ताज़ा खबर
 

Rio Olympic 2016: देखिए दीपा करमाकर का वाल्ट का Video, फाइनल्स से पहले कोच ने दीपा को कमरे में किया कैद

दीपा करमाकर को दबाव में आने से बचने के लिये उनके कोच बिश्वेश्वर नंदी ने 14 अगस्त को वाल्ट फाइनल्स से पहले ओलंपिक खेल गांव में उसे ‘कमरे में कैद’ कर दिया है।
Author रियो डि जिनेरियो | August 9, 2016 03:36 am
रियो ओलंपिक 2016: रविवार को प्रतियोगिता में हिस्सा लेती भारतीय जिमनास्ट दीपा कर्मकार। (Photo: PTI)

भारत की जिम्नास्ट दीपा करमाकर से देशवासियों की अपार उम्मीदों के कारण दबाव में आने से बचने के लिये उनके कोच बिश्वेश्वर नंदी ने 14 अगस्त को वाल्ट फाइनल्स से पहले ओलंपिक खेल गांव में उसे ‘कमरे में कैद’ कर दिया है।  दीपा कल 23 वर्ष की हो जायेगी और उसे सिर्फ उसके माता पिता ही शुभकामनायें दे पायेंगे। वह वाल्ट फाइनल्स में इतिहास रचने की कोशिश में जुटी है। दीपा के साथ उनके कमरे में साथी भारतीय महिला भारोत्तोलक साईखोम मीराबाई चानू हैं। उनके अलावा नंदी उनके साथ हैं जो पिछले 16 साल से उनके साथ ही हैं। दीपा ने कलात्मक जिमनास्टिक के वाल्ट फाइनल्स में प्रवेश किया जिससे देशवासियों की उनसे काफी उम्मीदें लगी हुई हैं।

नंदी ने खेल गांव में पीटीआई से कहा, ‘‘मैंने उसके मोबाइल से सिम कार्ड निकाल दिया है। केवल उसके माता पिता को उससे बात करने की अनुमति है। मैं उसका ध्यान भटकने नहीं देना चाहता। ’’उन्होंने कहा, ‘‘उसके जन्मदिन का जश्न इस क्षण के लिये इंतजार कर सकता है। मैं जो उसे छोटे ब्रेक देता हूं, उसमें सिर्फ उसके माता पिता को ही उससे बात करने की अनुमति है। ’’नंदी ने कहा, ‘‘लेकिन ऐसा नहीं है कि उसे इससे परेशानी हो रही है। वह दोस्तों से अलग ही रहना पसंद करती है। उसके दोस्त भी बहुत कम है और शुक्र है कि जिमनास्टिक में उसका कड़ा कार्यक्रम होता है। ’’ दीपा ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय महिला जिमनास्ट हैं। उसने जोखमभरा प्रोदुनोवा वाल्ट -डबल फ्रंट समरसाल्ट- करके लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया क्योंकि यह महिला वाल्ट में सबसे कठिन होता है।

रियो ओलंपिक से जुड़ी तमाम खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग