ताज़ा खबर
 

नाबाद 203 रन मेरी सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक, लेकिन न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ दो अर्धशतक अधिक कीमती: साहा

ऋद्धिमान गुजरात के खिलाफ क्रीज से लगभग दो कदम आगे निकलकर खड़े रहे जिस पर काफी चर्चा हुई।
Author नई दिल्ली | January 24, 2017 21:30 pm
गुजरात के खिलाफ शतक लगाने के बाद शेष भारत के बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा। (PTI Photo/23 Jan, 2017)

ऋद्धिमान साहा ने ईरानी कप में नाबाद 203 रन की पारी को अपनी सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक करार दिया लेकिन उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड के खिलाफ कोलकाता में दो अर्धशतकीय पारियां अधिक महत्वपूर्ण थी। ऋद्धिमान ने कहा, ‘आप इसे वेस्टइंडीज के खिलाफ ग्रोस आइलेट में शतक के साथ मेरे सर्वश्रेष्ठ प्रयास में शामिल कर सकते हो लेकिन अगर आप ऐसी पारी का जिक्र करोगे जो मेरे दिल के करीब है तो फिर वे न्यूजीलैंड के खिलाफ कोलकाता में खेली गयी दो अर्धशतकीय पारियां हैं।’ उन्होंने कहा, ‘उस मैच में मेरी 54 और 58 रन की नाबाद पारियां विशिष्ट हैं क्योंकि पिच बल्लेबाजी के लिये आसान नहीं थी। इसके अलावा आप स्विंग गेंदबाजी का अच्छा प्रदर्शन करने वाले गेंदबाजों का सामना कर रहे थे। ट्रेंट बोल्ट अपने सारे वैरीएशन आजमा रहा था। न्यूजीलैंड का वह आक्रमण काफी अच्छा था और इससे वे पारियां विशिष्ट बन जाती हैं।’

ऋद्धिमान गुजरात के खिलाफ क्रीज से लगभग दो कदम आगे निकलकर खड़े रहे जिस पर काफी चर्चा हुई और उन्होंने कहा कि गेंदबाज अपेक्षाकृत तेजी नहीं थी और इसलिए उन्होंने ऐसा किया। उन्होंने कहा, ‘यह मेरी तरफ से सुधार था। अगर तेज गेंदबाज अच्छी तेजी से गेंदबाजी करते हैं तो फिर मैं क्रीज से इतना बाहर नहीं खड़ा रहता। उनकी गेंदों में तेजी नहीं थी और इसलिए मैंने ऐसा किया। उनके तेज गेंदबाज (चिंतन गजा और मोहित थडानी) 120 किमी की रफ्तार से गेंदबाजी कर रहे थे और गेंद बल्ले पर नहीं आ रही थी। इससे हम सभी परेशान रहे।’ साहा ने कहा, ‘इसलिए मैंने फैसला किया कि मुझे जल्दी गेंद तक पहुंचकर स्विंग से निबटना होगा। मनोज भी दूसरी पारी में इसलिए आउट हुआ क्योंकि गेंद अच्छी तेजी से बल्ले पर नहीं आयी। मैंने और पुजारा ने फैसला किया कि हमें आक्रामक होकर खेलने की जरूरत है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.