ताज़ा खबर
 

ड्रेसिंग रूम सीक्रेट्सः सैकड़ा जमाने के बाद शॉपिंग को निकलते थे सचिन तेंदुलकर, बल्लेबाजी से पहले जरूर नहाते थे वीवीएस लक्ष्मण

क्रिकेटर्स का खेल और उनके रिकॉर्ड तो हर कोई देखता है, मगर ड्रेसिंग में वह कैसे रहते हैं ? क्या करते हैं। असल में वह क्या हैं ? कुछ ऐसे राज सबके सामने नहीं आ पाते।
भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी और मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को बल्लेबाजी और खरीदारी करने का खूब शौक है। जबकि वीवीएस लक्ष्मण अपनी बल्लेबाजी आने से पहले हमेशा शॉवर लिया करते थे। (फोटो सोर्सः फेसबुक/ट्विटर)

क्रिकेटर्स का खेल और उनके रिकॉर्ड तो हर कोई देखता है, मगर ड्रेसिंग में वह कैसे रहते हैं ? क्या करते हैं। असल में वह क्या हैं ? कुछ ऐसे राज सबके सामने नहीं आ पाते। मसलन बहुत कम लोग जानते हैं कि टीम इंडिया में मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का वॉर्डरोब एक जमाने में सबसे बेहतरीन हुआ करता था। सौकड़ा जमाने के बाद वह कपड़े खरीदते थे। सौरव गांगुली का सामान ड्रेसिंग रूम में बिखरा रहता था और वीवीएस लक्ष्मण हमेशा लेटलतीफ आया करते थे।

Sachin Final

मामला अक्टूबर 2016 का है। टीम इंडिया और न्यूजीलैंड के बीच टेस्ट मैच हो रहे थे। उसी दौरान एक इवेंट में कुछ पुराने खिलाड़ियों को बुलाया गया। उस दौरान कपिल देव, अनिल कुंबले, सौरव गांगुली और वीरेंद्र सहवाग मौजूद थे। होस्ट के यह पूछने पर कि कुंबले और भज्जी जैसे खिलाड़ियों में सबसे बेहतरीन वॉर्डरोब किसका होता था ? कौन सबसे बेहतरीन स्टाइल में नजर आता था ? सौरव गांगुली बेहिचक सचिन तेंदुलकर का नाम लेते हैं। कहते हैं कि सचिन सिर्फ बैटिंग और शॉपिंग करते थे। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट मैच हुआ करते थे। सचिन उनमें 100 रन जड़ते थे और अगले दिन अरमानी या वरसाची के शोरूम में कपड़े खरीदते नजर आते थे।

Viru Dada

फिर बारी वीरेंद्र सहवाग की आती है। होस्ट उनसे सवाल पूछता है कि किसका सामान सबसे ज्यादा बिखरा रहता था। जवाब में वीरू सौरव गांगुली का नाम लेते हैं। वह कहते हैं कि दादा कभी क्रिकेट किट पैक नहीं करते थे। वह शायद ऐसे परिवार से आए थे, जहां उन्हें सामान पैक कर के दिया जाता था। वह इस काम के लिए मेरी, युवराज सिंह और हरभजन सिंह की ड्यूटी लगाकर जाते थे। हालांकि, गांगुली उनकी इस बात को इन्कार करते हैं और हंसते हुए कहते हैं कि यह इस टेस्ट मैच का सबसे बड़ा झूठ है। जब कुंबले से इस बारे में पूछा जाता है, तो वह चुप्पी साध लेते हैं।

VVS Laxman

कार्यक्रम के दौरान वीवीएस लक्ष्मण का जिक्र हो रहा होता है। उन्हें सबसे लेटलतीफ आने वाला खिलाड़ी बताया जाता है। आठ बजे जाना होता था, तो लक्ष्मण 7.59 पर आते थे। गांगुली इसी में आगे जोड़ते हैं कि लक्ष्मण दिल का दौरा ला देने वाली स्थिति पैदा कर देते थे। वह हमेशा बैटिंग से पहले नहाते थे। पिच पर तीसरे और चौथे नंबर का खिलाड़ी खेल रहा होता था और छठे नंबर के खिलाड़ी वीवीएस उस दौरान नहा रहे होते थे। हम लोग बाथरूम के बाहर दरवाजा खटखटा रहते थे, ताकि वह बाहर निकलें। बैटिंग पैड्स पहनकर तैयार हों।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग
Indian Super League 2017 Points Table

Indian Super League 2017 Schedule