ताज़ा खबर
 

BCCI ने लोढा समिति की अनदेखी की, एमएसके प्रसाद चयन समिति के अध्यक्ष बने

यह फैसला बुधवार को बीसीसीआई की मुंबई में हुई वार्षिक बैठक में लिया गया। 41वर्षीय प्रसाद ने छह टेस्ट और 17 वनडे मैच खेले हैं।
पिछले हफ्ते बीसीसीआई की सालाना आम बैठक में नए चयनकर्ता चुने गए। (पीटीआई फाइल फोटो)

सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त लोढा समिति की सिफारिशों की अनदेखी करते हुए बीसीसीआई ने पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज एमएसके प्रसाद की अगुआई में पांच सदस्यीय चयन समिति की घोषणा की। इसके दो सदस्य ऐसे हैं जिन्हें टेस्ट मैच खेलने का अनुभव नहीं है। पिछली चयन समिति में दक्षिण क्षेत्र के प्रतिनिधि के रूप में मौजूद प्रसाद चयन समिति के अध्यक्ष के रूप में संदीप पाटिल की जगह लेंगे। आंध्र प्रदेश के 41 साल के प्रसाद ने अपने संक्षिप्त अंतरराष्ट्रीय करियर के दौरान भारत की ओर से छह टेस्ट और 17 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। भारत की ओर से कोई टेस्ट नहीं खेलने वाले गगन खोड़ा को मध्य क्षेत्र के प्रतिनिधि के रूप में बरकरार रखा गया है।

देवांग गांधी, जतिन परांजपे और सरनदीप सिंह चयन पैनल के नये सदस्य होंगे। इन तीनों में से परांजपे को टेस्ट अनुभव नहीं है और वे सिर्फ एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। बीसीसीआई ने इन नियुक्तियों के साथ लोढा समिति की सिफारिशों की अनदेखी की है जिसने तीन सदस्यीय समिति बनाने को कहा था जिसके सभी सदस्यों को टेस्ट क्रिकेट खेलने का अनुभव हो। लोढा समिति की सिफारिशों के साये के बीच बीसीसीआई की 87वीं वार्षिक आम बैठक में नयी चयन समिति पर फैसला किया गया। बोर्ड ने समिति की सिफारिशों को स्वीकार नहीं किया।

Read Also: बीसीसीआई ने 500वें टेस्ट के मौके पर लॉन्च की ‘ड्रीम टीम’ की पहल

भारत की ओर से चार टेस्ट और तीन वनडे खेलने वाले 45 साल के गांधी पूर्व क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करेंगे। परांजपे पश्चिम क्षेत्र के प्रतिनिधि होंगे। पूर्व आफ स्पिनर सरनदीप उत्तर क्षेत्र से चयनकर्ता होंगे। वह विक्रम राठौड़ की जगह लेंगे। बायें हाथ के पूर्व बल्लेबाज परांजपे ने भारत की ओर से चार वनडे मैच खेले हैं। सरनदीप के नाम तीन टेस्ट और पांच वनडे दर्ज हैं। नई चयन समिति को इस तरह कुल मिलाकर सिर्फ 13 टेस्ट और 31 वनडे खेलने का अनुभव है। पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद को जूनियर चयन समिति का अध्यक्ष बरकरार रखा गया है।

वहीं निवर्तमान सचिव अजय शिर्के को निर्विरोध बीसीसीआई सचिव चुन लिया गया। इस पद के लिए नामांकन दायर करने वाले शिर्के एकमात्र उम्मीदवार थे। शशांक मनोहर के आईसीसी चेयरमैन पद के लिए बीसीसीआई की अध्यक्षता छोड़ने के बाद अनुराग ठाकुर के अध्यक्ष बनने पर जुलाई में 62 साल के शिर्के को सचिव बनाया गया था। शिर्के महाराष्ट्र क्रिकेट संघ के अध्यक्ष हैं और उन्हें बीसीसीआई और आईसीसी के पूर्व अध्यक्ष शरद पवार का करीबी माना जाता है।

Read Also: ICC प्रतिनिधि के रूप में श्रीनिवासन का समर्थन कर सकता है BCCI

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.