ताज़ा खबर
 

IND vs AUS: लीमैन ने कहा- भारत हो या ऑस्ट्रेलिया, टॉस से फर्क नहीं पड़ता

डेरेन लीमैन ने कहा, पुणे में गुरुवार (23 फरवरी) से शुरू हो रही चार टेस्ट की श्रृंखला के लिए अच्छे विकेट तैयार किए जाएंगे।
Author पुणे | February 21, 2017 17:03 pm
ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कोच डेरेन लीमन। (AP Photo/Rui Vieira/PA)

ऑस्ट्रेलिया के कोच डेरेन लीमैन टॉस की प्रथा को खत्म करने के पक्ष में हैं और उनका मानना है कि भारत में आगामी टेस्ट श्रृंखला के नतीजे पर टॉस का कोई असर नहीं होगा। लीमैन पहले ही टॉस को लेकर अपनी आशंकाएं जता चुके हैं और उनका मानना है कि यह विकल्प मेहमान टीम को मिलना चाहिए कि वह पहले गेंदबाजी करना चाहती है या बल्लेबाजी। ऑस्ट्रेलियन एसोसिएटेड प्रेस (एएपी) ने लीमैन के हवाले से कहा, ‘हम जब पिछली बार यहां आए थे तो हमने चार बार टॉस जीता था और 0-4 से हार गए।’ उन्होंने कहा, ‘टॉस जीतने के बाद भी आपको अच्छा खेलना होता है।’

लीमैन ने कहा, ‘टॉस को लेकर मेरा नजरिया यह है कि इसे खत्म करना चाहिए, मेरा हमेशा यही नजरिया रहा है। आप चाहे यहां हो या ऑस्ट्रेलिया में, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।’ ऑस्ट्रेलिया के कोच ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि पुणे में गुरुवार (23 फरवरी) से शुरू हो रही चार टेस्ट की श्रृंखला के लिए अच्छे विकेट तैयार किए जाएंगे। उन्होंने कहा, ‘वे अच्छे विकेट बनाते हैं, इसलिए अच्छे पांच दिवसीय टेस्ट (पिच) को लेकर उत्सुक हूं जो पांच दिन के दौरान टूटेगा।’

IND vs AUS: रहाणे ने कहा, हर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी के लिए तैयार है रणनीति

स्टाइलिश बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे छींटाकशी के बारे में ज्यादा चिंतित नहीं है, उन्होंने सोमवार (20 फरवरी) को कहा कि भारतीय टीम ने हर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी के लिये योजना बनायी हुई है और वे पुणे में गुरुवार (23 फरवरी) से शुरू हो रही चार टेस्ट मैचों की सीरीज के दौरान आक्रामक क्रिकेट खेलने की कोशिश करेंगे। भारत और ऑस्ट्रेलिया बीते समय में कई बार शब्दों की गहमागहमी में शामिल हुए हैं और इस बार तो कप्तान स्टीवन स्मिथ ने भी स्पष्ट कर दिया है कि उनकी टीम भारतीयों के खिलाफ छींटाकशी करने में हिचकेगी नहीं, हालांकि उप कप्तान डेविड वॉर्नर ने संकेत दिया था कि वे फार्म में चल रहे भारतीय कप्तान विराट कोहली पर छींटाकशी नहीं करेंगे।

रहाणे ने यहां पत्रकारों से कहा, ‘हम नहीं जानते कि वे छींटाकशी करेंगे या नहीं। हमने सभी के लिये कुछ रणनीतियां बनायी हैं, मैं उनकी यहां चर्चा नहीं करूंगा। यह कौशल के आधार पर है या छींटाकशी के आधार पर, लेकिन निश्चित रूप से एक योजना है। हम जानते हैं कि ऑस्ट्रेलियाई टीम ‘माइंड गेम’ खेलती है। हमारा उद्देश्य उन पर हर मायने में दबाव बनाना होगा।’ उन्होंने कहा, ‘हम स्पिनरों के खिलाफ ही नहीं बल्कि सभी गेंदबाजों के खिलाफ सकारात्मक और आक्रामक क्रिकेट खेलना चाहेंगे। अभ्यास मैच और टेस्ट मैच पूरी तरह से अलग होते हैं, इसलिये हमें परिस्थितियों को अच्छी तरह पढ़ना होगा और हालात के अनुरूप खेल दिखाना होगा, यही अहम होगा।’

IPL 2017: नहीं बके इशांत शर्मा; ट्विटर पर उड़ा मजाक, देश की राजनीति गर्माई

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.