ताज़ा खबर
 

जब क्रिकेट खेलना शुरू किया तब इस चीज की अहमियत नहीं समझते थे सचिन तेंदुलकर

सचिन क्वेकर नामक ब्रांड के लिए एक नए टीवी विज्ञापन में नजर आएंगे।
Author July 15, 2017 13:29 pm
सचिन के पिता रमेश तेंडुलकर का हार्ट अटैक के कारण 19 मई 1999 को निधन हो गया था। यह बात जानते ही सचिन अगली सुबह मुंबई के लिए निकल गए थे। सचिन की गैरमौजूदगी में भारतीय टीम भी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रही थी। भारत जिम्बॉब्वे से महज 3 विकेट से दूसरा वनडे हार गया था। (Photo Source: Express archive)

दुनिया के दिग्गज क्रिकेट खिलाड़ियों में शुमार सचिन तेंदुलकर का कहना है कि जब उन्होंने क्रिकेट की शुरुआत की थी, तब वह पोषक आहार की अहमियत नहीं समझते थे। उन्होंने कहा कि अच्छे पोषण की कमी के कारण एक मैच में नहीं खेल पाने के बाद ही उन्हें समझ में आया कि यह कितना जरूरी है। सचिन ने कहा, “शुरुआती दिनों में जब मैने क्रिकेट खेलना शुरू किया था, तब मैं पोषक आहार के महत्व को नहीं जानता था। क्रिकेट मेरा पहला प्यार था और इसी कारण मैं खेलने के लिए तुरंत भाग जाता था। मैं नहीं जानता था कि एक संपूर्ण और पोषक आहार क्या होता है। इस बारे में मुझे उस समय ज्यादा जानकारी नहीं थी।” उन्होंने कहा, “एक दिन मैं मैच खेल रहा था और पोषण की कमी के कारण मैं ठीक से खेल नहीं पाया। मैंने तभी फैसला कर लिया कि मैं ऐसा दोबारा नहीं होने दूंगा।” सचिन क्वेकर नामक ब्रांड के लिए एक नए टीवी विज्ञापन में नजर आएंगे। इस विज्ञापन में वह दिन की शुरुआत एक अच्छी डाइट के साथ करने की सलाह देते हुए दिखेंगे। पेप्सीको इंडिया ने इस विज्ञापन को प्रोमोट किया है। सचिन का कहना है कि, “इस नई मुहिम से मुझे उम्मीद है कि मैं देश के युवाओं को यह संदेश दे पाऊंगा कि दिन की शुरुआत अच्छी डाइट के साथ करनी जरूरी है ताकि सफलता की ओर आप हर दिन आगे बढ़ते रहें।”

सचिन अपनी आत्मकथा ‘प्लेइंग इट माई वे’ में बताते हैं कि “कोच रमाकांत आचरेकर द्वारा संचालित कामथ मैमोरियल क्लब के लिए खेलते हुए शुरुआती मैचों में मैं कुछ खास नहीं कर सका। इस मैच को देखने मेरे कॉलोनी के दोस्त आए थे, जिसमें मैं जीरो पर आउट हो गया। मैं अपनी कॉलोनी का स्टार बल्लेबाज था तो यकीनन मेरे दोस्त मुझे ही देखने वहां आए थे। पहली ही गेंद पर आउट हो जाना बेहद शर्मनाक था।”

“मैंने इसके लिए कई बहाने बनाए और कहा कि गेंद बेहद नीची थी साथ ही पिच बल्लेबाजी के लिए बेहतर नहीं थी लेकिन दूसरे मैच में मैं फिर से शून्य पर आउट हो गया। हालांकि तीसरे मैच में 7 गेंदों का सामना कर मैंने अपना पहला रन बनाया। इससे मुझे बेहद राहत मिली।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग