December 11, 2016

ताज़ा खबर

 

एमएस धोनी बोले- अब स्‍ट्राइक रोटेट कर पाने में हो रहा हूं नाकाम, इसलिए ऊपर खेलने आया

धोनी और कोहली ने तीसरे विकेट के लिए 151 रन जोड़कर भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई।

Author मोहाली | October 24, 2016 15:53 pm
मोहाली में खेले गए तीसरे एकदिवसीय मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ शॉट खेलते भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी। (PTI Photo by Shahbaz Khan/23 Oct, 2016)

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने तीसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में रविवार (23 अक्टूबर) को यहां न्यूजीलैंड को सात विकेट से हराने के दौरान चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने के संदर्भ में कहा कि उन्होंने अन्य खिलाड़ियों को मैच खत्म करने का मौका देने के लिए ऊपरी क्रम में बल्लेबाजी की। न्यूजीलैंड के 286 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने विराट कोहली (नाबाद 154), धोनी (80) और मनीष पांडे (नाबाद 28) रन की पारियों की बदौलत 10 गेंद शेष रहते तीन विकेट पर 289 रन बनाकर जीत दर्ज की। धोनी ने मैच के बाद कहा, ‘मैं लंबे समय से निचले क्रम में बल्लेबाजी कर रहा था, मुझे लगता है कि लगभग 200 पारियों से। कुछ हद तक मेरी स्ट्राइक रोटेट करने की क्षमता कम हो रही थी इसलिए मैंने बल्लेबाजी क्रम में ऊपर आने और अन्य खिलाड़ियों को मैच खत्म करने का मौका देने का फैसला किया।’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन मुझे पता था कि मुझे बड़े शाट भी खेलने होंगे। विराट के साथ बल्लेबाजी करने से मदद मिली क्योंकि हमें पता है कि हम बाउंड्री जड़ सकते हैं और तेजी से एक और दो रन भी ले सकते हैं। वह शुरू से ही ऐसा खिलाड़ी रहा है जो हमेशा भारत के लिए मैच जीतना चाहता है।’

धोनी और कोहली ने तीसरे विकेट के लिए 151 रन जोड़कर भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई। मैच में 29 रन देकर तीन विकेट चटकाने वाले कामचलाऊ स्पिनर केदार जाधव की भी तारीफ करते हुए धोनी ने कहा, ‘केदार ने हैरान किया, वह बीच के ओवरों में हमें हमेशा विकेट दिलाता है और इससे आप विरोधी टीम को कम स्कोर पर रोक सकते हो। लेकिन गेंद से अंतिम पांच, छह, सात ओवरों में हमें बेहतर प्रदर्शन करना होगा।’ न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन को मलाल है कि उन्होंने बीच के ओवरों में काफी विकेट गंवाए। न्यूजीलैंड का स्कोर दो विकेट पर 152 रन से आठ विकेट पर 199 रन होने के संदर्भ में विलियमसन ने कहा, ‘बेशक बीच के ओवरों में इतने सारे विकेट गंवाना हताशा भरा है। उस समय हमारी नजरें संभवत: और अधिक स्कोर पर थी। लेकिन निचले क्रम ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया। (जेम्स) नीशाम और (मैट) हेनरी असाधारण थे।’

उन्होंने कहा, ‘लेकिन मुझे लगता है कि अगर आप उस आदमी (कोहली) को आउट नहीं करते तो आप हमेशा अधिक रन चाहते हो। जब स्कोर तीन विकेट पर 160 रन था तो हम अच्छी स्थिति में थे। लेकिन विकेट गंवाने के बाद 280 रन बनाकर हम खुश थे। शायद हम अधिक रन चाहते थे। आपको उन्हें आउट करना होगा, कोहली और धोनी ने 150 रन जोड़े और मैच छीनकर ले गए। लड़कों ने गेंद से कड़ा प्रयास किया।’ रोस टेलर के छह रन के निजी स्कोर पर कोहली का कैच छोड़ने पर उन्होंने कहा, ‘यह खेल का हिस्सा है, दुर्भाग्यपूर्ण, आप सभी को कैच करना चाहते हो, हमेशा ऐसा नहीं होता।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 24, 2016 3:52 pm

सबरंग