ताज़ा खबर
 

लुइवे में होगा मोहम्मद अली का अंतिम संस्कार, दुनिया भर में टीवी पर देख सकेंगे लाइव

ओबामा ने कहा कि उन्होंने अपनी निजी स्टडी में अली के फोटो के नीचे उनके दस्तानों का जोड़ा रखा है जब 22 बरस की उम्र में उन्होंने सोनी लिस्टन को हराया था।
Author लंदन | June 6, 2016 05:32 am
महान बॉक्सर मोहम्मद अली की अंतिम यात्रा लुइवे में गुरुवार को निकाली गई। (Photo: AP)

महान मुक्केबाज मोहम्मद अली की अंतिम यात्रा को दुनिया भर में अरबों लोग टीवी पर देखेंगे जो टीवी के इतिहास में सबसे बड़े इवेंट में से एक होगी। तीन बार के विश्व हैवीवेट चैंपियन अली का अंतिम संस्कार केंटुकी के लुईविले में होगा जहां झंडे आधे झुके रहेंगे। अंतिम यात्रा मोहम्मद अली सेंटर से गुजरेगी और केव हिल कब्रिस्तान पर खत्म होगी। उनके परिवार के प्रवक्ता बाब गनेल ने कहा, ‘मोहम्मद अली लोगों के चैंपियन थे और उनकी अंतिम यात्रा में सभी नस्ल, धर्म और पृष्ठभूमि के लोग हिस्सा लेंगे। उनकी इच्छा के अनुरूप अंतिम यात्रा में सभी हिस्सा ले सकेंगे।

Read Also: जानिए किसने मोहम्मद अली से कहा- मैं तुम्हें एक ही मुक्के में स्टेडियम के बाहर फेंक दूंगा

लोनी (उनकी पत्नी) और पूरा अली परिवार चाहता है कि इसमें सभी भाग लें। गनेल ने कहा कि परिवार के सदस्य अली के पार्थिव शरीर के साथ अगले दो दिन में लुईविले पहुंचेंगे और गुरुवार को उनकी याद में शोकसभा का आयोजन किया जाएगा।

Read Also: पढ़िए मोहम्मद अली की पूरी कहानी : वह हमेशा कहते थे, ‘मैं महानतम हूं।’

लुईविले में लोग अली की मौत से बेहद दुखी हैं। किसी का कहना है कि उन्होंने पिता तुल्य शख्सियत को गंवा दिया। कक्षा के एक साथी को ‘पैगंबर’ के निधन का दुख है। लुईविले में मोहम्मद अली के पुश्तैनी घर के सामने यही नजारा देखने को मिला जबकि मित्रों और प्रशंसकों ने ‘द ग्रेटेस्ट’ को श्रद्धांजलि दी।

Read Also: खेल मंत्री ने मोहम्मद अली को बताया ‘केरल का मशहूर मुक्केबाज’, सोशल मीडिया पर उड़ी खिल्ली

केंटुकी सिटी के लुईविले में 3302 ग्रैंड एवेन्यु के बाहर फूल, तस्वीरों और पत्रों का अंबार लग गया है। अमेरिकी मिडवेस्ट और डीप साउथ में ही अली ने सबसे पहले मुक्केबाजी शुरू की थी। एक छोटा घर जिस पर हाल ही में गुलाबी पेंट किया गया है, अब हैवीवेट चैंपियन अली के सम्मान में संग्रहालय में तब्दील हो चुका है। इस दिग्गज मुक्केबाज का 74 बरस की उम्र में शुक्रवार को निधन हो गया।

Read Also: मुहम्मद अली और बिग बी संग फिल्म बनाना चाहते थे प्रकाश मेहरा, अमिताभ ने दी श्रद्धांजलि

प्रशंसकों के मुताबिक रिंग में अली के यादगार मुकाबले उस व्यक्ति के जीवन का सिर्फ एक पहलू थे जिसने विश्व खेल जगत पर राज किया। अली के साथ पढ़ने वाले गीतकार और संगीतकार सोनी फिशबैक ने कहा, ‘मुक्केबाजी, यह उनका मिशन नहीं था, वह उससे कहीं बड़ा था।’ उस समय अली का नाम कैशियस क्ले हुआ करता था और वे हैवीवेट भी नहीं हुआ करते थे। वे और फिशबैक स्कूल से एक साथ घर लौटते थे। 75 साल के फिशबैक ने कहा कि वह कहता था कि मैं हैवीवेट चैंपियन बनूंगा। कोई इस पर विश्वास नहीं करता था। उस समय अश्वेत लोगों में काफी आत्मविश्वास नहीं था। हमारे लिए उसके पास संदेश था : आप खूबसूरत हो।’ उन्होंने कहा, ‘वह पैगंबर था। मैं पूरी रात रोया।’

अली की बेटी हाना ने कहा कि उनके पिता के शरीर के शांत होने के बाद भी उनका दिल पूरे 30 मिनट तक धड़कता रहा। तीन बार के हेवीवेट चैंपियन अली की अंतिम सांस की भावनात्मक जानकारी उनकी बेटी ने ट्विटर पर दी। हाना एक लेखिका हैं। उन्होंने कहा, ‘हमारा दिल दुख रहा था। लेकिन हम खुश हैं कि अब डैडी पूरी तरह से मुक्त हैं। हम सभी ने मजबूत बने रहने की कोशिश की और उनके कान में फुसफुसाया, अब आप जा सकते हैं। हम ठीक रहेंगे। हम आपको बहुत प्यार करते हैं। उन्होंने कहा कि उनके सारे अंगों ने काम करना बंद कर दिया था लेकिन उनका दिल धड़कना बंद नहीं हुआ। 30 मिनट तक उनका दिल धड़कता रहा। किसी ने भी ऐसी चीज नहीं देखी होगी।

इसके अलावा अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और उनकी पत्नी मिशेल ने भी महान मुक्केबाज मोहम्मद अली को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि वे महानतम थे और ऐसे चैंपियन थे जो सही के लिए लड़े।ओबामा और मिशेल ने एक बयान में कहा कि मोहम्मद अली ने दुनिया हिला दी थी और इसे बेहतर बनाया। मिशेल और मैं उनके परिवार को सांत्वना देते हैं और दुआ करते हैं कि इस महानतम फाइटर की आत्मा को शांति मिले।

ओबामा ने कहा कि उन्होंने अपनी निजी स्टडी में अली के फोटो के नीचे उनके दस्तानों का जोड़ा रखा है जब 22 बरस की उम्र में उन्होंने सोनी लिस्टन को हराया था। ओबामा और मिशेल ने कहा-अली महानतम थे, ऐसा इंसान जो हमारे लिये लड़ा। वे किंग और मंडेला के साथ थे और कठिन हालात में उन्होंने आवाज बुलंद की। रिंग के बाहर की लड़ाई के कारण खिताब गंवाए। उनके कई दुश्मन बने जिन्होंने लगभग उन्हें जेल में भेज दिया था लेकिन वह अडिग रहे। उनकी जीत से हमें यह अमेरिका मिला जिसे हम आज जानते हैं। उन्होंने बयान में कहा कि वे (अली) परफेक्ट नहीं थे। रिंग में जादूगर लेकिन तोल मोल कर नहीं बोलते थे लेकिन अपने बेहतरीन जज्बे के दम पर उन्होंने प्रशंसक ज्यादा बनाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग
Indian Super League 2017 Points Table

Indian Super League 2017 Schedule