March 29, 2017

ताज़ा खबर

 

बरकरार रहा इंदौर में टीम इंडिया के न हारने का रिकॉर्ड, यहीं वनडे में भी हारा था न्‍यूजीलैंड

यह मुकाबला इंदौर ही नहीं, बल्कि पूरे मध्यप्रदेश के इतिहास का पहला टेस्ट मैच था।

Author इंदौर | October 11, 2016 19:56 pm
Ind vs NZ: भारत ने सीरीज 3-0 से जीत ली।

भारत की आज यहां न्यूजीलैंड पर तीसरे टेस्ट मैच में शानदार जीत के साथ होलकर स्टेडियम में किसी भी प्रारूप के अंतरराष्ट्रीय मैच में टीम इंडिया के अजेय रहने का रिकॉर्ड बरकरार रहा। मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ (एमपीसीए) के इस स्टेडियम में भारत पिछले 10 साल के दौरान लगातार पांच मुकाबले जीत चुका है जिनमें चार एक दिवसीय मैच शामिल हैं। भारत ने तीसरे और अंतिम टेस्ट के चौथे ही दिन आज होलकर स्टेडियम में न्यूजीलैंड को 321 रन से हराया और सीरीज में 3..0 से ‘क्लीन स्वीप’ कर देशवासियों को विजयादशमी का तोहफा दिया। यह मुकाबला इंदौर ही नहीं, बल्कि पूरे मध्यप्रदेश के इतिहास का पहला टेस्ट मैच था जो भारत की जीत के कारण स्थानीय दर्शकों के लिये खासतौर पर यादगार बन गया। करीब 27,000 दर्शकों की क्षमता वाला होलकर स्टेडियम भारतीय टीम के लिये बेहद भाग्यशाली रहा है। दशक भर में इस स्टेडियम में भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ दो और वेस्ट इंडीज व दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एक-एक वन डे मैच खेला है और इन चारों में उसने जीत दर्ज की। वैसे इंदौर में न्यूजीलैंड की टीम भारत के खिलाफ अब तक जीत का स्वाद नहीं चख सकी है। न्यूजीलैंड ने आज खत्म टेस्ट से करीब 28 साल पहले मध्यप्रदेश के इस प्रमुख शहर में भारत के साथ एक दिवसीय मैच खेला था और उसमें भी उसे हार झेलनी पड़ी थी।

पाकिस्‍तानी कलाकारों को बैन करने पर क्‍या बोले अमिताभ, देखिए: 

दोनों देशों की यह भिड़ंत नेहरू स्टेडियम में 15 दिसंबर 1988 को खेले गये एक दिवसीय मैच में हुई थी, जब दिलीप वेंगसरकर की अगुवाई वाली मेजबान टीम ने जॉन राइट की अगुवाई में आयी मेहमान टीम को 53 रन से हराया था। नेहरू स्टेडियम की हालत खराब होने के कारण इसमें वर्ष 2001 में अंतरराष्ट्रीय मैचों का आयोजन बंद कर दिया गया था। इसके बाद अंतरराष्ट्रीय मुकाबले एमपीसीए के होलकर स्टेडियम में खेले जाने लगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 11, 2016 7:56 pm

  1. No Comments.

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग