December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

भारतीय खिलाडि़यों ने मां के लिए बदली जर्सी, एमएस धोनी ने कहा- मां भी फौजी की तरह अहम

भारतीय खिलाडि़यों की टीम जर्सी के पीछे सरनेम के बजाय मां का नाम लिखा हुआ था। ऐसा मां के काम को ट्रिब्‍यूट देने के लिए किया गया है।

भारत और न्‍यूजीलैंड के बीच विशाखापट्टनम में पाचवें वनडे मैच में टीम इंडिया के खिलाड़ी नए अंदाज में नजर आए। (Photo:BCCI)

भारत और न्‍यूजीलैंड के बीच विशाखापट्टनम में पाचवें वनडे मैच में टीम इंडिया के खिलाड़ी नए अंदाज में नजर आए। भारतीय खिलाडि़यों की टीम जर्सी के पीछे सरनेम के बजाय मां का नाम लिखा हुआ था। ऐसा मां के काम को ट्रिब्‍यूट देने के लिए किया गया है। इस बारे में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस के समय बताया, ”हम पिता की तरफ के सरनेम रखने के आदी हैं। जरूरी यह भी है कि हम मां जो काम करती है उसका भी सम्‍मान करें। यह काफी भावनात्‍मक रिश्‍ता है और अच्‍छी बात है कि यह सार्वजनिक मंच पर दिखाया जा रहा है। मैं पूरे भारत से रिक्‍वेस्‍ट करना चाहूंगा कि वे हर रोज इस बात को याद रखें और हर रोज उन्‍हें सम्‍मान दें। मां का योगदान सैनिक की तरह ही महत्‍वपूर्ण हैं।” गौरतलब है न्‍यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज शुरू होने से पहले विराट कोहली, एमएस धोनी और अजिंक्‍य रहाणे इस संबंध में विज्ञापन भी कर रहे थे।

धोनी इन विज्ञापनों में देवकी, कोहली सरोज और रहाणे सुजाता नाम की जर्सी पहने नजर आते हैं। साथ ही वे ऐसा करने का कारण भी बताते हैं।  खेल के मैदान में ऐसा पहली बार नहीं है जब किसी टीम ने इस तरह से अपनी जर्सी के साथ ऐसा बदलाव किया है। दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट टीम ने ब्रेस्‍ट कैंसर के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए पिंक ड्रेस पहनी थी। वहीं स्‍पेन की फुटबॉल टीम ने सोशल मीडिया पर मौजूदगी को प्रमोट करने के लिए अपनी जर्सी का उपयोग किया था। आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर की टीम एक बार ग्रीन यूनिफॉर्म पहनती है। वह ऐसा पर्यावरण के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए करती है।

विशाखापट्टनम मैच पांच वनडे की सीरीज का निर्णायक मैच है। भारत और न्‍यूजीलैंड दोनों सीरीज में 2-2 से बराबर है। इस मैच में भारत की ओर से जयंत यादव ने डेब्‍यू किया। स्पिनर जयंत को पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने डेब्‍यू कैप दी। वहीं जसप्रीत बुमराह ने भी वापसी की है। वे चोट के चलते रांची वनडे से बाहर हो गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 29, 2016 2:39 pm

सबरंग