ताज़ा खबर
 

नोवाक जोकोविच ने पहली बार जीता फ्रेंच ओपन का पुरुष एकल का खिताब

दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने पहला सेट गंवाने के बाद जोरदार वापसी करते हुए ब्रिटेन के एंडी मरे को हराकर रविवार को यहां पहली बार फ्रेंच ओपन का पुरुष एकल का खिताब जीता।
Author पेरिस | June 6, 2016 05:43 am
नोवाक जोकोविच

दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने पहला सेट गंवाने के बाद जोरदार वापसी करते हुए ब्रिटेन के एंडी मरे को हराकर रविवार को यहां पहली बार फ्रेंच ओपन का पुरुष एकल का खिताब जीता और साथ ही एक ही समय में चारों ग्रैंडस्लैम खिताब अपने नाम करने वाले टेनिस इतिहास के सिर्फ तीसरे खिलाड़ी बने। शीर्ष वरीय जोकोविच ने दूसरे वरीय मरे को 3-6, 6-1, 6-2, 6-4 से हराकर अपने करियर का 12वां ग्रैंडस्लैम खिताब जीता।

इसके साथ ही वे डान बज (1938) और रॉड लेवर (1962 और 1969) की श्रेणी में शामिल हो गए जिन्होंने एक ही समय में चारों ग्रैंडस्लैम आस्ट्रेलिया ओपन, फ्रेंच ओपन, अमेरिकी ओपन और विंबलडन के खिताब अपने नाम किए थे। जोकोविच ने साथ ही कैलेंडर स्लैम का आधा सफर भी तय कर लिया। पिछली बार यह कारनामा लेवर ने 47 साल पहले किया था। ग्रैंडस्लैम फाइनल में जोकोविच और मरे के बीच यह सातवीं भिड़ंत थी और सर्बियाई खिलाड़ी पांचवीं बार जीतने में सफल रहा। ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंटों में दोनों खिलाड़ियों के बीच हुए 10 मुकाबलों में जोकोविच की यह आठवीं जीत है। कुल भिड़ंत में जोकोविच ने मरे के 10 के मुकाबले 24 मैच जीते हैं।

मरे 1935 में फ्रेड पैरी के बाद फ्रेंच ओपन खिताब जीतने वाला दूसरा ब्रिटिश खिलाड़ी बनने के लिए चुनौती पेश कर रहे थे लेकिन जोकोविच ने उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया। वर्ष 1925 में इस टूर्नामेंट के अंतरराष्ट्रीय बनने के बाद से मरे सिर्फ तीसरे ब्रिटिश खिलाड़ी हैं जो रोलां गैरों में फाइनल में पहुंचे। वर्ष 1937 में बनी आस्टिन उपविजेता रहे थे।

जोकोविच ने इससे पहले 11 ग्रैंडस्लैम खिताब जीते थे। इसमें छह आस्ट्रेलिया ओपन (2008, 2011, 2012, 2013, 2015 और 2016), तीन विंबलडन (2011, 2014 और 2015) और दो अमेरिकी ओपन (2011 और 2015) खिताब शामिल हैं। जोकोविच से पहले आंद्रे अगासी, बज, राय एमर्सन, रोजर फेडरर, लेवर, राफेल नडाल और फ्रेड पैरी करियर ग्रैंडस्लैम पूरा कर चुके हैं। इनमें भी कैलेंडर ग्रैंडस्लैम पूरा करने का कारनामा सिर्फ बज (1938) और लेवर (1962 और 1969) ने ही किया है।

पेरिस में तीन बार फाइनल गंवाने वाले दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी जोकोविच ने मैच के बाद कहा, ‘यह विशेष लम्हा है, मेरे करियर का सबसे बड़ा पल। मैं आज रोलां गैरों पर वह महसूस कर रहा हूं जो इससे पहले कभी महसूस नहीं किया। मैं दर्शकों का प्यार महसूस कर रहा हूं।’ जोकोविच को हालांकि जीत के लिए काफी पसीना बहाना पड़ा। चौथे सेट के आठवें गेम में उन्होंने खिताब के लिए सर्विस करते हुए अपनी सर्विस गंवाई। उन्होंने 10वें गेम में दो चैंपियनशिप प्वाइंट भी गंवाए लेकिन मरे के बैकहैंड नेट पर मारने पर खिताब जीत लिया। दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी ने पहले सेट के पहले ही गेम में मरे की सर्विस तोड़ी लेकिन अगले गेम में अपनी सर्विस भी गंवा दी। मरे ने इसके बाद चार गेम जीतकर स्कोर 4-1 किया और फिर आसानी से पहला सेट अपने नाम कर दिया। जोकोविच ने इस दौरान अंपायर के साथ बहस भी की और सेट के दौरान 13 सहज गलतियां की।

सर्बियाई खिलाड़ी ने दूसरे सेट में वापसी की। उन्होंने पहले गेम में बे्रक प्वाइंट बचाया और फिर मरे की सर्विस तोड़कर 2-0 की बढ़त बनाई। जोकोविच ने चौथे गेम में मरे की सर्विस तोड़ने का मौका गंवाया लेकिन इसके बावजूद 4-1 की बढ़त बना ली। उन्होंने इसके बाद मरे की सर्विस फिर तोड़ी और अपनी सर्विस बचाकर मुकाबला 1-1 से बराबर कर दिया। जोकोविच ने तीसरे सेट की शुरुआत में भी मरे की सर्विस तोड़ी और फिर 4-1 की बढ़त बनाई। सर्बियाई खिलाड़ी ने चार ब्रेक प्वाइंट बचाते हुए स्कोर 5-1 किया और फिर सेट जीत लिया। जोकोविच ने चौथे सेट के पहले गेम में भी मरे की सर्विस तोड़ी। उन्होंने इसके बाद स्कोर 5-2 किया और फिर अंतिम तीन गेम के रोमांच के बाद तीन घंटे से कुछ अधिक समय में खिताब जीत लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
Pro Kabaddi League 2017 - Points Table
No.
Team
P
W
L
D
Pts

Pro Kabaddi League 2017 - Schedule
Sep 19, 201721:00 IST
Harivansh Tana Bhagat Indoor Stadium, Ranchi
36
Zone B - Match 85
FT
32
Patna Pirates beat Bengaluru Bulls (36-32)
Sep 20, 201720:00 IST
Harivansh Tana Bhagat Indoor Stadium, Ranchi
VS
Zone A - Match 52
Sep 20, 201721:00 IST
Harivansh Tana Bhagat Indoor Stadium, Ranchi
VS
Zone B - Match 86

सबरंग