December 03, 2016

ताज़ा खबर

 

इस साल नौकरी में इन दस स्किल्‍स वालों की रही सबसे ज्‍यादा डिमांड

इस स्टडी के आधार पर लिंक्डइन ने ऐसे 10 स्किल्स के बारे में बताया जिससे आप साल 2017 में नौकरी पा सकते हैं।

मार्केट में सबसे ज्यादा मांग डाटा और क्लाउड कंप्यूटिंग की है। इसके बाद सबसे ज्यादा मांग यूजर इंटरफेस डिजाइन की है।

अगर आप नौकरी ढूंढ़ रहे हैं या बदलने का मन बना रहे हैं तो यह जानना जरूरी है कि आपके एम्प्लॉयर को आप से क्या चाहिए। वो कौन सी खूबियां हैं जिनसे आप अपने एम्प्लॉयर को प्रभावित कर नौकरी हासिल कर सकते हैं। सोशल नेटवर्किंग साइट लिंक्डइन ने अपनी डाटा की स्टडी कर पता लगाया है कि साल 2016 में किन स्किल्स पर एम्पलॉयर का सबसे ज्यादा ध्यान रहता है। इस स्टडी के आधार पर लिंक्डइन ने ऐसे 10 स्किल्स के बारे में बताया जिससे आप साल 2017 में नौकरी पा सकते हैं। इन स्किल्स के आधार पर आप 14 देशों में नौकरी पा सकते हैं। लिंक्ड इन के करियर एक्सपर्ट कैथरीन फिशर ने बताया कि जनवरी तक कंपनियों में हायरिंग की प्रक्रिया धीमी रहती है। कैथरीन ने कि हर दो साल में कुछ स्किल्स की महत्ता खत्म हो जाती है पर कुछ टेक्निकल स्किल्स की जरूरत अभी लंबे समय तक रहेगी चाहे वह कोई भी कंपनी या कोई भी सेक्टर हो। लिंक्डइन डाटा के मुताबिक दुनिया भर की मार्केट में इन स्किल्स की सबसे ज्यादा मांग है-

क्लाउड एंड डिस्ट्रीब्यूशन कम्प्यूटिंग
एनालिसिस एंड डाटा माइनिंग
वेब आर्किटेक्चर एंड डवलपमेंट फ्रेमवर्क
मिडिलवेयर एंड इंटिग्रेशन सॉफ्टवेयर
यूजर इंटरफेस डिजाइन
नेटवर्क एंड इंफॉर्मेशन सिक्योरिटी
मोबाइल डवलपमेंट
डाटा प्रजेंटेशन
SEO/SEM मार्केटिंग
स्टोरेज सिस्टम एंड मैनेजमेंट

वीडियो: लोकल ट्रेन में RPF जवानों और गुंडों के बीच हुई हाथापाई; सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल


लिंक्डइन पर अपने एक पोस्ट में फिशर ने कहा कि वैश्विक बाजार में मार्केटर्स की मांग अब घटने लगी है। साल 2015 में मार्केटर्स की मांग काफी ज्यादा थी। अब मार्केट में सबसे ज्यादा मांग डाटा और क्लाउड कंप्यूटिंग की है। इसके बाद सबसे ज्यादा मांग यूजर इंटरफेस डिजाइन की है। इन दस स्किल्स की डिमांड दुनिया के 14 देशों में सबसे ज्यादा है।

Read Also: अगर नौकरी को लेकर हैं परेशान? देश के इन शहरों में है जॉब के सबसे ज्यादा अवसर

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 7, 2016 1:39 pm

सबरंग