December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

पहला टेस्‍ट खेल रहे कोलिन डी ग्रांडहोम के सामने नतमस्‍तक हुआ पाकिस्‍तान, तोड़ा 65 साल पुराना रिकॉर्ड

कोलिन डी ग्रांडहोम ने 41 रन देकर छह विकेट लिए और मेहमान पाकिस्‍तान को 133 रन के मामूली से स्‍कोर पर समेट दिया।

न्‍यूजीलैंड और पाकिस्‍तान के बीच पहले टेस्‍ट मैच के दूसरे दिन डेब्‍यू कर रहे कोलिन डी ग्रांडहोम ने इतिहास रच दिया। (photo source: New Zealand Cricket)

न्‍यूजीलैंड और पाकिस्‍तान के बीच पहले टेस्‍ट मैच के दूसरे दिन डेब्‍यू कर रहे कोलिन डी ग्रांडहोम ने इतिहास रच दिया। ग्रांडहोम ने 41 रन देकर छह विकेट लिए और मेहमान पाकिस्‍तान को 133 रन के मामूली से स्‍कोर पर समेट दिया। इसके जवाब में दूसरे दिन का खेल समाप्‍त होने तक न्‍यूजीलैंड ने तीन विकेट खोकर 104 रन बना लिए थे। इस टेस्‍ट का पहला दिन बारिश के चलते धुल गया था। पहला टेस्‍ट खेल रहे ग्रांडहोम ने लगभग 16 ओवर गेंदबाजी की और इनमें से 5 मेडन डाले। उन्‍होंने पाकिस्‍तान के टॉप ऑर्डर को ध्‍वस्‍त कर दिया। ग्रांडहोम ने अजहर अली(15), बाबर आजम (7), यूनिस खान (2), असद शफीक (16), सोहैल खान (9) और राहत अली (0) के विकेट लिए। उनके इस प्रदर्शन के चलते न्‍यूजीलैंड के पास सात साल बाद पाकिस्‍तान को टेस्‍ट में हराने का मौका है।

ग्रांडहोम का प्रदर्शन न्‍यूजीलैंड की ओर से टेस्ट क्रिकेट में सर्वश्रेष्‍ठ है। उन्‍होंने कीवी टीम की ओर से 65 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा। उनसे पहले एलेक्‍जेंडर मोइर ने 1951 में इंग्‍लैंड के खिलाफ 155 रन देकर 6 विकेट लिए थे। वहीं ग्रांडहोम के 41 रन पर 6 विकेट पाकिस्‍तान के खिलाफ डेब्‍यू टेस्‍ट में दूसरा सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन है। यह रिकॉर्ड दक्षिण अफ्रीका के काइली एबोट के नाम है जिन्‍होंने 2013 में सेंचुरियन टेस्‍ट 29 रन देकर सात विकेट लिए थे। दांए हाथ के तेज गेंदबाज ग्रांडहोम का जन्‍म जिंबाब्‍वे में हुआ है। साल 2012 में उन्‍होंने अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था। उस साल उन्‍होंने एक वनडे और चार टी20 खेले थे।

ग्रांडहोम की मूंछों ने भी सबका ध्‍यान खींचा। उनकी गेंदबाजी ने तीन साल पहले ऑस्‍ट्रेलिया के मिचेल जॉनसन के प्रदर्शन की याद दिला दी। ग्रांडहोम ने जॉनसन की तरह ही मूंछे रखी। जॉनसन ने इंग्‍लैंड के खिलाफ एशेज सीरीज में पांच टेस्‍ट में 37 विकेट चटकाए थे। इसके बूते कंगारूओं ने अंग्रेजों को 5-0 से धो दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 18, 2016 2:02 pm

सबरंग