December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

अश्विन ने 33 साल बाद भारत के लिए किया यह कारनामा, कपिल देव और इयॉन बॉथम के क्लब में हुए शामिल

रविचंद्रन अश्विन ने भारत में 25 टेस्ट मैचों की 31 पारियों में अबतक 1017 रन बनाए हैं, जिनमें 2 शतक और 6 अर्धशतक शामिल हैं।

रविचन्द्रन अश्विन ने 2016 में अब तक 10 टेस्ट मैचों में 545 रन और 56 विकेट हासिल किए हैं।(Photo: PTI)

भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली ने यूं ही रविचंद्रन अश्विन को टीम इंडिया का अनमोल रतन नहीं कहते हैं। इस उपाधी को पाने के लिए अश्विन ने वैसा ही प्रदर्शन किया है। आर अश्विन वर्तमान क्रिकेट खासकर टेस्ट मैचों के लिए ऐसे खिलाड़ी हैं कि उन्हें दुनिया का कोई भी कप्तान उन्हें अपनी टीम में रखना चाहेगा। अश्विन का गेंदबाजी में तो कोई सानी है नहीं लेकिन, बल्लेबाजी में भी टीम इंडिया के कई धुरंधर बल्लेबाज उनसे पीछे हैं। पिछले कई सालों से जब टीम इंडिया अपने प्रमुख बल्लेबाजों के लचर प्रदर्शन के कारण संकट में पड़ती है, आर अश्विन का बल्ला चलता है।

इंग्लैंड के खिलाफ मोहाली में चल रहे पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के तीसरे मैच के दूसरे दिन भी टीम इंडिया जब चायकाल के बाद महज 8 रन के भीतर 3 विकेट गवां चुकी थी, तो अश्विन ने एक बार फिर टीम को सहारा दिया। उन्होंने पहले कप्तान विराट कोहली के साथ 48 रन की साझेदारी की, फिर रवींद्र जडेजा के साथ 97 रन जोड़कर टीम इंडिया को इंग्लैंड पर बढ़त दिलाने में प्रमुख भूमिका निभाई। हालांकि, अश्विन तीसरे दिन शतक नहीं बना सके और 72 रन पर ही आउट हो गए, लेकिन उन्होंने रिकॉर्ड जरूर कायम किया। हम आपको बता रहे हैं आर अश्विन ने मोहाली टेस्ट मैच में कौन सी उपलब्धी की…

भारत में पूरे किए 1000 टेस्ट रन: इंग्लैंड के खिलाफ मोहाली टेस्ट के दूसरे दिन अश्विन ने अर्धशतक लगाते ही एक कैलेंडर वर्ष में 500 से ज्यादा रन और 50 से ज्यादा विकेट लेने वाले भारत के दूसरे और दुनिया के 7वें क्रिकेटर बन गए। अश्विन ने 33 साल बाद भारत के लिए यह कारनामा दोहराया। उन्होंने 2016 में अब तक 10 टेस्ट मैचों में 545 रन बनाए हैं और 56 विकेट चटकाए हैं। आर अश्विन ने मोहाली में 72 रन की पारी के दौरान भारतीय धरती पर टेस्ट क्रिकेट में अपने 1 हजार रन भी पूरे किए। उन्होंने भारत में 25 टेस्ट मैचों की 31 पारियों में अबतक 1017 रन बनाए हैं, जिनमें 2 शतक और 6 अर्धशतक शामिल हैं।

कपिल देव और इयान बॉथम जैसे महान खिलाड़ियों के क्लब में हुए शामिल: अश्विन से पहले भारत के महान ऑलराउंडर कपिल देव ने अपने टेस्ट करियर में दो बार ये कारनामा किया है। कपिल देव ने वर्ष 1979 में 17 टेस्ट मैच खेलकर 619 रन बनाए थे और 74 विकेट लिए थे। वे यह उपलब्धी हासिल करने वाले भारत के पहले खिलाड़ी हैं। उन्होंने इसके बाद 1983 में एक बार फिर यह उपलब्धी दोहराया और 18 टेस्ट मैचों में 576 रन बनाए तथा 75 विकेट झटके। यदि स्पिनरों की बात करें तो रविचंद्रन अश्विन यह कारनामा करने वाले विश्व के दूसरे स्पिनर हैं। उनसे पहले न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान और शानदार स्पिनर रहे डेनियल विटोरी ने यह उपलब्धि हासिल की थी। वैसे विश्व क्रिकेट में टेस्ट मैचों में एक कैलेंडर ईयर में 500 या उससे अधिक रन और 50 या उससे अधिक विकेट लेने का रिकॉर्ड सबसे पहले इंग्लैंड के महान आलराउंडर इयान बॉथम ने किया था। उन्होंने साल उन्होंने साल 1978 में 12 टेस्ट मैचों में 597 रन बनाए थे और 66 विकेट चटकाए थे।

वीडियो: आर अश्विन के टॉप 10 बोल्ड विकेट्स

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 28, 2016 1:53 pm

सबरंग