December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

…तो इस महान क्रिकेटर के गुरु ज्ञान ने विराट कोहली को बना दिया बल्लेबाजी का उस्ताद

विराट कोहली ने कप्तान बनने के बाद जितनी टेस्ट सीरीज में कप्तानी की है, उनकी बैटिंग पर इसका असर नहीं देखने को मिला है और वो कप्तानी की इस जिम्मेदारी का लुत्फ उठा रहे ​हैं।

2014 के इंग्लैंड दौरे पर विराट कोहली बुरी तरह असफल रहे थे और 13.40 की औसत से रन बनाए थे। (File Photo)

भारत के टेस्ट कप्तान विराट कोहली बल्ले से लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं, जिसके लिए उनकी मेहनत और लगन को ही श्रेय दिया जाना चाहिए। लेकिन, विराट कोहली की बैटिंग में अभूतपूर्व बदलाव के पीछे एक महान क्रिकेटर की सलाह है और उस महान क्रिकेटर का नाम है सचिन तेंदुलकर। गौरतलब है कि 2014 के इंग्लैंड दौरे पर कोहली भारतीय टीम के हिस्सा थे और उस सीरीज में उन्होंने मात्र 13.40 की औसत से रन बना पाए थे। इस दौरे से वापस भारत लौटने के बाद विराट कोहली ने सचिन के साथ दस दिन समय बिताया और अपनी बैटिंग की खामियों पर चर्चा कर उसे सुधारा। सचिन तेंदुलकर ने विराट कोहली को बैंटिंग स्टाइल में कुछ बदलाव करने की सलाह दी और अब नतीजा सबके सामने है।

विराट कोहली ने एक अंग्रेजी अखबार को दिए गए इंटरव्यू में इस बात का जिक्र किया और बताया कि कैसे सचिन तेंदुलकर ने उन्हें उनकी बैटिंग सुधारने में मदद की। विराट कोहली 2014 के इंग्लैंड दौरे से वापस आने के बाद की कहानी बताते हैं, ‘मैं वापस आया और 10 दिन के लिए मुंबई गया। मैने उनसे बात की और उन्होंने मुझे अपना समय दिया। उन्होंने मुझसे कहा कि वो इंग्लैंड दौरे पर मेरी बैटिंग देख रहे थे और मुझे अपनी बल्लेबाजी तकनीक में कुछ बदलाव करने में मदद करेंगे। उन्होंने मुझे बताया कि क्रीज पर गेंद का सामना करते वक्त कभी भी कन्फ्यूज न रहो कि क्या करना है, हमेशा गेंद खेलने से पहले एक इरादा दिमाग में होना चाहिए।’ विराट बताते हैं, ‘मैं कभी भी आगे निकलकर खेलना पसंद नहीं करता था, सचिन ने मुझे बताया कि तेज गेंदबाज के सामने भी मुझे उसी तरह फॉरवर्ड जाना चाहिए जैसे एक स्पिनर के खिलाफ। ऐसा करने के बाद आप तेज गेंदबाज को खेलने के लिए अच्छी पोजिशन में होंगे और स्विंग, सीम या जो कुछ भी है सबको आसानी से खेल सकेंगे।’

सचिन के साथ इस 10 दिन के सेशन के बाद विराट कोहली ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ उसी की धरती पर चार लगातार शतक लगाए और उसके बाद से लेकर अब तक पीछे मुड़कर नहीं देखा। इस सीरीज के बाद ही महेंद्र सिंह धोनी ने टेस्ट मैच की कप्तानी छोड़ दी और विराट कोहली को भारत का टेस्ट कैप्टन बना दिया गया। विराट ने उसके बाद जीतनी भी टेस्ट सीरीज में कप्तानी की है उनकी बैटिंग पर इसका असर नहीं देखने को मिला है और वो कप्तानी की इस जिम्मेदारी का लुत्फ उठा रहे हैं। इंग्लैंड की उस सीरीज के बाद से कोहली ने टेस्ट मैचों में 6 शतक और 2 दोहरा शतक लगाया है।

वीडियो: विशाखापट्टनम टेस्ट मैच में हराने के बाद विराट कोहली ने क्या कहा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 24, 2016 12:03 pm

सबरंग