ताज़ा खबर
 

गोवा पर रोमांचक जीत से चेन्नईयिन बना चैंपियन

लक्ष्मीकांत कट्टिमनी के आत्मघाती गोल और कोलंबिया के स्टार स्ट्राइकर स्टीवन मेंडोजा के आखिरी क्षणों में किए गए निर्णायक गोल से चेन्नईयिन एफसी ने रविवार को यहां बेहद रोमांचक फाइनल में एफसी गोवा को 3-2 से हराकर इंडियन सुपर लीग फुटबाल टूर्नामेंट का खिताब जीता..
Author मडगांव | December 21, 2015 01:06 am
विजेता ट्रॉफी के साथ चेन्नईयिन एफसी के खिलाड़ी। (पीटीआई फोटो)

लक्ष्मीकांत कट्टिमनी के आत्मघाती गोल और कोलंबिया के स्टार स्ट्राइकर स्टीवन मेंडोजा के आखिरी क्षणों में किए गए निर्णायक गोल से चेन्नईयिन एफसी ने रविवार को यहां बेहद रोमांचक फाइनल में एफसी गोवा को 3-2 से हराकर इंडियन सुपर लीग फुटबाल टूर्नामेंट का खिताब जीता। इस बेहद उतार चढ़ाव वाले मैच में पहले हाफ में कोई गोल नहीं हुआ लेकिन दूसरे हाफ में पांच गोल किए गए। आखिरी क्षणों तक किसी भी टीम की जीत सुनिश्चित नहीं लग रही थी लेकिन ऐसे समय में अंतिम सीटी बजने से कुछ मिनट पहले गोवा के गोलकीपर लक्ष्मीकांत ने आत्मघाती गोल दाग दिया जिसके बाद मेंडोजा ने विजयी गोल करके चेन्नईयिन को पहली बार चैंपियन बना दिया।

चेन्नईयिन की तरफ से ब्रूनो पेलिसारी (54वें मिनट में पेनल्टी पर) और स्टीवन मेंडोजा (दूसरे हाफ के इंजुरी टाइम में) ने गोल किए। इसके अलावा लक्ष्मीकांत का आत्मघाती गोल भी उनके खाते में जुड़ा। एफसी गोवा के लिए थोंगकोसीम हाओकिप (58वें मिनट) और जोफ्रे (87वें मिनट) ने गोल दागे। पहला हाफ गोलरहित छूटने के बाद चेन्नईयिन ने दूसरे हाफ के शुरू में दबदबा बनाया। पेलिसारी ने दूसरे हाफ के छठे मिनट में ही बाक्स के बाहर से गोल पर करारा शाट लगाया लेकिन उनका निशाना सही नहीं लगा। इसके दो मिनट बाद एफसी गोवा के प्रणय हलदर ने मेंडोजा को बाक्स के अंदर गिरा दिया जिसके लिए रेफरी ने चेन्नईयिन को पेनल्टी दे दी।

गोवा के गोलकीपर लक्ष्मीकांत ने पेलिसारी का पहला शाट रोक दिया लेकिन वे गेंद पर पूरी तरह नियंत्रण नहीं रख पाए। गेंद उनके हथेली से लगकर वापस पेलिसारी के पास पहुंच गई जिन्होंने उसे जल्द से जल्द खाली पड़ी नेट में पहुंचाने में कोई गलती नहीं की। चेन्नईयिन के सह मालिक अभिषेक बच्चन सहित उनके प्रशंसक इस गोल से खुशी में झूमने लगे। एक गोल से पिछड़ने के बाद एफसी गोवा ने हमलावर तेवर अपनाए और उसे जल्द ही इसका फायदा मिला। खेल के 58वें मिनट में थोंगकोसीम हाओकिप को दाएं छोर से पास मिला और उन्होंने उस पर गोल करने में कोई गलती नहीं की।

चेन्नईयिन के पास हालांकि इसके एक मिनट बाद फिर से बढ़त हासिल करने का सुनहरा मौका था लेकिन मेंडोजा पेनल्टी को गोल में बदलने से चूक गए। मेंडोजा अपने कौशल का बेहतरीन नमूना पेश करके बाक्स के अंदर पहुंचे थे। गोलकीपर लक्ष्मीकांत ने उनका शाट रोकने के लिए डाइव लगाई लेकिन इस प्रयास में उन्होंने कोलंबियाई खिलाड़ी को नीचे गिरा दिया। चेन्नईयिन को पेनल्टी मिली और पहले अवसर पर पेलिसारी के चूकने के कारण मेंडोजा ने खुद गोल करने का जिम्मा उठाया। लक्ष्मीकांत ने हालांकि उनका शाट रोककर गोवा को अपनी गलती का खामियाजा नहीं भुगतने दिया।

आखिर के कुछ मिनटों में गोल वर्षा हुई। एफसी गोवा को जोफ्रे ने 87वें मिनट में बढ़त दिलाई। गोवा को बाक्स के ठीक बाहर फ्री किक मिली जिस पर जोफ्रे ने बाएं पांव से करारा शाट जमाकर गोल दाग दिया लेकिन इसके तुरंत बाद लक्ष्मीकांत ने वह गलती कर दी जिसके कारण गोवा को आखिर में खिताब गंवाना पड़ा। लक्ष्मीकांत के पास लंबा पास आया और वे उसे पकड़ने की कोशिश में अपने ही साथी खिलाड़ी से टकरा गए और गेंद जाली में चली गई। मेंडोजा ने ऐसे में इंजुरी टाइम में विजयी गोल दागकर चेन्नई को चैंपियन बनाया। उन्होंने बाएं छोर से एक खिलाड़ी को छकाकर गेंद को जाली में उलझाया और इसके बाद वे खुशी से झूमने लगे।

इससे पहले शुरू में दोनों ही टीमों ने आक्रामक रवैया अपनाया लेकिन एफसी गोवा को शुरू में ही तब झटका लगा जबकि डुडु खेल के नौवें मिनट में घायल हो गए और कोच जिको को उनकी जगह जोनाथन लुका को मैदान पर उतारना पड़ा। डुडु को अस्पताल ले जाना पड़ा। पहले हाफ के आखिरी क्षणों में दोनों टीमों की तरफ से गोल करने के कुछ अच्छा प्रयास किए गए। एफसी गोवा के राफेल कोल्हो खेल के 38वें मिनट में गोल करने के करीब पहुंच गए थे लेकिन उनका हेडर गोल लाइन पर चेन्नईयिन के डिफेंडर ने रोक दिया। इसके बाद चेन्नईयिन ने जवाबी हमला किया। स्टीवन मेंडोजा तेजी से गेंद को लेकर आगे बढ़े लेकिन उनका करारा शाट डिफ्लेक्ट होकर बाहर चला गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग
Indian Super League 2017 Points Table

Indian Super League 2017 Schedule