ताज़ा खबर
 

‘विराट कोहली एंड कंपनी मैदान की हर चुनौतियों से निपटने के काबिल’

कुंबले ने कुछ व्यक्तिगत प्रदर्शन की भी प्रशंसा की जिसमें ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन का सबसे तेज 250 टेस्ट विकेट हासिल करने वाला गेंदबाज बनना शामिल है।
Author पुणे | February 21, 2017 22:03 pm
भारतीय टीम के मुख् कोच अनिल कुंबले। (पीटीआई फाइल फोटो)

भारत की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के कोच अनिल कुंबले ने मंगलवार (21 फरवरी) को कहा कि यह देखना संतोषजनक है कि विराट कोहली एंड कंपनी मैदान के अंदर और इसके बाहर की चुनौतियों से निपटने में आत्मनिर्भर बन गयी है। कुंबले ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गुरुवार (23 फरवरी) से शुरू हो रही टेस्ट सीरीज से पहले प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘मैं सम्मानित महसूस कर रहा हूं कि मुझे पिछले 10 महीने से इस युवा टीम के साथ काम करने का मौका मिला। इस टीम को आगे बढ़ते हुए देखना अच्छा है और इसके साथ हालात को समझकर उनका हल निकालना अच्छा लगता है। आप टीम को सक्षम बनाना चाहते हो और नहीं चाहते कि वे सलाह के लिये दूसरों पर निर्भर रहे।’ उन्होंने कहा, ‘मैंने ऐसा माहौल बनाने की कोशिश की जिसमें खिलाड़ी मैदान के अंदर और बाहर भी हल निकाल सकें।’

कुंबले ने कुछ व्यक्तिगत प्रदर्शन की भी प्रशंसा की जिसमें ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन का सबसे तेज 250 टेस्ट विकेट हासिल करने वाला गेंदबाज बनना शामिल है। उन्होंने कहा, ‘इनमें से कुछ ने 40-45 टेस्ट मैच खेले हैं। विराट ने 50 से ज्यादा टेस्ट खेले हैं। खिलाड़ियों ने व्यक्तिगत उपलब्धियां भी हासिल कीं। इन सभी ने कुछ न कुछ उपलब्धियां हासिल की लेकिन कुछ अश्विन जैसे खिलाड़ी टेस्ट इतिहास में सबसे तेजी से 250 विकेट हासिल करने वाला गेंदबाज बना, जो शानदार है।’ कुंबले ने कहा, ‘टीम में इस तरह के प्रदर्शन होना सचमुच अच्छा है और मैं सचमुच खुश हूं कि मुझे इन सभी के साथ काम करने का मौका मिला।’

टीम घरेलू सीरीज के लिए भी 16 खिलाड़ियों के साथ है और कुंबले ने कहा कि ऐसा कुछ घटनाओं जैसे चोटिल होने को कवर करने के लिये किया गया है। उन्होंने कहा, ‘हम किसी भी परिस्थिति के लिये विकल्प चाहते हैं। बीते समय में हमें मैच से पहले या मैच के दिन चोटों का सामना करना पड़ा। हम टीम को एकजुट रखना चाहते हैं।’ टीम में कुछ घरेलू तेज गेंदबाज भी शामिल हैं और कोच ने कहा कि भविष्य की जरूरतों को देखते हुए ऐसा किया गया है।

उन्होंने कहा, ‘हमारे पास अनिकेत चौधरी, बासिल थम्पी, नाथू सिंह हैं जो हमारी टीम में शामिल है। न्यूजीलैंड से हमने जयंत यादव को टीम का हिस्सा बनाया जिसने हमें टेस्ट की तैयारी में मदद की। मुझे इनके साथ काम करने का मौका नहीं मिला। मुझे अन्य घरेलू गेंदबाजों को देखने का समय बहुत कम मिलता है इसलिये मैं उन्हें टेस्ट मैच से पहले जोड़े रखने की कोशिश करता हूं।’ कुंबले ने कहा, ‘ऐसा जरूरी नहीं है कि वे निकट भविष्य में टीम का हिस्सा होंगे लेकिन आगामी सीरीज को देखते हुए या इससे पहले उन्हें रणनीति में शामिल रखना अच्छा है।

इस एक क्रिकेट मैच में बने कई अनोखे रिकॉर्ड्स

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.