December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

ये हैं विश्व क्रिकेट के 10 महान विकेटकीपर्स जिन्होंने बदल दी विकेटकीपिंग की परिभाषा

विकेट के पीछे हाथों में दस्ताने पहने खड़ा प्लेयर सिर्फ विकेटकीपर ही नहीं होता बल्कि वो किसी भी क्रिकेट टीम के संयोजन के लिए महत्वपूर्ण कारक होता है।

दुनिया के टॉप टेन विकेटकीपर्स की लिस्ट।

क्रिकेट के मैदान पर विकेटकीपिंग और अम्पाएरिंग दो ऐ से काम हैं, जिनमें सबसे ज्यादा एकाग्रता की जरूरत होती है। ये दोनों ऐसे काम हैं जिसके लिए आपको टैलेंटेड, शॉर्प और फ्लेक्सिबल सब एक साथ होना पड़ता है। विकेट के पीछे हाथों में दस्ताने पहने खड़ा प्लेयर सिर्फ विकेटकीपर ही नहीं होता बल्कि वो किसी भी क्रिकेट टीम के संयोजन के लिए महत्वपूर्ण कारक होता है। हम आपको विश्व क्रिकेट के ऐसे ही दस टैलेंटेड और सक्सेसफुल विकेटकीपर्स के बारे में बता रहे हैं, जिन्होंने क्रिकेट की दुनिया में अपनी विकेटकीपिंग के जरिए पहचान हासिल की है और दर्शकों के दिलों पर राज किया है…

marc-boucher

मॉर्क बाउचर: आप क्रिकेट के प्रशंसक हैं तो मॉर्क बाउचर का नाम सुनते आपके दिमाग में ‘999’ का आंकड़ा फ्लैश करने लगेगा। दरअसर मॉर्क बाउचर ने दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट टीम के साथ अपने 15 साल के करियर में विकेट के पीछे कुल ‘999’ शिकार किए हैं। मॉर्क बाउचर क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में खेले हैं। साल 2012 के इंग्लैंड दौरे पर आंख में गेंद लगने से वह बुरी तरह इंजर्ड हो गए थे और उसके बाद उन्होंने क्रिकेट को अलविदा कह दिया। मॉर्क बाउचर विकेट के पीछे अपने प्रदर्शन के और रिकॉर्ड्स की वजह से विश्व क्रिकेट में अबतक के सबसे बेहतरीन विकेटकीपर हैं।

adam-gilchrist

एडम गिलक्रिस्ट: एडम गिलक्रिस्ट दुनिया के कुछ चुनिंदा विकेटकीपर्स में शामिल हैं और शायद आस्ट्रेलिया के सबसे बेहतरीन विकेटकीपर रहे हैं। आस्ट्रेलियन टीम जब भी मैदान में होती थी दर्शकों की नज़र अपने दस्तानों के साथ विकेट के पीछे खड़े एडम गिलक्रिस्ट पर होती थी। 2008 में क्रिकेट से रिटायर हुए गिलक्रिस्ट के नाम कुल 905 शिकार दर्ज हैं। उन्होंने टेस्ट मैचों में 416 शिकार किए, वनडे में 472 और टी20 में 17 शिकार किए। विकेटकीपिंग के आलावा गिलक्रिस्ट को उनकी विस्फोटक बैटिंग के लिए जाना जाता है। उन्होंने अपने क्रिकेट करियर में 15000 से ज्यादा रन बनाए हैं। एडम का क्रिकेट में प्रदर्शन और विकेट के पीछे उनका रिकॉर्ड उन्हें दुनिया का दूसरा सबसे बेहतरीन विकेटकीपर बनाता है।

kumar-sankkara

कुमार संगकारा: कुमार संगकारा और महेला जयवर्धने ऐसे दो नाम हैं जिन्हें श्रीलंकाई क्रिकेट प्रशंसक कभी नहीं भूल सकते। इन दोनों खिलाड़ियों ने बहुत ही श्रद्धा के साथ श्रीलंकाई क्रिकेट की सेवा की है। 2015 में क्रिकेट से सन्यास ले चुके संगकारा ने विकेट के पीछे 748 शिकार किए हैं। संगकारा के नाम वनडे क्रिकेट में सबसे अधिक 99 बार स्टंपिंग करने का विश्व रिकॉर्ड दर्ज है। संगकारा विकेट के पीछे ही नहीं बल्कि विकेट के आगे बैटिंग क्रीज पर भी उतने ही शानदार खिलाड़ी रहे हैं और उन्होंने अपने क्रिकेट करियर में 21000 से ज्यादा रन बनाए हैं। संगकारा ने अपने करियर में 47 शतक और 117 पचासे जड़े हैं। उनका यह प्रदर्शन उन्हें विश्व क्रिकेट का तीसरा सबसे सफल विकेट कीपर बनाता है।

mahendra-singh-dhoni

महेंद्र सिंह धोनी: भारत के सबसे सफल कप्तान और विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी एक ऐसा नाम जिससे विश्व क्रिकेट में शायद ही कोई परिचित न हो। विकेट के पीछे एकाग्रता, फिटनेस, अलर्टनेस और शांतचित्त प्रवृत्ति उन्हें दुनिया के महान विकेटकीपर्स की सूची में स्थान दिलाती है। महेंद्र सिंह धोनी ने अबतक के अपने क्रिकेट करियर में विकेट के पीछे कुल 705 शिकार किए हैं। उन्होंने 2014 में टेस्ट क्रिकेट से सन्यास ले लिया था और वर्तमान में वनडे और टी20 में भारतीय टीम का नेतृत्व करते हैं।

ian-healey

इयान हिली: आस्ट्रेलिया के महानतम विकेटकीपर्स में शुमार इयान हिली ने रोड मॉर्श के रिटायर होने के बाद विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी संभाली थी। 1988 में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने वाले इयान हिली ने अपने क्रिकेट करियर में विकेट के पीछे कुल 628 शिकार किए थे। वनडे क्रिकेट में हिली के नाम 233 शिकार और टेस्ट क्रिकेट में 395 शिकार दर्ज हैं।

brendaon-maccullum

ब्रेंडन मैक्कलम: ब्रेंडन मैक्कलम न्यूजीलैंड के सबसे महान विकेटकीपर बन चुके हैं। उनके नाम विकेट के पीछे 530 शिकार दर्ज हैं और कोई अन्य कीवी विकेटकीपर उनके आस पास भी नहीं है। साल 2012 में क्रिकेट के सभी प्रारूपों में न्यूजीलैंड का कप्तान बनाए जाने के बाद मैक्कलम ने विकेटकीपिंग छोड़ दी थी।

rodney-marsh

रोड मॉर्श: रोडने मॉर्श या रोड मॉर्श के नाम 355 टेस्ट शिकार, 124 वनडे शिकार और फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 800 से अधिक शिकार दर्ज हैं। इस आस्ट्रेलियाई विकेटकीपर ने विकेट के पीछे अपनी चुस्ती, फुर्ती और मुस्तैदी के कारण विकेटकीपिंग की दुनिया में खास स्थान बनाया। उन्होंने अपने प्रदर्शन से क्रिकेट इतिहास में विकेटकीपर के तौर पर अपना नाम स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज कराया है।

moeen-khan

मोइन खान: मोइन खान पाकिस्तानी क्रिकेट के लिए ट्रम्प कॉर्ड थे। टीम जब भी बुरे दौर में होती थी मोइन खान संकटमोचन की भूमिका में होते थे। मोइन खान 1992 की विश्व चैंम्पियन पाकिस्तानी टीम के सदस्य थे। वह पाकिस्तान के सबसे सफल विकेटकीपर्स में शामिल हैं। मोइन खान ने अपने करियर में विकेट के पीछे 435 शिकार किए हैं।

alec-stewart

एलेक स्टीवर्ट: एलेक स्टीवर्ट ने इंग्लैंड के लिए टेस्ट और वनडे मिलाकर कुल 300 मैच खेले हैं। एलेक के नाम विकेट के पीछे कुल 451 शिकार दर्ज हैं। जैक रसेल के बाद इंग्लैंड की क्रिकेट टीम में विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी संभालने वाले एलेक स्टीवर्ट इंग्लैंड के टेसट मैचों में सबसे सफल विकेटकीपर रहे हैं, वहीं वनडे में उनका स्थान दूसरा है।

andrew-flower

एंड्र्यू फ्लावर: एंडी फ्लावर जिम्बाब्वे के सबसे महान खिलाड़ी हैं जिन्होंने विकेट के पीछे जिम्मेदारी संभाली। एंडी फ्लावर ने विकेट के पीछे कुल 333 शिकार किए हैं। जिसमें से 173 शिकार वनडे में और 160 शिकार टेस्ट मुकाबलों में किए हैं। अपने 11 साल लम्बे क्रिकेट करियर में एंडी फ्लावर ने जिम्बाब्वे टीम की कप्तानी भी की और उसे एक लड़ाकू टीम बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की।

वीडियो: विकेट के पीछे महेंद्र सिंह धोनी के कुछ शानदार करामात

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 24, 2016 1:43 pm

सबरंग