ताज़ा खबर
 

Rio Olympics 2016, Badminton: भारत के अभियान का आगाज आज से, साइना नेहवाल पर रहेंगी निगाहें

साइना ने कहा मेरा मानना है कि यदि मैं सौ फीसदी फिट हूं तो मेरे भीतर किसी को भी हराने की क्षमता है।
Author रियो डि जिनेरियो | August 11, 2016 02:44 am
भारतीय शटलर साइना नेहवाल। (फाइल फोटो)

लंदन ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाली साइना नेहवाल पर एक बार फिर एक अरब से अधिक भारतीयों की उम्मीदों का दारोमदार होगा। गुरुवार को भारतीय बैडमिंटन दल रियो ओलंपिक में अपने अभियान का आगाज करेगा। साइना ने अपने ओलंपिक अभियान का आगाज 18 बरस की उम्र में किया था जब वह बीजिंग ओलंपिक के क्वार्टर फाइनल में पहुंची थी । वह उसमें इंडोनेशिया की मारिया क्रिस्टीन यूलियांटी से हार गई थी जिसके बाद लंदन में उसने कांस्य पदक जीता । इस बार उसकी नजरें पीले तमगे पर है चूंकि ग्रुप जी में लोहानी विसेंटे और मारिया उलिटिना जैसे कम अनुभवी खिलाड़ी हैं ।

साइना के लिये पिछले दो साल काफी उतार चढाव भरे रहे जिसमें उसने अपने अभ्यास का केंद्र हैदराबाद से बेंगलूर शिफ्ट किया जहां उसने पूर्व मुख्य कोच विमल कुमार के साथ अभ्यास किया । उसने आल इंग्लैंड और विश्व चैम्पियनशिप में रजत पदक जीते जबकि इंडिया ओपन और चाइना प्रीमियर सुपर सीरीज खिताब जीतकर दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी बनी । पिछले साल के आखिर में लगी टखने की चोट के कारण वह जूझती रही और मलेशिया , सिंगापुर और इंडोनेशिया में लगातार अच्छे प्रदर्शन के बाद जून में आस्ट्रेलिया ओपन खिताबजीता । अब उसके पास ओलंपिक स्वर्ण जीतने का सुनहरा मौका है और साइना ने कहा कि वह उसी सप्ताह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहेंगी ।

साइना ने कहा ,‘‘मैं टूर्नामेंट दर टूर्नामेंट रणनीति बनाती हूं। खेल के प्रति मेरा रवैया काफी सकारात्मक है और मैं अपने खेल पर ही फोकस रखना चाहती हूं। मेरा मानना है कि यदि मैं सौ फीसदी फिट हूं तो मेरे भीतर किसी को भी हराने की क्षमता है।’’उन्होंने कहा ,‘‘मुझे लग रहा है कि मैं फिट हूं। यह अहम है कि उस सप्ताह आप अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करे क्योंकि वही अहम है। मैं अपनी हाफ स्मैश पर कड़ी मेहनत कर रही हूं।’’साइना प्री क्वार्टर फाइनल में थाईलैंड की पोर्नतिप बुरानाप्रासेत्सुक से खेलेगी और क्वार्टर फाइनल में उसका सामना गत चैम्पियन लि शुरूइ से हो सकता है। मौजूदा विश्व चैम्पियन और यूरोपीय चैम्पियन कैरोलिना मारिन सेमीफाइनल में उससे खेल सकती है बशर्ते शुरूआती मैचों में कोई उलटफेर नहीं हो। महिला एकल में दो बार की विश्व चैम्पियनशिप कांस्य पदक विजेता पी वी सिंधू ओलंपिक में पदार्पण के साथ अच्छा प्रदर्शन करना चाहेगी। उसने लि शुरूइ, यिहान वांग और कैरोलिना मारिन जैसे खिलाड़ियों को हराया है।  उसके ग्रुप में हंगरी की सरोसी लौरा और राष्ट्रमंडल खेल चैम्पियन कनाडा की मिशेले ली जैसे खिलाड़ी हैं। उसका सामना चीनी ताइपै की जू यिंग तेइ से हो सकता है जबकि सेमीफाइनल में वह 2012 की रजत पदक विजेता वांग यिहान से खेल सकती है ।

रियो ओलंपिक की तमाम बड़ी खबरे पढ़ने के लिए क्लिक करें

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग