कि उनकी यह जीत उनके सभी प्रशंसकों के लिए क्रिसमस का तोहफा है। विजेंदर ने कहा- मैं नाकआउट के जरिए एक और जीत दर्ज करने और पेशेवर मुक्केबाजी में मुकाबला 3-0 करके खुश हूं। इस मुकाबले के लिए मैंने शारीरिक तौर पर काफी कड़ी मेहनत की थी और अपनी तकनीक में सुधार किया था जिससे मुझे ऐसे प्रतिद्वंद्वी को हराने में मदद मिली जिसे 14 मुकाबले खेलने का अनुभव है।

नाकआउट के जरिए पेशेवर मुक्केबाजी में जीत की हैट्रिक पूरी करने के बाद अपने भविष्य के प्रतिद्वंद्वियों को चेतावनी देते हुए विजेंदर ने कहा कि उनके प्रतिद्वंद्वियों को बड़े दावे करने से पहले दो बार सोचना चाहिए क्योंकि उन्हें विरोधियों की धमकी का जवाब अपने मुक्कों से देने से काफी संतोष मिलता है। विजेंदर ने कहा कि उसने (हुसेइनोव) मुकाबले से पहले जो कहा, उससे मैं मजबूत प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित हुआ और मैंने ऐसा ही किया। वह अच्छा था लेकिन इतना अच्छा नहीं कि अपने शब्दों को पूरा करे। अगर विरोधी बड़े वादे करता है तो जरूरी है कि वह इसे पूरा करे या नाक आउट होकर बाहर हो जाए।

उन्होंने कहा कि मैं प्रत्येक फाइट के लिए कड़ी ट्रेनिंग करता हूं जिससे रिंग में उतरने पर मुकाबला आसान हो जाता है। पेशेवर बनने के बाद तीन महीने में तीन फाइट के साथ साल का अंत शानदार रहा और अब मैं 2016 में बड़ी सफलता की उम्मीद कर सकता हूं। विजेंदर ने कहा कि 2015 मेरे लिए भाग्यशाली रहा, मैं पेशेवर बना और प्रभावी शुरुआत से अपने देश के लोगों को गौरवान्वित किया। मुझे यकीन है कि मेरे प्रदर्शन से देश में पेशेवर मुक्केबाजी को बढ़ावा मिलेगा।

इस बीच हुसेइनोव ने स्वीकार किया कि उन्होंने विजेंदर को कमतर आंका। हुसेइनोव ने कहा- विजेंदर मजबूत था। मैंने पहले उसे नहीं देखा था और जब मैं रिंग में उतरा तो वह मेरी उम्मीद से मजबूत था। उसके मुक्के तूफान की तरह थे, वह काफी ताकतवर था। मुकाबले से पहले हुसेइनोव ने विजेंदर का मजाक उड़ाते हुए कहा था कि वह एमेच्योर की तरह मुक्के चलाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग
Indian Super League 2017 Points Table

Indian Super League 2017 Schedule