ताज़ा खबर
 

दो बार विश्व कप जीतने वाली कैरेबियाई टीम के अहम सदस्य रहे आंद्रे रसेल पर लगा एक साल का प्रतिबंध

दो बार विश्व कप (टी-20) जीतने वाली कैरेबियाई टीम के सदस्य रहे रसेल ने इस फैसले पर कोई बयान देने से इंकार कर दिया। रसेल पर लगा प्रतिबंध मंगलवार से शुरू होगा और 30 जनवरी 2018 को खत्म होगा।
वेस्टइंडीज के आॅलराउंडर आंद्रे रसेल को डोपिंग रोधी नियमों का उल्लंघन करने पर एक साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है।(Photo: Twitter)

वेस्टइंडीज के स्टार आॅलराउंडर आंद्रे रसेल पर डोपिंग रोधी नियमों के उल्लंघन के कारण एक साल का प्रतिबंध लगाया गया है। जमैका आब्जर्बर की रिपोर्ट के मुताबिक स्वतंत्र डोपिंग रोधी अनुशासन समिति ने रसेल द्वारा मार्च से सितम्बर 2015 के बीच अपने ठिकाने की सही जानकारी न दे पाने के कारण यह फैसला सुनाया है। आंद्रे रसेल इस प्रतिबंध के बाद 31 जनवरी, 2017 से 30 जनवरी, 2018 तक किसी भी तरह की क्रिकेट एक्टिविटी से बाहर रहेंगे। इस प्रतिबंध के बाद आंद्र रसेल इस माह से शुरू होने वाले पाकिस्तान सुपर लीग और अप्रैल में शुरू होने वाले इंडियन प्रीमियर लीग में भी नहीं खेल पाएंगे। इस नियम के लगातार तीन उल्लंघन को ड्रग टेस्ट में नाकाम होने के बराबर माना जाता है और इसी कारण रसेल पर प्रतिबंध लगाया गया है।

रसेल के वकील पैट्रिक फोस्टर ने इस बात की पुष्टि की है और साथ ही कहा है कि बैन के खिलाफ अपील करने समेत सभी विकल्पों पर वह अपने क्लाइंट से विचार विमर्श कर रहे हैं। ह्यू फॉल्कनर, डॉ. मारजोरी वैसेल और जमैका का पूर्व क्रिकेटर डिक्सेथ पाल्मर वाली तीन सदस्यीय ट्रिब्यूनल ने आंद्र रसेल को डोपिंग रोधी नियमों के उल्लंघन का दोषी पाया और उनके उपर एक साल के प्रतिबंध की घोषणा की। आंद्र रसेल से जमैका की डोपिंग रोधी संस्था ने साल 2015 में तीन बार उनसे उनके ठिकानों की जानकारी मांगी जहां जहां वो रहे थे, रसेल ने यह जानकारी संस्था को उपलब्ध नहीं कराई जिसके बाद उनके खिलाफ यह कार्रवाई की गई है।

दो बार विश्व कप (टी-20) जीतने वाली कैरेबियाई टीम के सदस्य रहे रसेल ने इस फैसले पर कोई बयान देने से इंकार कर दिया।
रसेल पर लगा प्रतिबंध मंगलवार से शुरू होगा और 30 जनवरी 2018 को खत्म होगा। रसेल हालांकि इस फैसले से काफी आहत नजर आए और अपने आंसू नहीं रोक पाए। 28 साल के रसेल ने 2016 में आयोजित टी-20 विश्व कप में कैरेबियाई टीम की खिताबी जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी के नियमों के मुताबिक सभी खेलों से जुड़े खिलाड़ियों को अपनी स्थानीय डोपिंग रोधी इकाई को एक दिन में कम से कम एक घंटे के ठिकाने की जानकारी देनी होती है। डोप टेस्ट लेने में सुविधा को ध्यान में रखकर नियम बनाया गया है।

वीडियो: वनडे क्रिकेट में छह साल और 34 मैच खेलने के बाद, पहली बार आउट हुआ ये खिलाड़ी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग
Indian Super League 2017 Points Table

Indian Super League 2017 Schedule