ताज़ा खबर
 

BCCI: टीवी की सामग्री में अश्लीलता से ज्यादा शिकायतें अपराध संबंधी मामलों की

मनोरंजन टीवी चैनलों के स्वनियामक प्राधिकरण के तौर पर काम करने वाले ब्रॉडकास्टिंग कंटेन्ट कंप्लेंट्स काउंसिल :बीसीसीसी: ने टेलीविजन देखने के चलन में बदलाव की ओर इशारा करते हुए ...
Author नई दिल्ली | October 17, 2015 08:48 am

मनोरंजन टीवी चैनलों के स्वनियामक प्राधिकरण के तौर पर काम करने वाले ब्रॉडकास्टिंग कंटेन्ट कंप्लेंट्स काउंसिल :बीसीसीसी: ने टेलीविजन देखने के चलन में बदलाव की ओर इशारा करते हुए आज कहा कि सेक्स, अश्लीलता और नग्नता से जुड़े मामलों से ज्यादा शिकायतें हानि और अपराध की श्रेणी में मिल रहीं हैं।

बीसीसीसी ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में आंकड़े जारी किये जिनके मुताबिक उसने शुरूआत से अब तक कुल 27676 शिकायतों पर ध्यान दिया है जिनमें 5262 विशेष शिकायतें हैं।

उसने कहा कि न्यायमूर्ति :सेवानिवृत्त: मधुप मुद्गल की अध्यक्षता वाली परिषद एक प्रणाली बनाने पर विचार कर रही है जिसके माध्यम से टीवी पर सामग्री से संबंधित शिकायतों को ट्विटर से भी दर्ज कराया जा सकता है।

बीसीसीसी के महासचिव आशीष सिन्हा ने एक बयान में कहा, ‘‘तीन जुलाई 2012 से 22 अगस्त 2015 तक की अवधि में 4545 विशेष शिकायतों में सर्वाधिक प्रतिशत हानि और अपराध श्रेणी की शिकायतों का रहा। इसके बाद 28 प्रतिशत शिकायतें धर्म और संप्रदाय से संबंधित विषयों की थीं।’’

बीसीसीसी के अधिकारियों के अनुसार हानि और अपराध :हार्म एंड आॅफेंस: थीम की शिकायतों में विकलांग लोगों को दिखाना, बाल विवाह, गाली गलौच या शोषण, महिलाओं की दकियानूसी छवि, पशुओं के साथ बुरा बर्ताव और जन भावनाओं को आहत करने वाली विषयवस्तु के प्रसारण शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि जनवरी 2012 में पेश की गयी पहली स्थिति रिपोर्ट में 47 प्रतिशत शिकायतें सेक्स, अश्लीलता और नग्नता से संबंधित विषयों की थीं और इस चलन में बदलाव देखा गया है। बीसीसीसी के अनुसार अब केवल आठ प्रतिशत शिकायतें इन विषयों की मिलती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. V
    Vikas
    Oct 17, 2015 at 1:09 pm
    सर, बीसीसीआई को हेडिंग और यूआरएल में बीसीसीसी कर दीजिए...
    (0)(0)
    Reply
    Indian Super League 2017 Points Table

    Indian Super League 2017 Schedule