December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

चेतन शर्मा ने आज ही के दिन बनाया था कभी न तोड़े जा सकने वाला विश्व ​रिकॉर्ड, जानिए

भारत ने यह मैच 10 ओवर शेष रहते 9 विकेट से जीत लिया। इस तरह चेतन शर्मा ने भारत के नाम एक ऐसा रिकॉर्ड कर दिया जिसे तोड़ना किसी भी गेंदबाज के लिए संभव नहीं है।

चेतन शर्मा ने 1987 के विश्व कप में न्यूजीलैंड के खिलाफ क्रिकेट विश्वकप इतिहास की पहली हैट्रिक ली थी। (File Photo)

आज से 29 साल पहले 31 अक्टूबर 1987 यानी आज के ही दिन भारत के तेज गेंदबाज चेतन शर्मा ने क्रिकेट विश्वकप की पहली हैट्रिक ली थी। भारत में खेले गए इस रिलायंस विश्वकप में नागपुर के मैदान पर चेतन शर्मा ने न्यूजीलैंड के खिलाफ हैट्रिक लेकर यह विश्व कीर्तिमान स्थापित किया था। अपने घातक कटर्स और सीमर्स के दम पर चेतन शर्मा ने न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों केन रदरफोर्ड, इयान स्मिथ और इवेन चैटफील्ड को अपने छठे ओवर की आखिरी तीन गेदों पर आउट कर भारत को गर्व करने का मौका दिया था। भारत ने इस मैच में 9 विकेट से जीत दर्ज की थी।

न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 41 ओवर में 182/5 का स्कोर बना लिया था। रदरफोर्ड अच्छी बैटिंग कर रहे थे और क्रीज पर मौजूद थे। उनके बाद आने वाले बल्लेबाज स्मिथ और मार्टिन स्नेडेन भी अपनी आक्रामक बल्लेबाजी के लिए जाने जाते थे। भारत के कप्तान कपिल देव ने चेतन शर्मा को 42वें ओवर में गेंदबाजी की जिम्मेदारी दी। कपिल देव ने चेतन शर्मा को मनोज प्रभाकर के उपर तरजीह देते हुए गेंदबाजी सौंपी थी। मनोज प्रभाकर ने उससे पहले विकेट भी हासिल किया था और उनके कोटे के पांच ओवर बाकी थे।

वीडियो: जब चेतन शर्मा बनाया था कभी न टूटने वाला विश्व रिकॉर्ड

चेतन शर्मा के ओवर की चौथी गेंद को रदरफोर्ड ठीक से भांप नहीं सके जो एक आॅफ कटर थी। गेंद रदर फोर्ड के बल्ले और पैड के बीच से निकली हुई उनका मिडल स्टंप ले उड़ी। रदरफोर्ड के बाद बल्लेबाजी करने उतरे स्मिथ भी चेतन शर्मा के पैने आॅफ कटर को नहीं भांप सके और गेंद उनका आफॅ स्टम्प उखाड़ ले गई। स्मिथ के बाद चैटफील्ड बल्लेबाजी के लिए क्रीज पर उतरे। शर्मा की हैट्रिक बाल को टालने के लिए उन्होंने गॉर्ड लिया। चेतन शर्मा ने चैटफील्ड को फुल लेंथ बॉल की थी और उन्होंने डाउन द विकेट आकर खेलने की कोशिश की, गेंद चैटफील्ड को चकमा देते हुए उनके सटम्प में जा लगी और चेतन शर्मा के साथ पूरा स्डेडीअम खुशी के जश्न में डूब चुका था।

Read Also: स्पिनर जयंत यादव आखिर अपनी टीम जर्सी पर क्यों चाहते थे दो नाम, जानिए

भारत के समाने जीत के लिए न्यूजीलैंड ने 42.2 ओवर में 222 रनों का लक्ष्य रखा था। इस मैच में भारत के लिए ओपनिंग करने उतरे सुनील गावस्कर ने अपने वनडे करियर का पहला और एकमात्र सैकड़ा लगाया। उन्होंने 85 गेदों में 105 रन की पारी खेली। उनके साथ दूसरे सलामी बल्लेबाज के. श्रीकांत ने भी 58 गेदों में 75 रन की धमाकेदार पारी खेली। भारत ने यह मैच 10 ओवर शेष रहते 9 विकेट से जीत लिया। इस तरह चेतन शर्मा ने भारत के नाम एक ऐसा रिकॉर्ड कर दिया जिसे तोड़ना किसी भी गेंदबाज के लिए संभव नहीं है।

Read Also: भारत एशियन चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में, दक्षिण कोरिया को पेनल्‍टी शूटआउट में दी मात

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 31, 2016 4:43 pm

सबरंग