ताज़ा खबर
 

हरभजन ने कहा- जिम्मेदारी से विराट में आया निखार, तेंदुलकर-कोहली में तुलना करना सही नहीं

हरभजन ने कहा, ‘तब भी मैं सचिन तेंदुलकर को कोहली से ऊपर रखूंगा क्योंकि उन्होंने जिन गेंदबाजों का सामना किया वे आज की तुलना में बेहतर थे।’
Author पुणे | February 21, 2017 23:16 pm
भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली और हेड कोच अनिल कुंबले।(Photo: BCCI)

दिग्गज ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने भारतीय कप्तान विराट कोहली को मंगलवार (21 फरवरी) को गंभीर क्रिकेटर करार देते हुए कहा कि जिम्मेदारियों से उनके खेल में निखार आया है। हरभजन ने ‘स्पोरटेल’ कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘विराट बेहद गंभीर क्रिकेटर है। उसे जिम्मेदारियां लेना पसंद है और वह टीम के अन्य खिलाड़ियों से भी यही उम्मीद करता है। इससे वास्तव में टीम को फायदा मिलता है और टीम उम्मीद से बेहतर प्रदर्शन करती है।’ सचिन तेंदुलकर और कोहली के बीच तुलना के बारे में हरभजन ने कहा कि वे दोनों अलग युगों में खेले हैं और उन्होंने अलग तरह के गेंदबाजों का सामना किया है इसलिए तुलना अनुचित होगी।

उन्होंने कहा, ‘तब भी मैं सचिन तेंदुलकर को कोहली से ऊपर रखूंगा क्योंकि उन्होंने जिन गेंदबाजों का सामना किया वे आज की तुलना में बेहतर थे।’ हरभजन ने कहा, ‘कुल मिलाकर पिछले कुछ वर्षों में (टी20 के लोकप्रिय होने के बाद) क्रिकेट का स्तर गिरा है। टी20 मैच में टीम दस ओवरों में चार पांच विकेट ले लेती है और वनडे मैच में भी यही उम्मीद करती है। इंग्लैंड की पिचों पर दो विकेट लेने के लिये आपको 30-35 ओवर तक इंतजार करना पड़ सकता है।’

हरभजन सिंह का ऑस्‍ट्रेलिया पर ताना, कहा- अगर उन्‍होंने सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन किया तो भी 3-0 से हारेंगे

सीनियर ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने स्टीव स्मिथ की अगुवाई वाली मौजूदा ऑस्ट्रेलियाई टीम को हाल में भारत दौरा करने वाली सबसे कमजोर टीम बताया है। भारत को 23 फरवरी से पुणे में शुरू हो रही चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला में प्रबल दावेदार माना जा रहा है। हरभजन ने कहा, ‘मैंने ऑस्ट्रेलिया की कुछ बेहतरीन टीमों के खिलाफ खेला है। मेरा मानना है कि यह भारत का दौरा करने वाली सबसे कमजोर ऑस्ट्रेलियाई टीम है। मुझे नहीं लगता कि यह टीम भारतीय हालात में भारत की इस उम्दा टीम का सामना कर सकेगी। भारत 2013 की तरह श्रृंखला 4-0 से जीत सकता है।’ उन्‍होंने कहा कि अगर ऑस्‍ट्रेलिया ने अपना सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन किया तो भी भारत सीरीज 3-0 से जीत सकता है।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2001 की श्रृंखला में 32 विकेट लेने वाले हरभजन ने कहा, ‘उस टीम में मैथ्यू हेडन, माइकल स्लेटर, एडम गिलक्रिस्ट, रिकी पोंटिंग और स्टीव वॉ जैसे खिलाड़ी थे। इस टीम में स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज आर अश्विन और रविंद्र जडेजा का सामना नहीं कर सकेगा।’ ऑस्ट्रेलिया ने भारत ए के खिलाफ अभ्यास मैच में 469 रन बनाये लेकिन मेजबान टीम में टेस्ट टीम का कोई खिलाड़ी नहीं है। हरभजन ने कहा, ‘पिछले दिनों भारत का दौरा करने वाली इंग्लैंड टीम बेहतर बल्लेबाजी टीम थी। उसने कई मौकों पर 400 से अधिक रन बनाए। मौजूदा आस्ट्रेलियाई टीम यह नहीं कर सकेगी।’

IPL 2017: नीलामी में बेन स्टोक्स रहे सबसे महंगे खिलाड़ी, वहीं इन भारतीय खिलाड़ियों को किसी ने नहीं खरीदा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग