June 24, 2017

ताज़ा खबर
 

वीडियो: मैथ्यू वेड ने उतारी ‘माही’ की नकल और हो गए विफल, फैंस बाले-धोनी होना इतना भी आसान नहीं

बाउंड्री लाइन से किए गए थ्रो को हवा में ही स्टंप्स की तरफ रिफ्लेक्ट कर साहा को रन आउट करना चाहा। वेड गेंद को रिफ्लेक्ट तो दूर ठीक से गैदर भी नहीं कर पाए और गेंद छीटककर उनके पीछे की ओर चली गई।

आॅस्ट्रेलिया के विकेटकीपर मैथ्यू वेड। (Photo: CA)

भारत और आॅस्ट्रेलिया के बीच रांची में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मुकाबले के चौथे दिन एक बार फिर महेंद्र सिंह धोनी याद आ गए। दरअसल, आॅस्ट्रेलिया के विकेट विकेटकीपर मैथ्यू वेड ने महेंद्र धोनी की नकल करते हुए बाउंड्री लाइन से किए गए थ्रो को स्टंप पर मारना चाहा, लेकिन उनको इसमें सफलता नहीं मिली और वो गेंद को ठी से गैदर भी नहीं कर पाए। गेंद मैथ्यू वेड के हाथ से निकलने के बाद स्टंप पर लगने की बजाए उनके पीछे चली गई। मैथ्यू वेड की इस कोशिश पर सोशल मीडिया में लोगों ने खूब मजा लिया और कई ट्विटर यूजर्स ने ये भी कहा कि इतना आसान भी नहीं है महेंद्र सिंह धोनी हो जाना। रांची टेस्ट मैच के चौथे दिन चेतेश्वर पुजारा और रिद्धिमान साहा की जोड़ी ने 360/6 के स्कोर से भारतीय पारी को आगे बढ़ाया।

दोनों खिलाड़ियों ने चौथे दिन पहले और दूसरे सत्र में आॅस्ट्रेलियाई गेंदाबाजों का दम निकालते हुए भारत के स्कोर को 500 के उपर पहुंचा दिया और पहली पारी के आधार पर बढ़त भी दिला दी। दोनों बल्लेबाजों ने 317 मिनट तक बैटिंग करते हुए सातवें विकेट के लिए 199 रनों की साझेदारी की और यह सुनिश्चित किया कि भारत को लीड हासिल हो जाए। रही सही कसर रविंद्र जडेजा ने पूरी कर दी। उन्होंने तेजी से बैटिंग करते हुए 54 रन बनाए और भारत को आॅस्ट्रेलिया पर 152 रनों की बढ़त दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। साहा ने 117 रनों की पारी खेली। वहीं, चेतेश्वर पुजारा ने रिकॉर्ड तोड़ पारी खेलते हुए 202 रन बनाए। पुजारा ने अपनी पारी के दौरान 8 घंटे क्रीज पर बिताए और भारत की तरफ से सबसे ज्यादा गेंदें खेलने का रिकॉर्ड बनाया।

अब आते हैं चौथे दिन के सबसे मजेदार वाकये पर। पुजारा और साहा की जोड़ी आॅस्ट्रेलिया के लिए सिर दर्द साबित हो रही थी। गेंदबाज उन्हें आउट करने में विफल हो रहे थे। ऐसे में आॅस्ट्रेलिया को कुछ एक्सट्रा एफर्ट की जरूरत थी। विकेटकीपर मैथ्यू वेड ने वो एक्स्ट्रा एफर्ट डालने की कोशिश की। उन्होंने बाउंड्री लाइन से किए गए थ्रो को हवा में ही स्टंप्स की तरफ रिफ्लेक्ट कर साहा को रन आउट करना चाहा। वेड गेंद को रिफ्लेक्ट तो दूर ठीक से गैदर भी नहीं कर पाए और गेंद छीटककर उनके पीछे की ओर चली गई। गौरलतब है कि महेंद्र सिंह धोनी विकेटकीपिंग के दौरान ऐसे एफर्ट करते रहते हैं और सफल भी रहते हैं। आज दुनिया के दूसरे विकेटकीपर्स मैदान पर एमएस धोनी द्वारा आजमाए गए ट्रिक्स को अपनाने की कोशिश करते हैं। लेकिन, एमएस धोनी की नकल करना कोई आसान बात नहीं है, धोनी तो धोनी हैं।

वीडियो: 5 ऐसे क्रिकेटर जिन्होंने एक नहीं बल्कि दो देशों के लिए खेला है क्रिकेट

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on March 20, 2017 1:24 pm

  1. No Comments.
सबरंग