ताज़ा खबर
 

अब तिरंगे और कफन की बात कर ट्रोल हुए दिग्विजय सिंह, जानिए पड़े कैसे-कैसे ताने

इससे पहले भी दिग्विजय सिंह कई बार अपने ट्वीट को लेकर ट्रोल हो चुके हैं। ऐसे कई बार मौके आ चुके हैं जब उनकी वजह से लोगों ने कांग्रेस पार्टी को भी आड़े हाथों लिया है।
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह (Photo Source: PTI)

अपने ट्वीट के चलते अक्सर सुर्खियों में रहने वाले दिग्विजय सिंह ने अब तिरंगे को लेकर एक शायरी ट्वीट की है। इसमें उन्होंने तिरंगे और सियासत को लेकर कहा है कि – ‘तिरंगे ने मायूस होकर सियासत से पूछा कि ये क्या हाल हो रहा है?… मेरा लहराने में कम और कफन में ज्यादा इस्तेमाल हो रहा है’…

इसके बाद ट्वीट पर यूजर्स ने दिग्विजय और उनकी पार्टी को लेकर ही चुटकी लेनी शुरू कर दी है। एक यूजर ने कहा – ‘चचा भगवा झंडा देखे हो, मंदिर के बाहर लगत है, वो तुमको घूर के पूछत है, काहे उसपे चौबीस घंटों राजनीति करत हो भैया और कहत है हमको बख्श दो बाबू।’ वहीं रतन शर्मा ने लिखा- ’60 वर्षो में आप सबों के पाप को धोने में कुछ तो समय लगेगा जिसकी सफाई चालू है।’ दिलीप ने लिखा – ‘कभी आईने भी देख लिया कीजिए ये आपके कुकर्मों का इतिहास दर्शन कराएगा।’ दिग्विजय के इस ट्वीट को अबतक 278 बार रीट्वीट किया जा चुका है।

बता दें कि इससे पहले भी दिग्विजय सिंह ने 12 जुलाई को विवादित ट्वीट करते हुए लिखा था कि- ‘अकेला सलीम 53 श्रद्धालुओं को बचा ले गया, पूरी ट्रेन एक जुनैद को ना बचा सकी।’ इस ट्वीट के बाद कांग्रेस नेता को ट्विटर यूजर्स की नाराजगी का शिकार होना पड़ा था।

वहीं कांग्रेस नेता ने एक अन्य ट्वीट में कहा था कि अमरनाथ यात्रा हिंदू-मुस्लिम एकता का प्रतीक है। क्योंकि बूटा मलिक मुस्लिम गुर्जर ने अमरनाथ जी के शिव लिंग की खोज की थी। इसपर भी यूजर्स ने उन्हें जमकर ट्रोल किया था।

आतंकी बुरहान वानी को लेकर कांग्रेस नेता ने दिया बड़ा बयान, देखें वीडियो...

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on July 17, 2017 8:17 am

  1. P
    PAWAN KUMAR
    Jul 17, 2017 at 1:50 pm
    भौंके हजार हाथी चला बाजार मिस्टर दिग्विजय सिंह तिरंगे की शान तो उसी दिन ख़तम होगई थी जब तुम्हारे जैसे लोगो ने हिनुस्तान विरोधी नारे लगाए और परम आदरणीय श्री श्रो १००८ श्री राहुल गाँधी ने उसे आज़ादी की अभिव्यक्ति बता कर देश के गद्दारो के साथ खड़े थे , जब आतंकी हानवनि, कसाब, अफजल गुरु का समर्थन किया था , शर्म नहीं आती इन दोगले चरित्र वाले नेता लोगो को
    Reply
सबरंग