May 27, 2017

ताज़ा खबर

 

राष्ट्रीय अंडर-18 वॉलीबॉल टीम में चुनी गई पूर्व माओवादी की बेटी, कहा- पिता गलत रास्ते पर चले गए थे मगर मैं देश के लिए खेलूंगी

अंडर 18 वॉलीबॉल टीम में चुने जाने पर कुरामी कहती हैं, 'मेरे पापा गलत रास्ते पर चले गए थे जिसके बाद मेरी मां ने मुझे बड़ा किया।

पूर्वू माओवादी के बेटी सिरिसका कुरामी (फोटो सोर्स एएनआई)

पिता से अलग अपनी नई पहचान बनाने वाली पूर्व माओवादी की बेटी को राष्ट्रीय अंडर-18 वॉलीबॉल टीम में चुना गया है। टीम इस साल अगस्त (2017) में चीन में होने वाली अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में हिस्सा लेगी। पिछली कई प्रतियोगिताओं में बेहतर प्रदर्शन दिखाते हुए 15 साल की सिरिसका कुरामी ने साबित कर दिया कि वो एक बेहतर खिलाड़ी हैं। जिसके बाद उन्हें अंडर-18 वॉलीबॉल प्रतियोगिता के लिए चुना गया है। कालीमेला में एससी-एसटी विभाग द्वारा चलाए जाने वाले सरकारी स्कूल में पढ़ने वाली सिरिसका ने बीते साल जिला और स्टेल लेवल से खेलते हुए 10 मेडल हासिल जीते हैं। वहीं साल 1910 में माओवाद से प्रभावित होते हुए सिरिसका के पिता चेलेमना कुरामी संगठन में शामिल हो गए थे। हालांकि साल 1994 में माओ द्वारा निर्दोष लोगों के मारे जाने के बाद चेलेमना ने संगठन छोड़ दिया।

राष्ट्रीय टीम में चुने जाने पर 15 साल की वॉलीबॉल खिलाड़ी कुरामी का कहना है कि भविष्य में उनका सपना कई और प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेना है। अंडर 18 वॉलीबॉल टीम में चुने जाने पर कुरामी कहती हैं, ‘मेरे पापा गलत रास्ते पर चले गए थे जिसके बाद मेरी मां ने मुझे बड़ा किया। खेल में भाग लेने के लिए मां ने ही मुझे प्रेरित किया। सिरिसा कुरामी आगे बताती हैं कि उन्हें शनिवार और रविवार को उन्हें अभ्यास के लिए मलकानगिरी आना पड़ता था इससे उन्हें बहुत नुकसान होता था क्योंकि मलकानगिरी रोज आना बहुत मुश्किल की बात थी। लेकिन मुझे खुशी है कि मैं अब देश के लिए खेलूंगी’

देखें वीडियो, छत्तीसगढ़ कोर्ट ने DU प्रोफेसर जीएन साईबाबा समेत 5 को दी उम्र कैद की सजा; माओवादियों से था संबंध

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on May 17, 2017 3:25 pm

  1. No Comments.

सबरंग