ताज़ा खबर
 

Rio Olympics: ऐसा रहेगा भारत का खेल अभियान, इन खिलाड़ियों पर रहेगी नजर

रियो ओलंपिक में भारत 15 खेलों की 66 प्रतियोगिता में भाग लेगा।
Author नई दिल्ली | July 28, 2016 18:03 pm
भारतीय ध्वज के साथ ओलंपिक में हिस्सा लेने जा रहे भारतीय खिलाड़ी। (file photo)

5 अगस्त से शुरू होने जा रहे रियो ओलंपिक के लिए भारतीय दल 2 अगस्त को रवाना होगा। 16 दिनों तक चलने वाले खेलों के इस महाकुंभ में 206 देशों के खिलाड़ी भाग लेंगे। भारत ओलंपिक के इतिहास में 120 खिलाड़ियों का अपना अब तक का सबसे बड़ा दल भेजने जा रहा है। जोकि 2012 के लंदन ओलंपिक में भेजे गए 83 खिलाड़ियों की तुलना में 37 ज्यादा है। 120 खिलाड़ियों के दल में 55 पुरुष और 54 महिला खिलाड़ी शामिल हैं। भारतीय खिलाड़ियों के हाल ही के प्रदर्शन और बड़े दल को देखते हुए इस बार ज्यादा पदकों की उम्मीद भी लगाई जा रही है। भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने भी दावा किया है कि रियो ओलंपिक में उतरने जा रहा रिकॉर्ड भारतीय दल इस बार इन खेलों में 10 से 15 मेडल जीतने में सफल रहेगा।

रियो ओलंपिक में भारत 15 खेलों की 66 प्रतियोगिता में भाग लेगा। इनमें सबसे ज्यादा 21 प्रतियोगिता ऐथलेटिक्स में होगी। इसके बाद शूटिंग की 11 प्रतियोगिता में भारतीय खिलाड़ी हिस्सा लेंगे।

 

        खेलों के नाम और उनमें हिस्सा लेने वाले भारतीय खिलाड़ियों की संख्या

RIO

इन प्रतियोगिताओं पर रहेगी नजर

तीरंदाजी– तीरंदाजी में भारत तीन प्रतियोंगिता में हिस्सा लेगा। 2012 को ओलंपिक में पदक जीतने से चुकने वाली दीपिका कुमारी से इस बार महिला व्यक्तिगत तीरंदाजी प्रतियोगिता में पदक जीतने की पूरी उम्मीद है। इसके साथ महिला तीरंदाजी टीम ( दीपिका कुमारी, बोम्बायला देवी और लक्ष्मीरानी माझी) से भी पदक की उम्मीद की जा रही है। तीरंदाजी प्रतियोगिता 5 अगस्त से शुरू होंगी।

टेनिस

भारत की ओर से सातवीं बार लिएंडर पेस ओलंपिक खेलों में हिस्सा लेने जा रहे हैं। पेस रोहन बोपन्ना के साथ पुरुष डबल्स में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। महिला मिक्स में रोहन बोपन्ना और सानिया मिर्जा की जोड़ी पर भी सबकी नजर रहेगी। टेनिस की प्रतियोगिता 6 अगस्त से शुरू होंगी।

बैडमिंटन

साइना नेहवाल से एक बार फिर ओलंपिक में पदक जीतने की उम्मीद लगाई जा रही है। लंदन ओलंपिक में कांस्य जीत चुकी साइना से इस बार गोल्ड की उम्मीद की जा रही है।

साइना के बाद पीवी सिंधु से भी बैडमिंटन में पदक की उम्मीद है। 2013 में विश्व चैंपियनशिप में कांस्य जीतने वाली सिंधु इन दिनों अच्छी फॉर्म में हैं। रियो में भारत को पदक जीता सकती हैं।

इसके महिला डबल्स में ज्वाला गट्टा और अश्विनी पोनप्पा पर भी सबकी नजर रहेगी। बैडमिंटन की प्रतियोंगिता 5 अगस्त से शुरू होंगी।

बॉक्सिंग

विकास कृष्णन 75 किलोग्राम में भारत की तरफ से रिंग में उतरेंगे। 2014 में विकास इंचियोन एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीत चुके हैं। इस बार भी उनसे पदक की उम्मीद लगाई जा रही है।

शिवा थापा लंदन ओलंपिक के बाद इस बार भी ओलंपिक में भारत की तरफ से रिंग में उतरेंगे। 22 साल के शिवा से इस बार पदक की पूरी उम्मीद है।

कुश्ती

नरसिंह यादव के विवाद के बावजूद भारत को कुश्ती से काफी उम्मीदें हैं। योगेश्वर दत्त (65 किलोग्राम) और महिला पहलवानों में बबिता कुमारी (53 किलोग्राम) विनेश फोगट (48 किलोग्राम) इस खेल में भारत को पदक जीता सकते है। कुश्ती की प्रतियोंगिता 15 अगस्त से शुरू होंगी।

शूटिंग

जीतू राय 10 मीटर एयर पीस्टल में भारत की प्रतिनिधित्व करेंगे। आईएसएसएफ विश्व कप प्रतियोगिता में सिल्वर जीत चुके जीतू से इस बार भी पदक की उम्मीद है।

गगन नारंग 2012 के लंदन ओलंपिक में कांस्य जीतने में सफल रहे थे इस बार देश को उम्मीद है कि गगन इसे सोने में बदलने में सफल होंगे।

अभिनव बिंद्रा 2008 ओलंपिक में गोल्ड जीतने में कामयाब रहे थे लेकिन 2012 लंदन में अपनी इस सफलता को दोहरा नहीं पाए इस बार भी अभिनव पर सब की नजर रहेगी।

कॉमनवेल्थ में पदक जीत चुके मानवजीत सिंह सिद्धू पर भी इस बार नजर रहेगी। शूटिंग का प्रतियोंगिताएं 6 अगस्त से शुरू होंगी।

महिला शूटिंग

हिना सिद्धू 10 मीटर एयर पिस्टल में भारत की प्रतिनिधित्व करेंगी। हिना से इस बार पदक की पूरी उम्मीद है।

जिमनास्टिक

ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाली देश की पहली महिला जिम्नास्ट दीपा से पदक की उम्मीद है। 52 सालों के बाद ये पहला मौका है, जब भारत का कोई एथलीट ओलंपिक में जिमनास्टिक की प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेगा। 22 साल की दीपा के क्वालीफाइंग मैच के बेहतरीन प्रदर्शन को देखते हुए भी उनसे पदक की उम्मीद लगाई जा रही है। 6 अगस्त को जिमनास्टिक का प्रतियोगिता शुरू होंगी।

हॉकी

हॉकी टीम के हाल की प्रदर्शन को देखते हुए लगता है कि इस बार शायद भारतीय हॉकी टीम ओलंपिक खेलों के दशकों के सूखे को खत्म कर पाएंगे। 6 अगस्त को भारत  पहला मैच आयरलैंड के खिलाफ खेलेगा।

महिला हॉकी टीम ने भी 36 सालों में पहली बार ओलंपिक के लिए क्वालिफाई किया है। ऐसे में इन पर देश की नजर रहेगी। 7 अगस्त को भारतीय महिला टीम का पहला मुकाबला जापान से होगा।

ऐथलेटिक्स

विकास गौड़ा भारत के शीर्ष डिस्कस थ्रोअर है। विकास गौड़ा से भी देश को रियो ओलंपिक में पदक जीतने की आस है। गौडा ने जमैका आमंत्रण एथलेटिक्स टूर्नामेंट के दौरान 65 मीटर की दूरी पार की थी। राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक विजेता 32 वर्षीय गौडा ने मई में किंगस्टन में 65.14 मीटर दूर तक थ्रो कर खिताब जीता था। 12 अगस्त को  डिस्कस थ्रोअर मुकाबला होगा।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.