December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

हैप्‍पी बर्थडे मोहम्‍मद कैफ:जब युवी-कैफ की दौड़ से इंग्‍लैंड हुआ था पस्‍त, लॉर्ड्स में चली थी दादागिरी

बाद में एक इंटरव्‍यू के दौरान बातचीत में गांगुली ने कहा कि नेटवेस्‍ट ट्राइएंगुलर सीरीज की जीत के जश्‍न के लिए शर्ट उतारना उनकी गलती थी और वे शर्मिंदा हैं।

मोहम्मद कैफ और युवराज सिंह ने लॉर्ड्स में 13 जुलाई 2002 को इंग्लैंड के खिलाफ नेटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल में भारत को ऐतिहासिक जीत दिलाई थी। (File Photo)

मोहम्मद कैफ का जब भी जिक्र होगा तो क्रिकेट प्रशंसकों के दिमाग में चीते की फुर्ती लिए क्रिकेट मैदान पर उनकी बेहतरीन फील्डिंग और 2002 नेटवेस्ट ट्रॉफी फाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ उनकी बैंटिंग का दृश्य जरूर आएगा। हम जिक्र कर रहे हैं इस बेहद यादगार मैच का। 13 जुलाई 2002 को नेटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल में इंडिया का सामना मेजबान इंग्लैंड से था। प्रसिद्ध लॉर्ड्स मैदान पर हुए इस मुकाबले में इंग्लैंड ने ओपनर मार्कस ट्रेस्कॉथिक और कप्तान नासिर हुसैन की सेंचुरी के दम पर 325 रन का विशाल स्कोर बनाया था। लक्ष्य काफी कठिन था।

भारत के कप्तान सौरव गांगुली ने वीरेंद्र सहवाग के साथ मिलकर टीम को बेहतरीन शुरुआत दी और 106 रन की ओपनिंग पार्टनरशिप की, लेकिन इसके बाद टीम इंडिया लड़खड़ा गई। भारतीय क्रिकेट इतिहास में विदेशी धरती पर मिली सबसे शानदार जीतों में शुमार की जाने वाली नेटवेस्ट ट्रॉफी अगर किसी ने दिलाई, तो वह थे मोहम्मद कैफ और युवराज सिंह। इंग्लैंड की ओर से दि गए 325 के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया के 24वें ओवर तक 146 रन पर 5 विकेट गिर गए थे। सचिन तेंदुलकर के आउट होने के बाद नंबर 7 पर मोहम्मद कैफ उतरे और साथ थे युवराज सिंह। दोनों ही युवा और नए थे। सचिन के जाते ही सबने मान लिया कि अब मैच हाथ से गया और टीम एक और फाइनल हारने जा रही है, लेकिन कैफ और युवी ने कुछ और ही ठान रखा था।

दोनों ने इतिहास रचने की ओर कदम बढ़ा दिए। दोनों ने 6.84 के रनरेट से 121 रन जोड़े और इंग्लैंड के हर गेंदबाज की जमकर पिटाई की। युवराज सिंह 63 गेंदों में 69 रन बनाकर आउट हो गए, लेकिन कैफ ने सफर जारी रखा। उन्होंने युवी के बाद हरभजन के साथ भी 47 रन जोड़े। टीम इंडिया के 9 विकेट गिर गए थे, लेकिन कैफ ने हार नहीं मानी और अंतिम विकेट के लिए जहीर खान के साथ 12 की साझेदारी करते हुए जीत दिला दी। अंतिम ओवर में जीत के लिए 2 रन चाहिए थे, जो जहीर के बल्ले से निकले। कैफ 75 गेंदों में 87 रन बनाकर नाबाद लौटे और 6 चौके व 2 छक्के लगाए।

sourav-ganguly-netwest

जैसे ही कैफ ने विजयी रन लिया, वैसे ही लॉर्ड्स की बालकनी में खड़े गांगुली ने अपनी शर्ट उतारी और हवा में लहराने लगे। सौरभ गांगुली ने वास्तव में ऐसा करके इंग्लैंड के ऑलराउंडर एंड्रयू फ्लिंटॉफ से बदला लिया था, क्योंकि इंग्लैंड के भारत दौरे में मुंबई में मैच के दौरान फ्लिंटॉफ ने अंतिम विकेट गिरने पर अपनी टी-शर्ट उतार गांगुली को दिखाई थी। बाद में एक इंटरव्‍यू के दौरान बातचीत में गांगुली ने कहा कि नेटवेस्‍ट ट्राइएंगुलर सीरीज की जीत के जश्‍न के लिए शर्ट उतारना उनकी गलती थी और वे शर्मिंदा हैं। उन्‍होंने कहा, ‘जिंदगी में सभी से गलतियां होती हैं। मैंने भी एक गलती की, सुखद यह था कि हम उस सीरीज के विजेता थे।’

netwest

वीडियो: इंग्लैंड के खिलाफ नेटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल में भारत की ऐतिहासिक जीत  

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 1, 2016 3:02 pm

सबरंग