ताज़ा खबर
 

महिलाओं का ‘खतना’ पुरुषों के लिए भी होता है अभिशाप ?

पुरुष खतना के बारे में तो आप जानते ही होंगे। उसी तरह महिलाओं में भी खतना की प्रथा काफी समय से आज भी चली आ रही है। दाऊदी बोहरा मुस्लिम समुदाय में पांच से आठ साल की बच्चियों...

समाज में रिवाज और प्रथाएं बहुत मायने रखती हैं, कुछ तो ऐसी भी प्रथाएं हैं जिनके होने की वजह भी लोगों को मालूम नहीं होती और कुछ ऐसी भी हैं जिनके नाम पर अमानवीयता का चेहरा आये दिन सामने आता रहता है। आज हम ऐसी ही एक प्रथा के बारे में बता रहे हैं जो आपको भी हैरान कर देगी वो है महिलाओं का ‘खतना’। ये प्रथा भी उन प्रथाओँ में से एक है जो आज के समय में देश के कानून को ठेंगा दिखा देती हैं।

पुरुष खतना के बारे में तो आप जानते ही होंगे। उसी तरह महिलाओं में भी खतना की प्रथा काफी समय से आज भी चली आ रही है। दाऊदी बोहरा मुस्लिम समुदाय में पांच से आठ साल की बच्चियों के गुप्तागों की सुन्नत की ये प्रथा किसी अभिशाप से कम नहीं है। पांच से आठ साल की बच्चियों के हाथ-पैर पकड़कर कुछ औरतें उनके गुप्तांग का हिस्सा (क्लाइटोरल हुड) काट देती हैं। अफ्रिकी देशों में महिलाओं का ये रिवाज भारत के कुछ हिस्सों में भी है। जबकि अफ्रिका महाद्वीप के मिस्र, केन्या, यूगांडा, इरीट्रिया जैसे दर्जनों देशों में ये परंपरा सदियों से यूं ही चली आ रही है।

महिला खतना में जो अंग छीलकर शरीर से अलग कर दिया जाता है। ये वही अंग है जो लड़कियों के पीरियड्स और बच्चे को जन्म देते समय होने वाले दर्द को कम करने में मदद करता है। इस खतना के बाद बच्चियां कई महीनों तक दर्द में रहती हैं। इस प्रक्रिया के बाद उनके जननांगों में इनफेक्शन और यहां तक की उस इनफेक्शन की वजह से उनकी मौत तक हो जाती है। ऐसा माना जाता है कि इस खतना की वजह से शादी के बाद भी पति से सेक्स संबंध बनाने में लड़की की रूचि कम हो जाती है, क्योंकि संबंध बनाने के दौरान उसे काफी दर्द होता है और आंनद भी खत्म हो जाता है।

किसी मेडिकल सुविधा के बिना जननांगो के ऊपरी भाग से छेड़छाड़ या हटाना ही खतना कहलाया जाता है। ये एक घुंड़ी भाग होता है जिसका काम ठीक वैसा ही होता है जैसा कि पुरुष जननांग की बढ़ी हुई चमड़ी का होता है। इसकी वजह से सेक्स का मजा दोगुना होता है। बता दें कि खतना कई तरह से किया जाता है, कुछ लोगों का पूरा क्लाइटोरल हुड काट दिया जाता है और कुछ का चुना हुआ हिस्सा।

इस खतना प्रथा के बारे में रोमन साम्राज्य और मिस्र की प्राचीन सभ्याताओं में मिलता है। मिस्र में फिरऑन के काल से ही इसका प्रचलन माना जाता है। वहां के सग्रहालयों में ऐसे अवशेष हैं जो इस प्रथा की सत्यता को साबित करते हैं।

हाल ही में महिला खतना को लेकर एक मामले में अमेरिका की रहने वालीं 34 साल की अलेफिया का है जिनका खतना न्यूयॉर्क में उनकी दादी की बहन ने किया था। जब उन्होंने विरोध किया तो उन्हें बुजुर्ग महिलाओं ने कहा कि यह हरम की बोटी है, जिसे काटा जाना चाहिए क्योंकि इसकी वजह से औरत ‘भटक’ सकती है। अलेफिया कहती हैं, “यह भयानक और घिनौना है कि जो भावनाएं पूरी तरह कुदरती होती हैं उन्हें लेकर आपको घिनौना महसूस कराया जाता है। सेक्स को लेकर हमारे दिमाग में अपराध बोध भरा जाता है। मैं अपनी मां पर गुस्सा नहीं हूं। मैं तो उन मर्दों पर गुस्सा हूं जिन्होंने ये नियम बनाए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग