ताज़ा खबर
 

विजाग में कोहली से विराट जीत की आस

भारतीय स्पिनरों से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है।
Author नई दिल्ली | November 17, 2016 04:55 am
भारतीय क्रिकेट टीम के कप्‍तान विराट कोहली ने न्‍यूजीलैंड के खिलाफ इंदौर टेस्‍ट के पहले दिन शतक जड़ा। (Photo:PTI)

राजकोट में किसी तरह मैच को ड्रा कराने में सफल रही मेजबान भारतीय टीम गुरुवार से शुरू हो रहे दूसरे टैस्ट में इंग्लैंड के खिलाफ बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद लिए विजाग स्टेडियम में उतरेगी। राजकोट में बल्लेबाजी के अनुकूल पिच पर उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाने के कारण आलोचना का शिकार भारतीय स्पिनरों से यहां बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है। एक तरफ जहां पहले टैस्ट में पूरी तरह हावी रहने वाली कुक सेना का मनोबल शिखर पर है वहीं दूसरी ओर कोहली के रणबांकुरे इस मैच में उन्हें पस्त करने की हरसंभव कोशिश करेंगे। राजकोट में भारतीय गेंदबाजी खासकर स्पिनरों के प्रभावहीन प्रदर्शन ने टीम को काफी नुकासन पहुंचाया। साथ ही बल्लेबाजों ने भी कुछ खास नहीं किया। विशेषज्ञों के मुताबिक विशाखापत्तनम में होने वाले इस मैच में लोगों की नजरें कई पहलुओं पर होंगी। नजर डालते हैं उन्हीं में से कुछ खास बिंदुओं पर जो इस टैस्ट को भारत के पाले में ला सकता है –

पिच स्पिनरों के लिए मददगार !
राजकोट में खेले गए सीरीज के पहले टैस्ट मैच में भले ही भारतीय स्पिनर फेल रहे हों लेकिन दूसरे टैस्ट मैच में पिच स्पिन गेंदबाजों के लिए मददगार रहने की बात कही जा रही है। विजाग के क्यूरेटर कस्तूरी श्रीराम ने सोमवार को ही दावा किया था कि पिच पर घास नहीं छोड़ी गई है। इस कारण पिच पर गेंद दूसरे दिन से ही टर्न लेने लगेगी। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि बहुत कुछ मौसम के मिजाज पर भी निर्भर करेगा। इन सब के बाद भी अगर गेंद टर्न लेनी शुरू हो जाए तो फिर यहां अश्विन के साथ ही अमित मिश्रा का कमाल देखने को मिल सकता है।

इंग्लैंड की तिकड़ी हावी
राजकोट मैच में पहले दिन से आखिरी दिन तक भारतीय स्पिनरों से उलट इंग्लिश टीम की स्पिन गेंदबाजी हावी रही। उन्होंने मैच में 13 विकेट अपने नाम किए वहीं भारतीय स्पिनर महज नौ विकेट ही निकाल पाए। इंग्लिश टीम की विकेट लेने से लेकर बल्लेबाजों को बांधे रखने की कला राजकोट में ज्यादा प्रभावशाली रही। राजकोट में अश्विन, रविंद्र जडेजा और अमित मिश्रा की भारतीय तिकड़ी से ज्यादा प्रभावी मोईन अली, जफर अंसारी और आदिल राशिद की स्पिन तिकड़ी रही।

अश्विन पर रहेगा दारोमदार
आइसीसी रैंकिंग में शीर्ष पर काबिज भारत के स्टार स्पिनर आर अश्विन राजकोट टैस्ट में उतना प्रभाव नहीं डाल पाए जिसके लिए वे जाने जाते हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ टैस्ट शृंखला में उन्होंने किस तरह कीवी बल्लेबाजों को धाराशाई किया था उससे इंग्लैंड के बल्लेबाज अनजान नहीं होंगे। राजकोट टैस्ट की दूसरी पारी में हालांकि उन्होंने बेहतरीन गेंदबाजी की लेकिन विकेट चटकाने के मामले में पिछड़ गए। विशाखापत्तनम में भारतीय टीम की उम्मीद उन्हीं पर टिकी है। महज 40 मैचों में 223 विकेट अपने नाम करने वाले इस फिरकी के जादूगर को एक बार फिर अपना कमाल दिखाना होगा।

एंडरसन फैक्टर
विजाग की पिच पर तेज गेंदबाजों के हावी रहने का रिकॉर्ड ही भारतीय टीम के लिए चिंता का विषय है। ऐसे में एंडरसन की इंग्लैंड टीम में वापसी भारत के लिए घातक साबित हो सकता है। इसका बड़ा कारण तेज गेंदबाजों के लिए मददगार पिच पर इंग्लैंड के लिए 119 टैस्ट में 463 विकेट चटकाने वाले जेम्स एंडरसन ही हैं। इस चिंता को इस बात से भी बल मिलता है कि एंडरसन का रिकॉर्ड पहले से ही भारत के खिलाफ बेहतरीन रहा है।

राहुल की वापसी
विशाखापत्तनम में दूसरे टैस्ट में केएल राहुल की वापसी भारत के बल्लेबाजी क्रम को मजबूती दे सकता है। हालांकि टैस्ट में उनका अनुभव काफी कम है लेकिन लगातार फार्म में चल रहे इस बल्लेबाज ने घरेलू मैचों में खुद को साबित किया है।
चोट के कारण न्यूजीलैंड के खिलाफ टैस्ट से बाहर हो गए राहुले ने उस दौरान भी अपनी बल्लेबाजी से प्रभावित किया था।

Speed News: जानिए दिन भर की पांच बड़ी खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग