December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

कोटला में कोहली के कमाल का इंतजार!

तीन मैचों की टैस्ट शृंखला में न्यूजीलैंड का सूपड़ा साफ करने और पांच मैचों की एकदिवसीय सीरीज में 1-0 से बढ़त लेकर भारतीय टीम दूसरे एकदिवसीय मैच में भी जीत के इरादे से गुरुवार को दिल्ली के फीरोजशाह कोटला मैदान पर उतरेगी।

Author नई दिल्ली | October 20, 2016 04:14 am

संदीप भूषण

तीन मैचों की टैस्ट शृंखला में न्यूजीलैंड का सूपड़ा साफ करने और पांच मैचों की एकदिवसीय सीरीज में 1-0 से बढ़त लेकर भारतीय टीम दूसरे एकदिवसीय मैच में भी जीत के इरादे से गुरुवार को दिल्ली के फीरोजशाह कोटला मैदान पर उतरेगी। भारतीय टीम का मनोबल चरम पर है। कोटला की पिच वैसे तो स्पिनरों के लिए काफी मददगार रही है लेकिन इस बार नजारा कुछ और हो सकता है। पिच क्यूरेटर दल के मुताबिक इस मैच में तेज गेंदबाजों के लिए भी काफी कुछ होगा। साथ ही ऐसे कयास लग रहे हैं कि मैच में बड़े स्कोर बन सकते हैं। दर्शकों को यहां विराट कोहली से भी बड़ी पारी की उम्मीद होगी। हालांकि न्यूजीलैंड भी इस मैच में धोनी सेना को पटखनी देकर सीरीज में वापसी करने के लिए बेताब है।

दरअसल कोटला मैदान कई मायने में भारतीय टीम के लिए यादगार रहा है। यह मुख्य कोच अनिल कुंबले के ‘परफेक्ट टेन’ का पराक्रम स्थल रहा है। साथ ही यहां भारत ने कई ऐतिहासिक जीत दर्ज की है। आंकड़े भी यही बयां करते हैं कि भारत ने पिछले 11 सालों में टैस्ट और वनडे मिलाकर कुल 13 मैचों में से 11 में जीत हासिल की है। टैस्ट में न्यूजीलैंड को धराशाई करने वाले आर अश्विन को स्पिनरों के माकूल माने जाने वाली दिल्ली की इस पिच पर गैरमौजूदगी अखरेगी। अश्विन को इस शृंखला के प्रथम तीन मैचों में आराम दिया गया है। अमित मिश्रा के रूप में भारत के पास स्पिन आक्रमण है लेकिन साथ ही तेज गेंदबाजों को भी अपनी धारदार गेंदबाजी का नमूना पेश करना होगा।

यदि पिच में उछाल रहती है तो उमेश यादव के साथ गेंदबाजी का आगाज करने वाले हार्दिक पंड्या अपनी गेंदबाजी से धर्मशाला की तरह केन विलियमसन और उनके साथियों को परेशान कर सकते हैं। जसप्रीत बुमराह किसी भी परिस्थिति में अच्छा प्रदर्शन करने में माहिर हैं जबकि स्पिनर अमित मिश्रा को हमेशा कोटला पसंद आया है। यदि पिच अपने पुराने मिजाज पर लौट आती है तो फिर अक्षर पटेल और केदार जाधव को बड़ी जिम्मेदारी निभानी पड़ेगी। धोनी की सेना में विरोधियों को धूल चटाने का दम रखने वालों में सबसे पहला नाम टैस्ट कप्तान विराट कोहली का आता है। टैस्ट में कोहली ने कुछ ज्यादा तो नहीं किया लेकिन अंतिम मैच में दोहरे शतक के साथ जोरदार पारी से उन्होंने साबित किया कि वे किसी भी फॉर्मेट में टीम का पलड़ा भारी कर सकते हैं। वैसे इन सब से इतर एकदिवसीय उनका पसंदीदा फॉर्मेट माना जाता है। न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले ही एकदिवसीय मैच में शानदार अर्धशतकीय पारी खेलने वाले कोहली पर इस मैच में भी विराट प्रदर्शन का दारोमदार होगा।

भारतीय रणबाकुरों में दूसरा नाम कप्तान धोनी का आता है। वनडे और टी-20 में लंबे विराम के बाद वे एक बार फिर अपना कमाल दिखाने के लिए तैयार हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले एकदिवसीय में फटाफट 21 रन की पारी खेलने वाले मिस्टर फिनिशर पर बड़ी पारी खेलने और भारत को इस सीरीज में 5-0 से जीत दिलाने का दारोमदार है। अश्विन की गैरमौजूदगी में अमित को बेहतर प्रदर्शन करना होगा। इस लिस्ट में चौथा नाम तेज गेंदबाज उमेश यादव का है। उमेश ने टैस्ट में उतनी प्रभावशाली गेंदबाजी नहीं की लेकिन नीली जर्सी और सफेद गेंद के साथ उमेश टीम के लिए काफी कुछ कर सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 20, 2016 4:14 am

सबरंग